क्वारंटाइन सेंटर हो गए खाली और 72 घंटे में मरीज भी नहीं बढ़े

क्वारंटाइन सेंटर हो गए खाली और 72 घंटे में मरीज भी नहीं बढ़े
Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 09:32 PM (IST) Author: Jagran

जासं, जमशेदपुर : पूर्वी सिंहभूम जिले के लिए अच्छी खबर है। कोविड मरीजों के लिए बनाए गए सरकारी क्वारंटाइन सेंटर में अब एक भी मरीज नहीं हैं। सभी क्वारंटाइन सेंटर खाली हो गए हैं। जिले में लगभग एक हजार बेड के क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए थे। इसमें मुसाबनी स्थित कांस्टेबल ट्रेनिग सेंटर (सीटीसी) क्वारंटाइन सेंटर, गालूडीह स्थित कस्तूरबा आवासीय विद्यालय, कदमा स्थित प्रोफेशनल फ्लैट, सिदगोड़ा स्थित प्रोफेशनल कालेज और मानगो में पारडीह स्थित कौशल विकास केंद्र क्वारंटाइन सेंटर शामिल थे। वहीं, नौ प्रखंड में भी अलग से 10-10 बेड के क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए थे। इन सारे सेंटरों में अब एक भी मरीज नहीं हैं। इसके अलावा टिनप्लेट अस्पताल व जमशेदपुर आइ हास्पिटल भी खाली हो चुका है। यहां भी कोविड के मरीज नहीं हैं। सिर्फ कदमा स्थित डीलर्स होस्टल में संचालित कोविड केयर सेंटर में 15, डेडिकेटेड कोविड हास्पिटल के रूप में चिन्हित टाटा मुख्य अस्पताल (टीएमएच) में 68, महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 30 व टाटा मोटर्स हास्पिटल में 50 मरीज भर्ती हैं।

----------------

होम आइसोलेशन में 1024 मरीज, हास्पिटल में 163

जिले में कुल एक हजार 187 एक्टिव केस है। इसमें से 163 मरीज एमजीएम, टीएमएच, टाटा मोटर्स हास्पिटल व डीलर्स होस्टल में भर्ती है। बाकी 1024 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। इसमें 50 फीसद मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है, लेकिन उनका निर्धारित समय पूरा नहीं होने की वजह से उनको अभी भी एक्टिव केस में गिना जा रहा है। समय पूरा होने के बाद ही उनको एक्टिव केस से बाहर किया जाएगा। बिना लक्षण वाले मरीजों को 21 दिनों तक होम आइसोलेशन में रखा जाता है। वास्तविक रूप में 334 लोग ही पाजिटिव होकर होम आइसोलेशन में हैं। ------------------

दुर्गापूजा के 72 घंटे बाद आईं अच्छी खबर, नहीं बढ़ी कोरोना मरीजों की संख्या :

दुर्गापूजा विसर्जन के बाद अगला 72 घंटा महत्वपूर्ण माना जा रहा था। लेकिन पूर्वी सिंहभूम जिले के लिए अच्छी खबर है, जो न सिर्फ जिला प्रशासन बल्कि स्वास्थ्य विभाग व जिलेवासियों के लिए भी राहतभरी है। 72 घंटे में कोरोना मरीजों की संख्या में वृद्धि नहीं हुई। तीन दिन में कुल आठ हजार 726 लोगों की जांच की गई। इसमें 131 पाजिटिव मिले। अब अगले एक सप्ताह महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं। इसे लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग ने जांच की संख्या बढ़ा दी है।

---------------

अगले दस दिन में 29 हजार 500 लोगों की होगी जांच :

जिले में अगले दस दिन में कुल 29 हजार 500 लोगों की कोरोना जांच करने का लक्ष्य रखा गया है। यानी रोजाना दो हजार 950 लोगों की जांच होगी। इस अभियान की शुरूआत शनिवार से होगी। सभी प्रखंडों के लिए अलग-अलग लक्ष्य दिया गया है। जहां अभी तक अधिक मरीज मिले हैं उन प्रखंडों में जांच की संख्या दोगुनी करने के निर्देश दिए गए हैं। अभी तक सबसे अधिक शहरी क्षेत्रों में ही कोरोना के मरीज मिले हैं। इसे देखते हुए शहरी क्षेत्रों में सबसे अधिक सात हजार 600 लोगों की जांच का लक्ष्य तय किया है। वहीं किसी प्रखंड में 2800 तो किसी में 2500 लोगों की जांच की जाएगी।

------------------

एक सप्ताह में स्पष्ट हो जाएगा संक्रमण बढ़ा या नहीं :

जिला सर्विलांस पदाधिकारी डॉ. साहिर पाल ने बताया कि दुर्गापूजा विसर्जन जुलूस के 72 घंटे बाद मरीजों की संख्या नहीं बढ़ी है लेकिन, अगले एक सप्ताह के अंदर स्पष्ट हो जाएगा कि जिले में कोरोना का संक्रमण बढ़ा है या नहीं। बताते चलें कि जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के लाख प्रयास के बावजूद दुर्गापूजा के नवमी व दशमी को भीड़ बढ़ गई थी, जिससे पदाधिकारियों की चिता बढ़ी हुई है। इधर, दिल्ली सहित कई दूसरे प्रदेशों में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या भी चिता का विषय है।

------------------

72 घंटे के अंदर लोगों की हुई जांच

जांच तिथि - संख्या - पाजिटिव

27 अक्टूबर - 3647 - 48

28 अक्टूबर - 2766 - 27

29 अक्टूबर - 2313 - 61

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.