दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

सात सप्ताह के बाद आई अच्छी खबरः कोरोना पॉजिटिविटी रेट घटकर 35.95 पर पहुंचा, रिकवरी रेट 78.14 प्रतिशत

कोविड संक्रमण अभी अपने उच्चतम स्तर पर है ।

Coronavirus Update राहत की बात है कि कोविड 19 के सेकेंड वेब का प्रकोप बढ़ने के सात सप्ताह के बाद पॉजिटिविटी रेट बीते मंगवार के 48.93 प्रतिशत की तुलना में घटकर 35.95 पर पहुंच चुका है। वहीं रिकवरी रेट भी बढ़कर 78.14 प्रतिशत तक पहुंच चुका है।

Rakesh RanjanFri, 07 May 2021 06:47 PM (IST)

जमशेदपुर, जासं। लौहनगरवासियों के लिए राहत की बात कि कोविड 19 के सेकेंड वेब का प्रकोप बढ़ने के सात सप्ताह के बाद पॉजिटिविटी रेट बीते मंगवार के 48.93 प्रतिशत की तुलना में घटकर 35.95 पर पहुंच चुका है। वहीं, रिकवरी रेट भी बढ़कर 78.14 प्रतिशत तक पहुंच चुका है लेकिन मात्र तीन दिन में 66 शहरवासियों की मौत कोरोना वायरस संक्रमण से हुई है।

टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) के स्वास्थ्य सलाहकार डा. राजन चौधरी ने शुक्रवार शाम टेली कांफ्रेंस के माध्यम से यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोविड संक्रमण अभी अपने उच्चतम स्तर पर है और हम उम्मीद कर सकते हैं कि कुछ दिनों में संक्रमण का स्तर कम होगा। लेकिन पिछले तीन दिनों में 181 मरीज टीएमएच में भर्ती हुए हैं यानि हर दिन 60 मरीज। वहीं, कोविड से मरने वाले दो तिहाई मरीजों की उम्र 60 से 80 वर्ष के बीच और एक तिहाई मरीजों की उम्र 40 से 60 वर्ष के बीच है। इनमें से 90 प्रतिशत सहित 40 वर्ष से नीचे उम्र वाले मरीजों की मौत कोविड से हुई।

थर्ड वेब की युद्धस्तर पर चल रही है तैयारी

डा. चौधरी ने बताया कि हम थर्ड वेब की युद्धस्तर पर तैयारी कर रहे हैं। केरला समाजम सहित टाटा स्टील तीन-चार अन्य स्थानों में भी बेड की व्यवस्था कर रही है क्योंकि तीसरा वेब ज्यादा संक्रमित और घातक होगा इसलिए समय रहते हम मूलभूत संरचना तैयार कर रहे हैं। इसके लिए हमें केंद्र व राज्य सरकार से भी आदेश मिला है। हम संबधित स्थानों में ऑक्सीजन, दवा, डाक्टर व पारा मेडिकल स्टाफ की व्यवस्था पर काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि 30 बेड के अस्पताल में कम से कम तीन से चार डाक्टरों की जरूरत पड़ती है। यदि अस्पताल छोटे होंगे तो संसाधन ज्यादा खर्च होंगे। इसलिए हम कोविड अस्पताल के लिए मूलभूत सुविधाएं तो तैयार कर देंगे लेकिन डाक्टर, नर्स व पारा मेडिकल स्टाफ कहां से लाएंगे। अस्पताल चलाने के लिए यह बड़ी चुनौती है। वहीं, डा. चौधरी ने बताया कि आईसीएमआर के निर्देश काफी स्पष्ट हो चुका है कि पहले से 10 वें दिन में मरीज का किस तरह से इलाज करना है। जो मरीज 10 दिन होम आइसोलेशन में हैं और बीते तीन दिनों तक बुखार नहीं आया है वे भी बिना जांच किए ड्यूटी ज्वाइंन कर सकते हैं।

भीड़-भाड़ में जाने पर ही डबल मास्क की जरूरत

टीएमएच के स्वास्थ्य सलाहकार ने बताया कि भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर ही जाने पर डबल मास्क पहनने की जरूरत है। नहीं तो एन-95, सर्जिकल मास्क के ऊपर दूसरे मास्क की जरूरत नहीं है। इसके अलावा भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने पर कपड़ा वाला दो डबल लेयर मास्क पहनना उचित होगा। क्योंकि सेकेंड वेब का संक्रमण वातावरण में फैला हुआ है। दो मास्क पहनने से यह हमारी श्वास नली तक महामारी को नहीं पहुंचने देगा। इसलिए भीड़-भाड़ में जाने से बचे और तीन फीट की दूरी बनाए रखें।

टीएमएच बना सरकारी कोविड वैक्सीन सेंटर

टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) के स्वास्थ्य सलाहकार डा. राजन चौधरी ।

डा. चौधरी ने बताया कि टीएमएच को सरकारी कोविड वैक्सीन बना दिया गया है। जहां 45 वर्ष से अधिक उम्र वालों को निशुल्क वैक्सीन दिए जा रहे हैं। लेकिन इसके लिए पहले कोविन पर खुद काे रजिस्टर्ड कराना होगा। बीते गुरुवार को 83 शहरवासियों को वैक्सीन दिया गया। इसके लिए सरकार की ओर से हमें वैक्सीन मिल रहे हैं लेकिन संसाधन हमारे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.