CBSE की तरह टर्म वन की ऑफलाइन परीक्षाएं ले सकता है CISCE, जल्द जारी होगा नया कार्यक्रम

CISCE Term one Examinations update CISCE ने सितंबर के दूसरे सप्ताह में दसवीं और 12वीं का परीक्षा कार्यक्रम जारी किया था। ये परीक्षा 15 नवंबर से प्रारंभ होने वाली थी। पूर्व के कार्यक्रम के अनुसार 12वीं की परीक्षा 16 दिसंबर तथा दसवीं की परीक्षा 6 दिसंबर को समाप्त होनी थी।

Rakesh RanjanWed, 20 Oct 2021 01:04 PM (IST)
बोर्ड नए कार्यक्रम से जुड़े अपडेट एक सप्ताह के अंदर ही जारी कर सकता है।

जमशेदपुर, जासं। काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) अब सीबीएसई की तरह टर्म वन की परीक्षाएं ऑफलाइन आयोजित करेगा। बताया जा रहा है कि इसलिए CISCE ने आइसीएसई यानि दसवीं तथा आइएससी यानि 12वीं की परीक्षाएं अचानक मंगलवार की देर रात स्थगित कर दी। CISCE की दसवीं व 12वीं की परीक्षाएं ऑनलाइन हो रही थी। सीबीएसई की ऑफलाइन परीक्षाओं को देखते हुए अब CISCE भी इस नीति पर काम कर रहा है। इस आधार पर केंद्र भी बनाएं जाएंगे, लेकिन CISCE संचालित स्कूलों का केंद्र होम सेंटर ही होगा।

इसमें ब्राह्य पर्यवेक्षक नियुक्त होंगे। अचानक परीक्षाएं स्थगित होने से जमशेदपुर के स्कूलों के प्रिंसिपलों ने भी नए सिरे से परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी है। ऑफलाइन परीक्षाओं का प्रस्ताव बनाए जाने लगा है। सभी से इस संबंध में राय भी ली जा रही है। जब सीबीएसई को ऑफलाइन परीक्षाओं पर आपत्ति नहीं है तो CISCE संचालित स्कूलों को कैसे हो सकती है। संभावना है कि ऑफलाइन के आधार पर ही CISCE नया कार्यक्रम जारी करेगा। जल्द ही काउंसिल इस संबंध में स्कूलों को भी कोई निर्देश देगा।

15 नवंबर से प्रारंभ होनी थी CISCE की फस्र्ट टर्म की परीक्षाएं

CISCE ने सितंबर के दूसरे सप्ताह में दसवीं और 12वीं का परीक्षा कार्यक्रम जारी किया था। ये परीक्षा 15 नवंबर से प्रारंभ होने वाली थी। पूर्व के कार्यक्रम के अनुसार 12वीं की परीक्षा 16 दिसंबर तथा दसवीं की परीक्षा 6 दिसंबर को समाप्त होनी थी। बोर्ड नए कार्यक्रम से जुड़े अपडेट एक सप्ताह के अंदर ही जारी कर सकता है। इसे छात्र काउंसिल की आधिकारिक वेबसाइट https://www.cisce.org पर देख सकते हैं। वर्तमान में परीक्षा स्थगित करने का कोई कारण काउंसिल के सीईओ गैरी अराथून की ओर से नहीं बताया गया है। दरअसल, सीबीएसई की ऑफलाइन परीक्षा लेने की घोषणा  के बाद से काउंसिल के पदाधिकारियों के बीच यह चर्चा प्रारंभ हो गई थी कि उनके स्कूलों को भी सीबीएसई की तरह ऑफलाइन परीक्षाएं लेनी चाहिए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.