CBSE 10th Board Exams Result 2021: दसवीं में कोल्हान के छात्रों ने किया बेहतर प्रदर्शन; ये रही डिटेल

आखिरकार सीबीएसइ की दसवीं के छात्रों का भी इंतजार खत्म हुआ। कोल्हान के छात्रों ने बेहतर प्रदर्शन किया है। विद्यार्थी अपना रिजल्ट केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in एवं cbse.gov.in पर देख सकते हैं। ये रही पूरी जानकारी।

Rakesh RanjanTue, 03 Aug 2021 12:05 PM (IST)
सीबीएसइ की दसवीं के छात्रों का भी इंतजार खत्म हुआ।

जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। आखिरकार सीबीएसइ की दसवीं के छात्रों का भी इंतजार खत्म हुआ। उनका रिजल्ट भी बोर्ड ने जारी कर दिया है। विद्यार्थी अपना रिजल्ट केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in एवं cbse.gov.in पर देख सकते हैं। बोर्ड ने रिजल्ट जारी करने की जानकारी पहले ही आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर साझा कर दी थी। कोरोना महामारी की वजह से बोर्ड ने इस साल सभी परीक्षाओं को रद्द कर दिया था और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर छात्रों का मूल्यांकन किया है।

झारखंड के जमशेदपुर समेत पूर्वी सिंहभूम जिले में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई या सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एक्जामिनेशन) के 27 स्कूल हैं, जहां दसवीं-बारहवीं के करीब 7500 छात्र परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे थे। ज्ञात हो कि जमशेदपुर में आइसीएसई के स्कूल ज्यादा हैं। बारहवी के बाद आज यानी मंगलवार को दसवीं का रिजल्ट आया। इसके छात्रों का भी इंतजार खत्म हुआ। कोल्हान प्रमंडल के पश्चिमी सिंहभूम के चाइबासा स्थित डीएवी के छात्र वत्सल राज को 96.8 % अंक मिले हैं। वत्सल विकास अग्रवाल के पुत्र हैं। चाईबासा में संत विवेका इंग्लिश मीडियम स्कूल की अर्पिता विजयवर्गीय ने अपने विद्यालय में किया टॉप। 95 प्रतिशत आए अंक।

चाइबासा स्थित डीएवी के छात्र वत्सल राज।

केवी चक्रधारपुर का शत प्रतिशत रिजल्ट

केंद्रीय विद्यालय चक्रधरपुर में 10 वीं का रिजल्ट सौ प्रतिशत रहा। विद्यालय के सभी विद्यार्थी अच्छे अंकों के साथ पास हो गए। इस संबंध में केंद्रीय विद्यालय चक्रधरपुर की इंचार्ज प्रिंसिपल एम तिग्गा ने बताया कि इस साल सीबीएसई कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर के कारण रद्द कर दी गइ थी। चूंकि इस साल बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी गई थी, इसलिए सीबीएसई द्वारा कोई मेरिट सूची जारी नहीं किया गया है। मेरिट लिस्ट के अलावा इस साल टॉपर की भी घोषणा भी नहीं की गइ है । इसी आदेश के तहत केंद्रीय विद्यालय चक्रधरपुर भी विद्याथियों की मेरिट सूची जारी नहीं कर रहा है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष केंद्रीय विद्यालय चक्रधरपुर में 10 वीं बोर्ड में 85 विद्यार्थी थे। सभी विद्यार्थी पास हुए हैं।

चाईबासा डीएवी का उम्दा प्रदर्शन

सूरजमल जैन डीएवी पब्लिक स्कूल चाइबासा से कुल 183 विद्यार्थियों ने दसवीं की परीक्षा दी थी। इनमें से कुल 27 बच्चों ने 90% से अधिक अंक हासिल किए। कुल 163 बच्चों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। तुषार कुमार दास ने 98.8% अंकों के साथ प्रथम स्थान, विजेता पाणिग्रही ने 98% अंकों के साथ द्वितीय व श्रेया बॉस और स्नेहा आनंद ने संयुक्त रुप से 97.4 % अंकों के साथ तृतीय स्थान प्राप्त किया। प्राचार्या सुश्री रेखा कुमारी ने उत्तीर्ण परीक्षार्थियों को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

ये रहे विषय वार अधिकतम अंक

अंग्रेजी- 98

हिंदी 98

विज्ञान 99

गणित 100

सामाजिक विज्ञान 100

संस्कृत 97

कंप्यूटर 100

 इस्टीम पब्लिक स्कूल का शानदार प्रदर्शन 

इस्टीम पब्लिक स्कूल, चलियामा dh 10 वीं कक्षा में 127 छात्र - छात्राएं सम्मिलित हुए तथा विद्यालय का पास रिजल्ट 100 % रहा। विद्यालय के टॉप 5 स्टूडेंट्स में 95.2 % मार्क्स के साथ शुभम कुमार ने प्रथम टॉप कर विद्यालय का नाम रोशन किया, वही 94 % मार्क्स के साथ दीपक कुमार राजपूत द्वितीय टॉप, 93% मार्क्स के साथ श्रेयांश सिन्हा तृतीय टॉप, 92.2 % मार्क्स के साथ सुखदेव मलिक चतुर्थ टॉप तथा 91 % मार्क्स के साथ सौम्या शुक्ला पंचम टॉप रहे । विद्यालय के संस्थापक डॉ मनोज कुमार झा ने 10 वीं कक्षा में सफल सभी बच्चों को बधाई देते हुए विद्यालय के प्राचार्य एवं शिक्षकों को भी इस सफलता के लिए श्रेय दिया और उन्होंने कहा कि यह उनकी मेहनत तथा योगदान की वजह से संभव हुआ है । वहीं विद्यालय के प्राचार्य ने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना इस वर्ष विद्यालय का बेहतर रिजल्ट रहा और यह हमारे बच्चों की कड़ी मेहनत तथा उनके अंदर की प्रतिभा का फल है।

वैली व्यू के आठ बच्चों ने प्राप्त की 90-100 फीसद अंक

सीबीएसई बोर्ड परीक्षा-21 में टेल्को टीआरएफ नगर स्थित वैली व्यू स्कूल के आठ बच्चों ने 90 से 100 फीसद अंक प्राप्त किया है। कुल 92 बच्चे परीक्षा में शामिल हुए थे, जो सफल रहे।  81 से 90 फीसद अंक प्राप्त करने वाले छात्रों की संख्या 30, 71 से 80 फीसद अंक प्राप्त करने वालों की संख्या 40 व 70 फीसद से कम अंक प्राप्त करने वाले बच्चों की संख्या 22 है।

जैसा कि अभी तक स्कूल का रिकॉर्ड रहा है वैसा रिजल्ट नहीं आया है। बच्चे यदि परीक्षा देते तो परिणाम और अच्छा होता। परिणाम देखकर वास्तव में निराशा हुई। उत्तीर्ण होने वाले सभी बच्चों को बधाई।

     जेके पांडेय, सीनियर को-ऑर्डिनेटर, वैली व्यू स्कूल

शेन इंटरनेशनल स्कूल का सौ फीसद रिजल्ट

शेन इंटरनेशनल स्कूल से इस वर्ष 71 बच्चों ने परीक्षा दी और लगातार दूसरी बार 100 प्रतिशत रिजल्ट हुआ है। स्कूल से छह बच्चों को 90 प्रतिशत अंक मिला है। स्कूल से देबोजीत घोष 94.6 प्रतिशत लाकर टॉपर बना है। इसके अलावा शशि कुमार 93 प्रतिशत अंक लाकर दूसरे, खुशी 92.4 प्रतिशत के साथ तीसरे, मंताशा खालिद 91.2 प्रतिशत के साथ चौथे, रश्मिता कुंडू 91 प्रतिशत के साथ पांचवे और अमृता 90.2 प्रतिशत अंक लाकर छठे स्थान पर रहे। स्कूल की प्राचार्य पुष्पा भल्ला ने सभी बच्चों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी है।

बॉल्डविन फार्म एरिया हाई स्कूल, जमशेदपुर

स्कूल की प्रिंसिपल सुब्रोश्री सरकार का कहना है कि कोविड 19 की विपरीत परिस्थितियों के बावजूद बच्चों ने काफी मेहनत की। पिछले पांच वर्षों से हमारे स्कूल का रिजल्ट 100 प्रतिशत रहा है। स्कूल से इस वर्ष 132 बच्चों ने परीक्षा दी। इसमें पांच बच्चों को 90 प्रतिशत से ज्यादा, 52 बच्चों को 75 प्रतिशत से ज्यादा और 101 बच्चों को 60 प्रतिशत से ज्यादा अंक मिले। हर दिन छह से आठ घंटे पढ़ाई का रखा था लक्ष्य : विनीत

बॉल्डविन स्कूल से 96.6 प्रतिशत अंक लाकर विनीत कुमार स्कूल टॉपर बना है। विनीत का कहना है कि सफल होने के लिए उसने पढ़ाई के लिए लक्ष्य तय किया। हर दिन छह से आठ घंटे पढ़ता था और तय करता था कि हर दिन कितना कोर्स पूरा करना है। पिछले साल बड़ा भाई सुधांशु कुमार भी बॉल्डविन से स्कूल टॉपर बना था और उसी की देखरेख में मैंने पढ़ाई की। फिलहाल मैं जेई मेंस की तैयारी कर रहा हूं। भविष्य में मैं आइआइटी करने के बाद इंजीनियरिंग करना चाहता हूं। इसके अलावा मैं इंडियन स्टेटिकल इंस्टीट्यूट में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहा हूं। विनीत अपनी मां अर्चना कुमारी के साथ कदमा कामधेनु अपार्टमेंट में रहता है। विनीत को साइंस में 98, गणित में 98, हिंदी में 97, सोशल साइंस व कम्प्यूटर साइंस में 95-95 अंक मिले हैं।

खुद का बनाया नोट्स, सेल्फ स्टडी पर किया फोकस

बॉल्डविन स्कूल से 94.8 प्रतिशत अंक लाकर अभ्युदय पटेल सेकेंड स्कूल टॉपर बना है। अभ्युदय का कहना है कि स्कूल के अलावा बाहर से कोचिंग भी करता था। लेकिन दोनों जगहों पर जो भी पढ़ा, उसके लिए अपना अलग से नोट्स तैयार करता था और हर दिन नियमित रूप से चार घंटे पढ़ाई करता था। मेरा सपना है कि मैं आइआइटी मुंबई से इंजीनियरिंग करूं। इसके लिए मैं जेई मेंस की तैयारी कर रहा हूं। अभ्युदय के पिता जयंत पटेल बॉल्डविन स्कूल में लैब इंचार्ज हैं जबकि मां बिंदु कुमारी कुशल गृहिणी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.