दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

सावधान! क्विक सपोर्ट एप डाउनलोड कराकर साइबर ठग कर रहे ठगी, कदमा निवासी को लगाया 6.90 लाख का चूना

क्विक सपोर्ट एप डाउनलोड करा कर ली रुपये की निकासी।

क्यूआर काेड स्कैन कराकर और क्विक सपोर्ट एप डाउनलोड करा साइबर ठग ठगी को अंजाम दे रहे हैं और लोगों के खाते खाली कर दे रहे हैं। अगर आप भी आनलाइन पेमेंट करते समय क्विक रिस्पांस कोड (क्यू आर काेड) इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाइए।

Rakesh RanjanWed, 12 May 2021 05:12 PM (IST)

जमशेदपुर, जासं। क्यूआर काेड स्कैन कराकर और क्विक सपोर्ट एप डाउनलोड करा साइबर ठग ठगी को अंजाम दे रहे हैं और लोगों के खाते खाली कर दे रहे हैं। अगर आप भी आनलाइन पेमेंट करते समय क्विक रिस्पांस कोड (क्यू आर काेड) इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाइए। सा

इबर अपराधी क्यूआर कोड के जरिए ही लोगों के खाते खाली कर रहे हैं। इसे ठगी का नया हथियार बना लिया है। कदमा थाना क्षेत्र निवासी अभिमन्यु लहरी का क्यूआर कोड स्कैन कराकर खाते से 6 लाख 90 हजार रुपये खाते से निकाल लिए गए। इसकी शिकायत साइबर अपराध शाखा, बिष्टुपुर थाना में दर्ज कराई गई है जिसकी जांच पुलिस कर रही है। 9394267906 और 9707984967 के मोबाइल धारक और बैक खाता नंबर 10069822553 को आरोपित किया है। खाता आइडीएफसी का है। पुलिस को शिकायत में बताया 10 मई को वह सोनारी के एक अपार्टमेंट में गया था। वहां उसे आनलाइन पेमेंट करना था। उसकी मोबाइल पर दो अलग-अलग नंबर से फोन काल और मैसेज भी आए। क्यूआर कोड भेजकर पेमेंट करने की बात कही गई। इसके बाद उसके खाते से रुपये की निकासी हो गई।

क्विक सपोर्ट एप डाउनलोड करा कर ली रुपये की निकासी

क्विक सपोर्ट एप और एसएमएस टू फोन एप डाउनलोड कराकर कदमा थाना क्षेत्र उलियान निवासी विश्वजीत दत्ता के खाते से एक लाख 18 हजार 216 रुपये साइबर ठग ने निकासी कर ली। इसकी शिकायत बिष्टुपुर साइबर अपराध थाना में दर्ज कराई गई है। साइबर थाना में दी गई शिकायत में कदमा निवासी विश्वजीत दत्ता ने बताया कि उनके मोबाइल पर 7735438125 से फोन आया। केवायसी कराने के लिए कहा। इसके बाद एक लिंक भेजकर बैंक संबंधित कुछ जानकारी पूछी। ओटीपी नंबर बताने के लिए कहा, लेकिन ओटीपी नंबर नहीं आने पर प्रक्रिया पूरी हुई। दोबारा दूसरे नंबर 8967229400 से फोन किया और कहा आपकी केवायसी पूरी नहीं हुई है। आपका मोबाइल नंबर भी बंद होने वाला है। कई और भी झांसा दिए। आनलाइन केवायसी करा लेने का आग्रह किया। फोन करने वाले ने क्वीक सपोर्ट माेबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कहा तो उन्होंने अपने मोबाइल में एप डाउनलोड किया। माेबाइल डाटा एक्सेस अलाउ का ऑप्शन आया। जैसे ही अलाउ किया खाते से रुपये की निकासी हो गई।

एनीडेस्क एप डाउनलोड करा दो लाख 98 हजार कर ली गई निकासी

कदमा इडेन पार्क निवासी मनी रविशंकर से ठगों ने एनीडेस्क एप डाउनलोड करा दो लाख 98 हजार 620 रुपये बैंक खाते से निकासी कर ली। बिष्टुपुर साइबर अपराध थाना में 9339095446 के मोबाइल धारक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। 9339095446 मोबाइल से उसे फोन आया। कस्टमर केयर का नंबर बता लिंक भेजकर एनीडेस्क एप डाउनलोड कराया गया। जैसे-जैसे मोबाइल धारक ने निर्देश दिया। उसने वैसा ही किया। बैंक खाते से रुपये की निकासी होने का मैसेज आने लगे।

शिक्षक की बैंक खाते से उड़ा लिए ढाई लाख रुपए

बरसोल थाना क्षेत्र मानुषमुडिया निवासी सेवानिवृत शिक्षक अश्विनी कुमार साहू की बैक खाते से ढाई लाख रुपए की अवैध रूप से निकासी साइबर ठग ने कर ली। शिक्षक की शिकायत पर बिष्टुपुर साइबर थाना में मोबाइल नंबर 7970862650 के धारक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। उनके मोबाइल पर 7970862650 से फोन कॉल आया। कहा कि आपके खाते से अधिक रकम डिबेट हो रहा है। अगर आप क्यूआर कोड बताएंगे तो इसे रोक दिया जाएगा। पूछे जाने के बावजूद क्यूआर कोड नहीं बताया। उनके खाते से तीन बार में कुल ढाई लाख रुपये की निकासी कर ली गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.