नहीं मिले अंचल अधिकारी, लौटे आंदोलनकारी

हिदुस्तान कॉपर लिमिटेड कि सुरदा माइंस जो लीज नवीकरण नहीं होने के कारण लगभग 2 वर्षों से बंद पड़ी है और पंद्रह सौ मजदूर बेरोजगार बैठे हैं। क्षेत्र की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है।

JagranTue, 07 Dec 2021 06:30 AM (IST)
नहीं मिले अंचल अधिकारी, लौटे आंदोलनकारी

संसू, मुसाबनी : हिदुस्तान कॉपर लिमिटेड कि सुरदा माइंस जो लीज नवीकरण नहीं होने के कारण लगभग 2 वर्षों से बंद पड़ी है और पंद्रह सौ मजदूर बेरोजगार बैठे हैं। क्षेत्र की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है। सुरदा माइंस के लीज नवीकरण की मांग को लेकर ग्राम प्रधानों व ग्रामीणों ने माइंस के सभी आवश्यक कार्यों को जिसमें डी वाटरिग भी है। अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया है। जिसके छठे दिन आंदोलन जारी रहा माइंस में काम बंद रहा। इस गतिरोध को समाप्त करने के लिए रविवार को बैठक बुलाई गई थी परंतु बारिश के कारण ग्राम प्रधान व ग्रामीण बैठक में पहुंचने में असमर्थता जताया था। जिसके बाद अंचल अधिकारी ने उन्हें सोमवार को अपने कार्यालय में बैठक के लिए बुलाया था। सभी आंदोलनकारी ग्रामीण व ग्राम प्रधान लगभग 11:30 बजे अंचल कार्यालय मुसाबनी पहुंचे परंतु उन्हें बताया गया कि अंचल अधिकारी किसी कार्य से चले गए हैं इसलिए बैठक स्थगित की गई है। इसके बाद सभी ग्राम प्रधान व ग्रामीणों ने नाराजगी जताते हुए कहा कि समय देकर अंचल अधिकारी का इस तरह चला जाना ठीक नहीं है। अब हम सब लोगों की ओर से समय निर्धारित किया जाएगा तब बैठक होगी। इस बीच एचसीएल आइसीसी के एजीएम माइंस दीपक कुमार श्रीवास्तव भी सीओ कार्यालय पहुंचे थे। उनसे पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि मुझे इस बैठक में नहीं बुलाया गया था परंतु फिर भी माइंस हित को देखते हुए गतिरोध समाप्त हो इसलिए मैं खुद बैठक में आया था। इसको लेकर जल्द से जल्द बैठक कर गतिरोध समाप्त करना चाहिए यह सुरदा माइंस के हित में होगा। लीज विस्तारीकरण को ले विधायक ने सीएम को लिखा पत्र : सुरदा कॉपर माइंस का लीज विस्तारीकरण एवं ताम्र कारखाना में उत्पादन शुरू करने की मांग को लेकर मुसाबनी के कांग्रेसी नेता शमशेर खान, बबलू सिंह, गुरुदास मुर्मू आदि के आग्रह पर विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने सोमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर सुरदा माइंस का लीज नवीकरण जल्द से जल्द करने की मांग की है। पत्र में लिखा गया है कि पूर्वी सिंहभूम स्थित हिदुस्तान कॉपर लिमिटेड मुसाबनी स्थित सूरदा कॉपर माइंस में कार्य कर रहे लोगों के प्रतिनिधिमंडल ने उनसे मिलकर बताया कि वर्णित सुरदा माइंस विगत 2 वर्ष से बंद है। जिसके कारण खदान में कार्य कर रहे 1500 मजदूर प्रत्यक्ष रुप से एवं अप्रत्यक्ष रूप से इस क्षेत्र में निवास करने वाले लगभग 25 हजार जनजातीय आबादी के समक्ष घोर आर्थिक संकट तथा भुखमरी की स्थिति आ खड़ी हुई है। जब से माईंस बंद हुआ है तब से 28 मजदूर काल के गाल में समा चुके हैं। माइंस का लीज 31 मार्च 2020 को समाप्त हो गया है। पूर्व में भी पत्र के माध्यम से माइंस खोलने हेतु आपका ध्यान आकृष्ट कराया गया था। परंतु वर्तमान समय तक निर्णय नहीं हो पाया है। मजदूरों के हितों में तथा जनजातिय आबादी को आर्थिक संकट से उबारने के लिए सुरदा कॉपर माइंस का लीज विस्तारीकरण एवं कारखाना में उत्पादन प्रारंभ करने हेतु आवश्यक निर्देश दिशा देने की मांग महगामा विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने सीएम से किया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.