दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

साइलेंट किलर है हाई ब्लड प्रेशर, भूल से भी नहीं करें नजरअंदाज

साइलेंट किलर है हाई ब्लड प्रेशर, भूल से भी नहीं करें नजरअंदाज

गलत खानपान व गलत आदतों के कारण उच्च रक्तचाप की समस्या लोगों को होने लगती है। लोगों में उच्च रक्तचाप के प्रति जागरूकता फैलने के लिए उच्च रक्तचाप दिवस मनाया जाता है। उच्च रक्तचाप एक ऐसी बीमारी है जिसे रोका जा सकता है।

Jitendra SinghMon, 17 May 2021 06:00 AM (IST)

जमशेदपुर : गलत खानपान व गलत आदतों के कारण उच्च रक्तचाप की समस्या लोगों को होने लगती है। लोगों में उच्च रक्तचाप के प्रति जागरूकता फैलने के लिए उच्च रक्तचाप दिवस मनाया जाता है। उच्च रक्तचाप एक ऐसी बीमारी है जिसे रोका जा सकता है। लेकिन यह दुनियाभर में मृत्यु की एक बड़ी वजह बनी हुई है।

कोरोना संक्रमण काल में रक्तचाप के मरीजों को सबसे ज्यादा संक्रमण का खतरा है। वहीं, मौत होने वाले मृतकों में सबसे अधिक ब्लड प्रेशर के शिकार मिले हैं। जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, कोरोना से होने वाली मौत में लगभग 50 फीसद उच्च रक्तचाप के भी शिकार थे। इसके अतिरिक्त अन्य कई बीमारियों की जड़ भी रक्तचाप ही है। ऐसे में लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। उच्च रक्तचाप को नियंत्रण में रखना आवश्यक है।

दवा नहीं छोड़े, योग भी करते रहे

उच्च रक्तचाप के रोगी दवा नहीं छोड़े। डॉक्टर से लगातार संपर्क में रहे। इसके साथ ही योग भी करते रहे। इससे उच्च रक्तचाप नियंत्रण में रहेगा और लोगों को परेशानी नहीं होगी। उच्च रक्तचाप बढ़ने से उसका असर दिमाग, हृदय और फेफड़े में खून जमने का खतरा बना रहता है। ऐसी स्थिति में मरीज की जान भी जा सकती है। कोरोना मरीजों में उच्च रक्तचाप फेफड़ा के साथ-साथ हृदय, किडनी व दिमाग पर भी दबाव बढ़ा रहा है, जिसके कारण मौत भी हो रही है। उच्च रक्तचाप को नियंत्रित कर के शरीर में रक्त के संचार को सामान्य किया जा सकता है।

उच्च रक्तचाप के रोगी बरते सावधानी

 दवा का नियमित सेवन और समय पर करें। ऐसे लोगों को कोरोना होने का खतरा अधिक रहता है, इसलिए खुद पर विशेष ध्यान दे। कोरोना के लक्षण महसूस होने पर उसे नजरअंदाज नहीं करें। ऐसे लोगों को कोरोना वैक्सीन लेने में देरी नहीं करनी चाहिए। उच्च रक्तचाप के साथ-साथ अन्य रोग से भी ग्रस्त हैं तो बाहर कम से कम निकले। कोशिश करें कि घर में ही रहें। घर में भी मास्क पहनकर रहें। कॉटन के मास्क की जगह थ्री लेयर वाले मास्क का ही इस्तेमाल करें। नियमित योग व व्यायाम अवश्य करें।

क्या कहते हैं चिकित्सक

भागदौड़ की जिंदगी में उच्च रक्तचाप के रोगी बढ़ रहे हैं लेकिन, वैसे लोगों को सावधान होने की जरूरत है। उच्च रक्तचाप को नियंत्रण में रखना अनिवार्य है। अन्यथा वह शरीर के दूसरे अंगों को भी नुकसान पहुंचाता है। कोरोना मरीजों में उच्च रक्तचाप की समस्या सबसे अधिक देखी जा रही है। - डॉ. बलराम झा, फिजिशियन, एमजीएम।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.