आपने कभी बचपन में सिक्का निगला था कि नहीं, यदि आपके बच्चे ने ऐसा कर लिया तो क्या करेंगे, कभी सोचा है कि नहीं

कभी आपने बचपन में सिक्का निगला है या नहीं। अक्सर ऐसा होता है कि छोटे बच्चे कोई भी चीज को निगलने लगते हैं। कई बार ऐसी घटनाएं होती है कि बच्चे सिक्का तक निगल जाते हैं। ऐसे में कतई घबराना नहीं चाहिए। यह जानलेवा नहीं है।

Jitendra SinghWed, 28 Jul 2021 06:00 AM (IST)
आपने कभी बचपन में सिक्का निगला था कि नहीं

जमशेदपुर, जासं। ऐसे बहुत कम लोग होंगे, जिन्होंने अपने बचपन में सिक्का, बटन, रबर या कुछ अवांछित चीज ना निगली हो। उस वक्त हमें इसका अहसास भी नहीं हुआ होगा कि हमने कितना खतरनाक काम किया था, क्योंकि तब हम बच्चे थे। नासमझ थे। लेकिन अब सोचकर देखिए कि यदि अभी आपके बच्चे ने ऐसा कर लिया तो क्या करेंगे। अब तो कै-दस्त होने पर भी मां-बाप पसीने से तरबतर हो जाते हैं। सिक्का निगल लिया तो सिर पर आसमान ही उठा लेंगे।

पूरे धैर्य से लें काम, घबराएं नहीं

 

शहर के जाने-माने फिजिशियन डा. एमके सिंह बताते हैं कि ऐसी स्थिति में माता-पिता को बिल्कुल घबराना नहीं चाहिए। पूरे धैर्य के साथ इस बात का पता लगाना चाहिए कि बच्चे ने कौन सी चीज निगली है। धातु की कोई चीज है या रबर या प्लास्टिक की वस्तु है। हो सके तो गले में टॉर्च जलाकर देखें कि वह गले में ही अटका है या नीचे चला गया है। कठोर चीज यदि गले से अंदर चली गई है तो आंत में फंस सकती है। ऐसे में आपको तत्काल बच्चे को लेकर अस्पताल जाना चाहिए।

सिक्का निगलने से जान का खतरा नहीं

हालांकि घबराने वाली बात अब भी नहीं है, क्योंकि यदि बच्चे ने कोई जहरीली दवा या वस्तु नहीं निगली है तो जान का खतरा बहुत ज्यादा नहीं होता है। अस्पताल में डाक्टर उसे किसी न किसी उपाय से निकाल देंगे। जहरीली चीज निगल ली होगी, तो उसे दवा के माध्यम से निष्क्रिय बना दिया जाता है। इससे जान का खतरा टल जाता है। सिक्के जैसी कोई कठोर चीज निगली होगी तो उसे उल्टी कराकर निकाला जा सकता है। आंत में फंसी होगी तो सर्जरी करनी पड़ सकती है। घबराएं नहीं, तब भी जान का खतरा नहीं के बराबर होता है।

उल्टी कराना बेहतर उपाय

यदि आपके बच्चे ने कुछ भी निगल लिया है और आप जान गए हैं, तो उसे तत्काल उल्टी या कै कराने की कोशिश करें। इसमें पेट के बल बच्चे को करके पीठ और गर्दन पर थपकी देना भी बेहतर रहता है। इससे गले में फंसा वस्तु आसानी से निकल सकता है। यदि बच्चे ने कोई दवा आदि पी लिया हो तो उसे एक गिलास में पूरा नींबू निचोड़कर पिला दें, वह तत्काल उल्टी या वोमेटिंग कर देगा। डा. एमके सिंह कहते हैं कि यदि आप बच्चे को घर पर उल्टी नहीं करा सकते तो तत्काल डाक्टर के पास ले जाएं। यदि निगली गई वस्तु जहरीली नहीं है, तो डरने की कोई बात नहीं है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.