ऐसी भीड़ से कहीं कोरोना न पहुंच जाए आपके द्वार

कोरोना के नए वैरिएंट अमिक्रोन के दस्तक से स्वास्थ्य महकमा की चिताएं बढ़ गई है। ऐसे में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के प्रति बरती जा रहीं लापरवाही कहीं स्थिति ज्यादा ही चिताजनक न बना दे। कुछ दिन पहले ही देश व विश्व कोरोना के भयंकर प्रकोप वाले दौर को झेल चुका है।

JagranPublish:Sat, 04 Dec 2021 08:00 AM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 08:00 AM (IST)
ऐसी भीड़ से कहीं कोरोना न पहुंच जाए आपके द्वार
ऐसी भीड़ से कहीं कोरोना न पहुंच जाए आपके द्वार

संवाद सहयोगी, घाटशिला : कोरोना के नए वैरिएंट अमिक्रोन के दस्तक से स्वास्थ्य महकमा की चिताएं बढ़ गई है। ऐसे में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के प्रति बरती जा रहीं लापरवाही कहीं स्थिति ज्यादा ही चिताजनक न बना दे। कुछ दिन पहले ही देश व विश्व कोरोना के भयंकर प्रकोप वाले दौर को झेल चुका है। ऐसे में नए वैरिएंट से फिर उसी संकट का खतरा बढ़ सकता है। लोगों तथा प्रशासन की लापरवाही इस खतरे के संभावना को और अधिक बढ़ा रहीं है। ऐसे में यह लापरवाही भारी पड़ सकती है। आजकल कोरोना पर लोग बेपरवाह दिख रहे है। वर्तमान समय में आपकी अधिकार, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम के तहत शिविर लगाया जा रहा है। इन शिविरों में भीड़ उत्पन्न हो रहीं है। खासकर शिविरों में बुजुर्ग महिला-पुरुष पहुंच रहे है। लेकिन इन शिविरों में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन होता नहीं दिख रहा है। यहां तक कि अधिकारी व जनप्रतिनिधि भी नियमों की अनदेखी करते नजर आ रहे है। शुक्रवार को प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित धरमबहाल पंचायत भवन में शिविर लगा था। शिविर में कई विभागों के स्टॉल लगे थे। पेंशन स्वीकृति पत्र समेत अन्य स्वीकृति पत्र के लिए बुजुर्गों की भीड़ उमड़ी थी। लेकिन शिविर में अधिकांश लोग मास्क नही पहने नजर आए। यहां तक कि शारीरिक दूरी का अनुपालन होता भी नहीं दिखा। प्रशासनिक अधिकारी भी इस चिता से बेफिक्र दिखे। जबकि स्वास्थ्य विभाग नए वैरिएंट को लेकर पहले से ही अलर्ट कर रहा है। बावजूद घाटशिला में प्रशासनिक अधिकारी व जनप्रतिनिधि इसपर गंभीर नहीं दिख रहे है। शिविरों में ऐसी लापरवाही कहीं आगे भविष्य में चिताएं न बढ़ा दे। स्टेशन व बस स्टैंडों में नहीं हो रहा सैंपल जांच : कोरोना के नए वैरिएंट के खतरे के बावजूद घाटशिला में कोरोना सैम्पल जांच सिर्फ अनुमंडल अस्पताल में ही हो रहा है। घाटशिला स्टेशन व बस स्टैंडों जैसे महत्वपूर्ण जगहों में सैम्पल जांच फिल्हाल नहीं हो रहा है। जबकि रेलवे स्टेशन व बस स्टैंडों से प्रतिदिन काफी संख्या में लोग दूसरे राज्यो व अन्य स्थानों से पहुंच रहे है। दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के लिए कवरँटाइन की कोई व्यवस्था नही की गई है।

सैंपल जांच में नहीं मिला पॉजिटिव : घाटशिला अनुमंडल अस्पताल के द्वारा किए गए सैम्पल जांच में शुक्रवार को आरटीपीसीआर से 47, ट्रूनेट से 2, रैट से 8 सैम्पल जांच किए गए है। रैट सैम्पल जांच में एक भी पॉजिटिव नहीं मिला है।