Jamshedpur, Jharkhand Lockdown : जमशेदपुर में 47 फीसद की रफ्तार से फैल रहा कोरोना; संपूर्ण लाॅकडाउन की उल्टी गिनती शुरू

बाजारों में लोगों की भीड़ कम नहीं हो रही है, जिससे वायरस तेजी से फैल रहा है।

Jharkhand आंशिक लॉकडाउन का सख्ती से पालन नहीं हो रहा है। अगर जल्द ही इसपर काबू नहीं पाया गया तो स्थिति और भयावह होगी। यहां भी तमिलनाडु राजस्थान पुडुचेरी कर्नाटक केरल की तरह संपूर्ण लॉकडाउन करना ही होगा।

Rakesh RanjanSun, 09 May 2021 07:43 PM (IST)

जमशेदपुर, अमित तिवारी। Jharkhand Lockdown झारखंड में आंशिक लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराने में प्रशासन विफल दिख रहा है। बाजार से लेकर दुकानों तक लोगों की काफी भीड़ उमड़ रही है। लोग भी समझने को तैयार नहीं हैं, लेकिन स्थिति विकट हो चली है।

राज्य में आंशिक लॉकडाउन की घोषणा 17 दिन पूर्व यानी 22 अप्रैल को हुई थी। एक सप्ताह बाद भी स्थिति नियंत्रण में नहीं हो पाई। इसे देखते हुए आंशिक लॉकडाउन की तिथि एक सप्ताह और बढ़ाकर छह मई कर दी गई। फिर भी कोरोना मरीजों की संख्या में गिरावट दर्ज नहीं की गई है। मौत भी अधिक हो रही है। अब तीसरी बार आंशिक लॉकडाउन की तिथि बढ़ाकर 13 मई की गई है। इस दौरान पूर्वी सिंहभूम जिले में 47 फीसद की रफ्तार से कोरोना बढ़ रहा है। चिंता की बात यह है कि मरीजों की संख्या व मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। बीते 17 दिनों में 15 हजार 379 कोरोना के नए मरीज मिले हैं। यानी रोजाना 900 से अधिक मरीज बढ़ रहे हैं। वहीं, इतने दिनों में 341 लोगों की मौत हुई है। यानी रोजाना 20 से अधिक दम तोड़ रहे हैं।

सख्ती नहीं बरते तो भुगतना होगा

आंशिक लॉकडाउन से पूर्व 17 दिन का आंकड़ा देखा जाए तो सात हजार 174 नए मरीज मिले थे। यानी रोजाना लगभग 422 नए मरीज मिल रहे थे। वहीं, मौत की संख्या भी कम थी। कुल 101 लोगों की मौत हुई थी। हालांकि, उसी दौरान मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की गई, लेकिन उसका असर नहीं दिख रहा है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

अंतिम निर्णय संपूर्ण लॉकडाउन

विशेषज्ञ चिकित्सकों का कहना है कि आंशिक लॉकडाउन का सख्ती से पालन नहीं हो रहा है। बाजारों में लोगों की भीड़ कम नहीं हो रही है, जिससे वायरस तेजी से फैल रहा है। अगर जल्द ही इसपर काबू नहीं पाया गया तो स्थिति और भयावह होगी। नतीजा होगा कि यहां भी तामिलनाडु, राजस्थान, पुडुचेरी, कर्नाटक, केरल की तरह संपूर्ण लॉकडाउन करने की मजबूरी होगी।

इनकी सुनें

कोरोना अब गांव में भी तेजी से फैल रहा है। ओडिशा व पश्चिम बंगाल से रोजाना लोग जमशेदपुर में सब्जी बेचने आते हैं। यहां के लोग भी आंशिक लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं। भीड़ कम नहीं हो रही है। मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में सरकार को चाहिए कि एक सप्ताह का संपूर्ण लॉकडाउन कर उसका परिणाम देखे। वायरस के चेन को तोड़ना काफी जरूरी है, ताकि मरीज व मौत की संख्या में कमी आ सके।

- डॉ. एसी अखौरी, सीनियर माइक्रोबायोलॉजिस्ट

आंशिक लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराने की जरूरत है, ताकि वायरस के चेन को तोड़ा जा सके। सख्ती से नियम का पालन होने से मरीजों की संख्या में गिरावट जरूर आएगी। अभी भी न तो शारीरिक दूरी का ख्याल रखा जा रहा है और न ही सही ढंग से लोग मास्क पहन रहे हैं। इसी तरह मरीजों की संख्या बढ़ती रही तो सरकार संपूर्ण लॉकडाउन करने को मजबूर होगी। हालांकि इससे आर्थिक स्थिति और भी दयनीय होगी।

- डॉ. आरएल अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन

आंशिक लॉकडाउन के 17 दिन बाद की स्थिति

दूसरी लहर का पहला आंशिक लॉकडाउन (22 से 29 अप्रैल)

तिथि - मरीज - मौत

22 अप्रैल - 729 - 14

23 अप्रैल - 810 - 15

24 अप्रैल - 870 - 16

25 अप्रैल - 1002 - 16

26 अप्रैल - 604 - 14

27 अप्रैल - 992 - 14

28 अप्रैल - 1152 - 23

29 अप्रैल - 890 - 12

---------------------------------------------

कुल - 7049 - 124

-----------------------------------------------

दूसरा आंशिक लॉकडाउन (30 अप्रैल से 6 मई)

तिथि - मरीज - मौत

30 अप्रैल - 1003 - 12

1 मई - 974 - 38

2 मई - 652 - 12

3 मई - 731 - 22

4 मई - 1070 - 32

5 मई - 897 - 27

6 मई - 1010 - 23

-----------------------------------------------

कुल - 6337 - 166

------------------------------------------------

तीसरा आंशिक लॉकडाउन (7 अप्रैल से 13 मई)

तिथि - मरीज - मौत

7 मई - 968 - 26

8 मई - 1025 - 25

---------------------------------------------

कुल - 1993 - 51

---------------------------------------------

आंशिक लॉकडाउन के 17 दिन पूर्व की स्थिति पहला सप्ताह (5 से 12 अप्रैल)

तिथि - मरीज - मौत

5 अप्रैल - 99 - 02

6 अप्रैल - 191 - 00

7 अप्रैल - 149 - 00

8 अप्रैल - 204 - 00

9 अप्रैल - 256 - 03

10 अप्रैल - 303 - 04

11 अप्रैल - 362 - 04

12 अप्रैल - 370 - 02

----------------------------------------------

कुल - 1934 - 15

----------------------------------------------

दूसरा सप्ताह (13 से 19 अप्रैल)

तिथि - मरीज - मौत

13 अप्रैल - 434 - 06

14 अप्रैल - 368 - 09

15 अप्रैल - 492 - 04

16 अप्रैल - 538 - 13

17 अप्रैल - 692 - 06

18 अप्रैल - 676 - 17

19 अप्रैल - 639 - 10

----------------------------------------------

कुल - 3839 - 65

----------------------------------------------

तीसरे सप्ताह के दो दिन (20 से 21 अप्रैल)

तिथि - मरीज - मौत

20 अप्रैल - 683 - 10

21 अप्रैल - 718 - 11

------------------------------------------------------

कुल - 1401 - 21

------------------------------------------------------

झारखंड में भी करना होगा संपूर्ण लॉकडाउन

17 दिन में बढ़ गए 15 हजार 379 कोरोना के नए मरीज, मौत भी 341 लोगों की हुई विशेषज्ञों ने कहा- अभी भी है मौका, राजस्थान, तामिलनाडु जैसे हालात होने से बचा लीजिए आंशिक लॉकडाउन के 17 दिन बाद की स्थिति   17 दिन में 15 हजार 379 मरीज मिले 17 दिन में 341 मरीजों की मौत हुई आंशिक लॉकडाउन के 17 दिन पूर्व की स्थिति 17 दिन में सात हजार 174 मरीज मिले 17 दिन में 101 मरीजों की मौत हुई।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.