Health Tips: कोरोना ठीक होने के बाद हो रही ये परेशानी तो फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. गौतम भारती से लें सलाह, ये रहा नंबर

डॉ. गौतम भारती, फिजियोथेरेपिस्ट, जीवन ज्योति फिजियोथेरेपी सेंटर।

Health Tips. कोरोना मरीजों को ठीक होने के बाद भी कई तरह की परेशानी आ रही है। जोड़ों का दर्द कमजोरी मांसपेशियों का काम नहीं करना सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत आ रही है। पूछें सवाल डॉ. गौतम भारती फिजियोथेरेपिस्ट जीवन ज्योति फिजियोथेरेपी सेंटर से।

Rakesh RanjanMon, 12 Apr 2021 10:28 AM (IST)

जमशेदपुर, जेएनएन। कोरोना कहर बरपा रहा है। मरीजों को ठीक होने के बाद भी कई तरह की परेशानी सामने आ रही है। इसमें जोड़ों का दर्द, कमजोरी, मांसपेशियों का काम नहीं करना, सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत आ रही है। अगर वे लोग फिजियोथेरेपी की साधारण कसरतें जैसे लंबी गहरी सांसे श्वसनमापी की मदद से लें तो इन तकलीफों से बाहर निकल सकते हैं। ऐसे मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। फिजियोथेरेपी में कई ऐसे उपकरण मौजूद है, जिसकी मदद से मरीज ठीक होकर वापस लौट रहें है। इस संदर्भ में अधिक जानकारी के लिए आप पूछें सवाल डॉ. गौतम भारती, फिजियोथेरेपिस्ट, जीवन ज्योति फिजियोथेरेपी सेंटर से।

  समय : 2 से 3 बजे।   मोबाइल नंबर : 8789915652

नौ हजार 590 लोगों ने ली कोरोना वैक्सीन की पहली डोज

पूर्वी सिंहभूम जिले में वैक्सीन लेने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। वैक्सीन सेंटरों पर भीड़ उमड़ रही है। शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भी वैक्सीन लेने पहुंच रहे हैं। रविवार को कुल नौ हजार 590 लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली। वहीं, 262 लोगों को दूसरी डोज दी गई। सबसे अधिक शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कुल एक हजार 911 लोगों को वैक्सीन दी गई। वहीं, जुगसलाई स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत कुल एक हजार 659 लोगों को वैक्सीन दी गई। जिले में अभी तक 13 लाख नौ हजार 93 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गई है। वहीं, 22 हजार 87 लोगों को दूसरी डोज दी गई है। वैक्सीन लेने में पुरुषों की संख्या अधिक है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.