किडनी, हार्ट, कैंसर रोग से ग्रस्त हैं तो यहां करें आवेदन, मुफ्त में होगा इलाज

सदर अस्पताल में गरीब मरीजों का मुफ्त इलाज होता है।

अगर आप गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं और आपके पास इलाज कराने को पैसा नहीं है तो सिविल सर्जन कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं। मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना के तहत पांच लाख रुपये तक की मदद मिलती है।

Jitendra SinghSat, 28 Nov 2020 03:57 PM (IST)

 जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : अगर आप गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं और इलाज कराने को पैसा नहीं है तो सिविल सर्जन कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना के तहत पांच लाख रुपये तक की मदद मिलती है। एक दिसंबर को इसे लेकर परसुडीह स्थिति सिविल सर्जन कार्यालय में एक बैठक आयोजित की गई है। पहले यह बैठक 30 दिसंबर को प्रस्तावित था लेकिन राजकीय अवकाश होने के कारण उस तिथि को टाल दिया गया है।

मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना के तहत शहर के सभी बड़े अस्पताल जैसे टाटा मुख्य अस्पताल (टीएमएच), मेहरबाई कैंसर अस्पताल, गंगा मेमोरियल हॉस्पिटल सहित अन्य टाइअप है।

वहीं देश के विभिन्न राज्यों के बड़े अस्पताल भी इस योजना से जुड़ा हुआ है। इसमें एम्स, चंडीगढ़ स्थित पीजीआइ, भुवनेश्वर स्थित अपोलो हॉस्पिटल, हैदराबाद स्थित अपोलो हॉस्पिटल, पटना का महावीर कैंसर संस्थान, कोलकाता का फोर्टिस अस्पताल सहित अन्य शामिल है।

इस योजना का लाभ वैसे लोग उठा सकते हैं जिनकी वार्षिक आमदनी अधिकतम 72 हजार रुपये है या बीपीएल कार्डधारी है। पूर्वी सिंहभूम जिले में अबतक पांच हजार से अधिक लोग इसका लाभ उठा चुके हैं।

 

85 तरह की बीमारी का इलाज संभव

मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना के तहत 85 तरह की बीमारी संभव है। इसमें लीवर सिरोसिस, लीवर ट्रांसप्लांट, सभी प्रकार के कैंसर, प्लास्टिक सर्जरी, ब्रेन ट्यूमर, सीरियस हेड इंज्यूरी, हृदय से जुड़े रोग, किडनी सहित अन्य गंभीर बीमारी शामिल हैं। इसके अलावे जिनके पास आयुष्मान कार्ड है वे भी शहर के अस्पतालों में मुफ्त में इलाज करा सकते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.