Jubilee Park Jamshedpur: कांग्रेस नेता व पूर्व सांसद डा. अजय कुमार पहुंचे जुबिली पार्क, कहा-पार्क पहले की तरह नहीं खुला तो होगा जन आंदोलन

Jubilee Park Jamshedpur Issues जमशेदपुर के जुबिली पार्क खोलने के मामले में कांग्रेस नेता व पूर्व सासंद अजय कुमार ने भी दखल दे दी है। समर्थकों संग पार्क पहुंचे डाॅक्टर अजय ने कहा कि पार्क पहले की तरह नहीं खुला तो जन आंदोलन होगा।

Rakesh RanjanSat, 11 Sep 2021 11:21 AM (IST)
जुबिली पार्क में मार्निग वाकर्स से मिलते डाॅक्टर अजय कुमार।

जमशेदपुर, जासं। कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यसमिति के स्थायी आमंत्रित सदस्य व जमशेदपुर के पूर्व सांसद डा. अजय शनिवार को जुबिली पार्क पहुंचे। मार्निंग वाकर्स से मिले और कहा कि जुबिली पार्क पूर्व की भांति नहीं खुला तो जन आंदोलन किया जाएगा। डा. अजय ने कहा कि टाटा स्टील तो सरकार की जमीन पर बसी हुई है, तो यह उस सड़क को कैसे बंद कर सकती है, जो पार्क बनने के पहले से मौजूद थी।

डा. अजय ने ‘चलो जुबिली पार्क-खोलो जुबिली पार्क' का नारा दिया। उन्होंने कहा कि कंपनी ने किसके आदेश से पार्क का मेन गेट कैसे बंद रखा है, जबकि झारखंड सरकार ने एक जुलाई को ही पार्क खोलने का आदेश जारी कर दिया था। इसके बावजूद कंपनी ने 15 जुलाई को काफी दबाव के बाद पार्क खोला, वह भी मार्निंग वाकर्स के लिए सुबह सात से नौ बजे तक। उन्होंने पहले भी जुबिली पार्क को फिर से खोलने के लिए टाटा स्टील यूटीलिटीज इंफ्रास्ट्रक्चर एंड सर्विसेज लिमिटेड (टाटा स्टील यूआइएस) से अनुरोध किया था। गुरुवार को उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इस मामले में हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया था। डा. अजय ने कहा कि जुबिली पार्क शहर का दिल रहा है। जमशेदपुर के लोग इससे काफी जुड़े हुए हैं। वह इस खूबसूरत बागीचे को जमशेदपुर के लोगों के लिए खोलने की पूरी कोशिश करेंगे।

पार्क का मेन गेट अब भी बंद

जुबिली पार्क कोरोना की वजह से 23 मार्च 2020 को बंद कर दिया गया था। इसके बाद 15 जुलाई को पार्क खुला, लेकिन पार्क में आईकार्ड दिखाकर प्रवेश करने दिया जा रहा था। इसी बीच 13 अगस्त को जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय पार्क भ्रमण पर गए, तो यह बात सामने आई कि टाटा स्टील यूटीलिटीज इंफ्रास्ट्रक्चर एंड सर्विसेज लिमिटेड (टाटा स्टील यूआइएस, पूर्व नाम जुस्को) ने पार्क की मुख्य सड़क कुछ दूर तक खोद दी है और इसे पार्क में मिलाया जा रहा है। खोदी गई सड़क पर घास-मिट्टी बिछा दी गई थी। इसके बाद से शहर में यह मुद्दा गरमा गया कि आखिर जुस्को ऐसा कैसे कर सकता है। पार्क का मेन गेट भी नहीं खोला गया है। उससे भी बड़ी बात यह है कि पार्क से होकर गुजरने वाली सड़क साकची से कदमा-सोनारी व नार्दर्न टाउन इलाके की ओर जाने के लिए आसान रास्ता था। अब इन्हें डेढ़ से दो किलोमीटर तक घूम कर जाना पड़ रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.