Covid vaccine important information : कोरोना वैक्सीन से जुड़े आपके सभी सवालों का जवाब यहां है, जानिए

कोरोना वैक्सीन से जुड़ेे आपके सभी सवालों का जवाब यहां है।

विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शनिवार से शुरू हो गया। लेकिन कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में कई सवाल है। अगर आपको भी इस वैक्सीन को लेकर कुछ आशंकाएं है तो सभी सवालों का जवाब यहां है।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 04:49 PM (IST) Author: Jitendra Singh

जमशेदपुर, जासं। विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शनिवार से शुरू हो गया। कोरोना वैक्सीन को लेकर जमशेदपुर के फ्रंटलाइन वर्कर्स में काफी उत्साह देखा जा रहा है। कई सफाईकर्मी तो वैक्सीन लगाने के बाद भी काम पर जुट गए। लेकिन कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में कई सवाल है। अगर आपको भी इस वैक्सीन को लेकर कुछ आशंकाएं है तो सभी सवालों का जवाब यहां है।

आपके सवाल और जवाब

प्रश्न ः कोरोना वैक्सीन पहले किसे दी जाएगी।

उत्तर-कोरोना वैक्सीन सबसे पहले उच्च जोखिम वाले समूहों को दी जाएगी।

-पहले समूह में हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर शामिल हैं

-दूसरे समूह में 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति तथा वे लोग जो पहले से ही किसी रोग से ग्रसित हैं।

-इसके बाद वैक्सीन को अन्य सभी ज़रुरतमंदों को उपलब्ध कराय

प्रश्न -क्या यह वैक्सीन सुरक्षित होगी क्योंकि इसे बहुत कम समय में बनाया गया है?

उत्तर -सुरक्षा और प्रभाव के डेटा की जांच के आधार पर मंजूरी के बाद ही नियामक निकायों द्वारा वैक्सीन लगाई जाएगी

प्रश्न -क्या वैक्सीन लेना अनिवार्य है?

उत्तर-कोरोना के लिए वैक्सीनेशन स्वैच्छिक है। हालांकि स्वयं की सुरक्षा और बीमारी के प्रसार को सीमित करने के लिए कोरोना वैक्सीन की पूरी खुराक आवश्यक है

प्रश्न ः क्या यह वैक्सीन सुरक्षित होगी क्योंकि इसे बहुत कम समय में बनाया गया है?

उत्तर -सुरक्षा और प्रभाव के डेटा की जांच के आधार पर मंजूरी के बाद ही नियामक निकायों द्वारा वैक्सीन लगाई जाएगी

प्रश्न- उपलब्ध कई वैक्सीन में से प्रशासन के लिए एक या एक से अधिक वैक्सीन कैसे चुने

उत्तर-लाइसेंस देने से पहले ड्रग नियामक द्वारा वैक्सीन उम्मीदवारों के नैदानिक परीक्षणों से सुरक्षा और प्रभावकारिता डेटा की जांच की जाती है। इसीलिए सभी लाइसेंस प्राप्त कोरोना वैक्सीन सुरक्षित और प्रभावकारी होंगे

प्रश्न -क्या भारत में कोरोना वैक्सीन को +2 से +8° C पर स्टोर करने और उन्हें आवश्यक तापमान पर परिवहन करने की क्षमता है?

उत्तर-भारत दुनिया के सबसे बड़े प्रतिरक्षीकरण कार्यक्रमों में से एक चलाता है, जो 2.6 करोड़ से अधिक नवजात शिशुओं और एक करोड़ से अधिक महिलाओं के वैक्सीनेशन की जरूरतों को पूरा करता है

प्रश्न- क्या भारत में इस्तेमाल किया जाने वाला वैक्सीन उतना ही प्रभावी होगा जितना दूसरे देशों में शुरू किया गया?

उत्तर-हां। भारत में शुरु की गयी कोरोना वैक्सीन उतनी ही प्रभावी होगी जितनी अन्य देशों द्वारा विकसित वैक्सीन, वैक्सीन परीक्षणों के विभिन्न चरणों में इसकी सुरक्षा और प्रभावकारिता सुनिश्चित करने के लिए की जाती है

प्रश्न-अगर मैं वैक्सीनेशन के लिए योग्य हूं तो मुझे पता कैसे चलेगा?

उत्तर-पात्र लाभार्थियों को उनके पंजीकृत मोबाइल नंबर के माध्यम से वैक्सीनेशन और उसके निर्धारित समय के बारे में स्वास्थ्य सेवाओं द्वारा सूचित किया जाएगा।

प्रश्न-पात्र लाभार्थी के पंजीकरण के लिए कौन से दस्तावेज आवश्यक है?

उत्तर-पंजीकरण के समय फोटो के साथ नीचे उल्लेखित पहचान पत्र में से कुछ भी दिखाई जा सकता है:वआधार/ड्राइविंग लाइसेंस/वोटर आईडी/पैन कार्ड/पासपोर्ट/जॉब कार्ड/पेंशन दस्तावेज। स्वास्थ्य मंत्रालय की योजना के तहत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कार्ड (मनरेगा)। सांसदों/विधायकों/एमएलसी को जारी किए गए आधिकारिक प्रमाण पत्र। बैंक/पोस्ट ऑफिस द्वारा जारी पासबुक। केंद्र/राज्य सरकार/पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा आईडी कार्ड।

प्रश्न ः क्या कोई निवारक उपाय और सावधानियां हैं जिसे स्थल पर पालन करने की आवश्यकता होगी?

उत्तर -कोरोना वैक्सीन लेने के बाद आपको कम से कम आधे घंटे तक वैक्सीनेशन केंद्र में आराम करना चाहिए

• यदि आपको बाद में कोई असुविधा या बेचैनी महसूस होती है, तो निकटतम स्वास्थ्य अधिकारियों/एएनएम/आशा को सूचित करें। जैसा कि अन्य वैक्सीन के साथ होता है कुछ व्यक्तियों में सामान्य दुष्प्रभाव, हल्का बुखार, दर्द आदि हो सकता है।

प्रश्न- यदि कोई कैंसर, मधुमेह, उच्च रक्तचाप आदि जैसी बीमारियों की दवा ले रहा है, तो क्या वह कोरोना वैक्सीन ले सकता है?

उत्तर-हाँ इनमें से एक या एक से अधिक स्वास्थ्य परिस्थितियों वाले व्यक्तियों को एक उच्च जोखिम वाली श्रेणी माना जाता है। उन्हें कोरोना वैक्सीनेशन कराने की आवश्यकता है।

प्रश्न- क्या हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स और फ्रंटलाइन श्रमिकों के परिवार को भी वैक्सीन दिया जाएगा?

उत्तर-प्रारंभिक चरण में सीमित वैक्सीन की आपूर्ति के कारण, इसे पहले प्राथमिकता वाले समूहों में लोगों को प्रदान किया जाएगा। बाद के चरणों में, वैक्सीन अन्य सभी को उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रश्न-वैक्सीन की कितनी खुराक किस अंतराल पर लेनी होगी?

उत्तर-वैक्सीनेशन पूरा करने के लिए 28 दिन के अंदर एक व्यक्ति द्वारा वैक्सीन की दो खुराक ली जानी चाहिए

प्रश्न-खुराक लेने के बाद एंटीबॉडी कब विकसित होगी?

उत्तर-कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक प्राप्त करने के दो सप्ताह बाद आमतौर पर एंटीबॉडी का सुरक्षात्मक स्तर विकसित होता है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.