टाटा मोटर्स के अस्थायी कर्मियों को कोरोना काल तक वेतन दिलाने की कवायद Jamshedpur News

टाटा मोटर्स के अस्थायी कर्मियों को कोरोना काल तक वेतन दिलाने की कवायद Jamshedpur News

कोरोना काल में काम से बैठाए गए टाटा मोटर्स के अस्‍थायी कर्मचारियों को वेतन दिलाने की कवायद शुरू हो गई है। इसके लिए इंटक जिलाध्‍यक्ष आगे आए हैं।

Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 09:12 AM (IST) Author: Rakesh Ranjan

जमशेदपुर, जासं। Tata Motors टाटा मोटर्स में चार हजार से ज्यादा अस्थायी कर्मचारी हैं। कोरोना काल में इन्हें लगातार तीन महीने तक वेतन के रूप में 12-12 हजार रुपए मिले, लेकिन इधर दो माह से इन्हें वेतन नहीं मिल रहा है। इनकी रोजी-रोटी पर आफत आ गई है। ऐसे में इंटक के जिला अध्यक्ष अजय ओझा ने इन कर्मचारियों को वेतन दिलाने की कवायद तेज कर दी है। 

इसी क्रम में अजय ओझा के नेतृत्व में टाटा मोटर्स प्लांट हेड के नाम एक पत्र सौंपा गया। पत्र में कंपनी के अस्थाई कर्मी जिन्हें काम से बैठाया गया है उनलोगों को काम पर बुलाने, उन्हें कोरोना काल तक वेतन देने , कंपनी ने जो नोटिफिकेशन 55 वर्ष से अधिक उम्र के कर्मचारियों के लिए लागू  है वह नियम सिर्फ कर्मचारी पर ही लागू नहीं कर बड़े पदाधिकारी पर भी लागू करने, कंपनी के अंतर्गत जो भी सफाई कर्मी हैं उन सभी को प्राथमिकता के आधार पर काम पर रखने व सुरक्षा तथा कोरोना योद्धा के रूप में एक सम्मानजनक राशि देने, ठेका मजदूरों को रोटेशन के आधार पर काम देने की मांग की गई है। ज्ञापन सौंपने वालों में मुख्यरूप से राजेंद्र राव, हरेंद्र मिश्रा, संजय कुमार, मिठू अग्रवाल आदि शामिल थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.