Mothers Day: जमशेदपुर के राजकमल ने अनोखे अंदाज में देश की सभी माताओं को किया सलाम

पूर्वी सिंहभूम जिले के टुइलाडुंगरी के रहनेवाले राजकमल जीत सिंह ।

Happy Mothers Day चाहे किसी भी धर्म में हो मां सभी के लिए पूजनीय होती है। मदर्स डे पर झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के टुइलाडुंगरी के रहनेवाले राजकमल जीत सिंह ने अनोखे अंदाज में देश की सभी मां को उनके योगदान के लिए सलाम किया है।

Rakesh RanjanSun, 09 May 2021 02:48 PM (IST)

जमशेदपुर, जासं। Mothers Day चाहे किसी भी धर्म में हो, मां सभी के लिए पूजनीय होती है। मदर्स डे पर झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के टुइलाडुंगरी के रहनेवाले राजकमल जीत सिंह ने अनोखे अंदाज में देश की सभी मां को उनके योगदान के लिए सलाम किया है।

राजकमल जीत सिंह फेमस है पगड़ी बांधने में। सिख समुदाय में हर किसी को दो या चार स्टाइल से पगड़ी बांधने आती है लेकिन राजकमल जीत सिंह 164 स्टाइल से पगड़ी बांध सकते हैं। उनकी इसी शैली के लिए ही लोग उन्हें टर्बनेटर की उपाधि दी है। पेशे से एक निजी कंपनी में एकाउंटेंट की जॉब करने वाले टर्बनेटर बताते हैं कि मदर्स डे पर उन्होंने 101 भाषाओं में पगड़ी पर मां लिखकर सभी मां को उनकी सेवा के लिए नमन किया है। टर्बनेटर बताते हैं कि वे इसके लिए सेकेंड वेव के बाद से जब से घर पर वर्क एट होम कर रहे हैं तभी से वे इसकी तैयारी कर रहे हैं। इसके अलावा राजकमल जीत सिंह युवाओं को नए-नए स्टाइल में पगड़ी पहनने के लिए ऑनलाइन क्लास भी देते हैं। साथ ही युवाओं को पगड़ी पहनने के लिए भी प्रेरित करते हैं। राजकमल जीत सिंह कहते हैं कि पगड़ी सिखों की शान है और युवा चाहे तो 164 में से किसी भी स्टाइल में पगड़ी पहनकर उन शान को धारण कर सकते हैं।

इन भाषाओं में लिखी है पगड़ी पर मां

पंजाबी, हिंदी, संस्कृत, अंग्रेजी, तमिल, तेलगू, मलयालम, असमी, पुर्तगीज, चाइनीज, आयरविड, कजाक, नेपाली, सिंधी, गुजराती, उड़िया, बंगला, अरबी, उर्दू, फ्रेंज, जर्मन सहित 101 भाषा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.