15 दिनों के अंदर एचसीएल व सरकार सुलझाए सुरदा माइंस लीज नवीकरण का मामला

लीज नवीकरण नहीं होने के कारण बीते 1 अप्रैल 2020 से सुरदा माइंस में उत्पादन काम पूरी तरह ठप है। माइंस में काम बंद होने के कारण क्षेत्र के लगभग 15 सौ मजदूर बेरोजगार हो गए हैं। आर्थिक तंगी के कारण अब तक दर्जनों मजदूरों की मौत हो चुकी है।

JagranPublish:Fri, 03 Dec 2021 07:30 AM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 07:30 AM (IST)
15 दिनों के अंदर एचसीएल व सरकार सुलझाए सुरदा माइंस लीज नवीकरण का मामला
15 दिनों के अंदर एचसीएल व सरकार सुलझाए सुरदा माइंस लीज नवीकरण का मामला

संसू, मुसाबनी : लीज नवीकरण नहीं होने के कारण बीते 1 अप्रैल 2020 से सुरदा माइंस में उत्पादन काम पूरी तरह ठप है। माइंस में काम बंद होने के कारण क्षेत्र के लगभग 15 सौ मजदूर बेरोजगार हो गए हैं। आर्थिक तंगी के कारण अब तक दर्जनों मजदूरों की मौत हो चुकी है। बावजूद इसके एससीएल प्रबंधन एवं झारखंड सरकार लीज नवीकरण के प्रति संवेदनशील नहीं दिख रही है। सुरदा मौजा के ग्राम सभा के सदस्यों ने लीज नवीकरण की मांग को लेकर गुरुवार को दूसरे दिन भी सुविधा माइंस गेट पर प्रदर्शन किया। सुरदा माइंस में किसी तरह के काम को ग्राम सभा द्वारा नहीं होने दिया जा रहा है। जिसमें पानी निकासी सहित अन्य आवश्यक सेवाएं शामिल है। ग्राम सभा की मांग है कि 15 दिनों के अंदर एचसीएल एवं सरकार लीज नवीकरण मामले को नहीं सुलझाती है तो और जोरदार आंदोलन किया जाएगा।

सुरदा ग्राम में ग्राम प्रधान लखन टुडू, नायके भरत टुडू, ग्राम सचिव धानो मुर्मू, उप ग्राम प्रधान मिर्जा टुडू,उप मुखिया सुमी टुडू, वार्ड सदस्य फुलमनी टुडू, सामाजिक कार्यकर्ता सोमाय टुडू, सुना राम, दुलाल टुडू, धनंजय पातर एवं गणमान्य लोगों द्वारा लगातार लीज नवीकरण की मांग को लेकर आंदोलन चलाया जा रहा है। ग्राम सभा ने चेतावनी देते हुए कहा कि 15 दिनों के अंदर यदि सुरदा माइंस का लीज नवीकरण नहीं होता है तो लीज भूमि को रैयत को वापसी के लिए आंदोलन चलाया जाएगा। रैयत अपनी भूमि पर खेती करेंगे। दारीसाई पहुंचे प्लांडू अनुसंधान केंद्र के मुख्य वैज्ञानिक : भारतीय कृषि अनुसंधान के प्लांडू बागवानी अनुसंधान केंद्र के मुख्य वैज्ञानिक डॉ अरूण कुमार सिंह गुरुवार को दारीसाई केंद्र पहुंचे। केंद्र पहुंचने पर कृषि विज्ञान के वरीय वैज्ञानिक डॉ आरती बीना एक्का, डॉ भूषण प्रसाद, जी मार्डी ने डॉ अरूण कुमार सिंह को शाल एवं मोमेंटो भेंट कर सम्मानित किया। दारीसाई कृषि विज्ञान केंद्र में संचालित 15 दिवसीय खाद- बीज विक्रेता प्रशिक्षण कार्यक्रम में डॉ अरुण भाग लिए। प्रशिक्षण ले रहे विक्रेताओं से कई सवाल पूछे, खाद बीज लाइसेंस के बारे में प्रशिक्षार्थी को जानकारी दिया। बागवानी अनुसंधान केंद्र प्लांडू के हेड डॉ अरुण कुमार सिंह किसानो से बातचीत के दौरान प्रतिभागियों को मृदा एवं पोषक के बारे में जानकारी दिया।