Brutal Murder: जमशेदपुर में रिश्तों के कत्ल की वारदात से हो जाएंगे आपके रोंगटे खडे, है लंबी फेहरिश्त; पढिए तो सही

जमशेदपुर में रिश्तों के कत्ल की वारदात से हो जाएंगे आपके रोंगटे खडे।

जमशेदपुर के कदमा में टाटा स्टील के कर्मी ने पत्नी दो बच्चे एवं ट्यूशन टीचर की हत्या कर दी। इसी इलाके में दामाद ने ससुर को मार डाला। पुलिस एक साथ चार हत्या को प्रेम त्रिकोण का अंजाम मान रही है। जानिए कुछ वारदातों के बारे में।

Rakesh RanjanTue, 13 Apr 2021 10:12 AM (IST)

जमशेदपुर, जासं। Rishton Ka katla in Jamshedpur झारखंड के जमशेदपुर और इसके आसपास के इलाके में पारिवारिक विवाद, आर्थिक तंगी, प्रेम प्रसंग में बाधक बनने, घरेलू विवाद में हत्या जैसे कई मामले सामने आते रहे हैं जैसा कि कदमा में चार की हत्या कर दी गई। इसी इलाके में दामाद ने ससुर की हत्या कर दी। आइए आपको बताते हैं कुछ इस तरह के ही चर्चित मामले।

चैताली-रिजवान कांड

चैताली-रिजवान हत्याकांड के 21 साल बीत जाने के बाद भी शहरवासियों में उस घटना की चर्चा होती है। प्रेम प्रसंग में बाधक बनने पर चैताली ने अपने प्रेमी रिजवान के साथ मिलकर अपने माता-पिता, भाई व नानी की हत्या कर दी थी।

शवों को घर के शौचालय की टंकी में डाल दिया था

इतना ही हत्या के बाद शव को घर के शौचालय की टंकी में डाल दिया था। टंकी से नरकंकाल बरामद हुआ था। हत्या के बाद भी कई दिनों तक प्रेमी-प्रेमिका घर में साथ रहे थे। इनके फरार होने के कई दिनों बाद आम लोगों व पुलिस को यह जानकारी हुई कि चार लोगों की हत्या प्रेमी-युगल ने कर दी थी। शहर का यह चर्चित हत्याकांड जमशेदपुर के गोविंदपुर थाना क्षेत्र के घोड़ाबांधा इलाके से जुड़ा हुआ है। मामला वर्ष 1999 का है। जमशेदपुर व्यवहार न्यायालय के न्यायाधीश कृष्ण मुरारी गुप्ता की अदालत ने पुलिस द्वारा एकत्र किए गए साक्ष्य एवं गवाही के आधार पर वर्ष 2000 में चैताली व रिजवान को फांसी की सजा सुनाई थी। बाद में अपील याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा को उम्रकैद में तब्दील कर दिया था।

फरारी के दौरान चैताली-रिजवान के बेटे का जन्म

विदित हो कि हत्या मामले में फरारी के दौरान चैताली-रिजवान के बेटे का जन्म हुआ था। नवजात बेटा भी चैताली-रिजवान के साथ कई दिनों तक जेल में रहा। पांच वर्ष की उम्र होने के बाद बेटे को रिजवान की मां को सौंप दिया गया था।

ये भी हैं कुछ मामले

10 अप्रैल 2019 : सुंदरनगर में यश कुमार ने पुत्र की हत्या कर दी थी। 22 फरवरी 2019 : कपाली ओपी क्षेत्र के पुडिसिली में एक युवक ने परिवार के पांच सदस्यों की हत्या कर दी थी। 2 अगस्त 2019 : डुमरिया में आरोपित ने भाभी और भतीजे की हत्या कर दी गई थी। 30 अगस्त 2019: पटमदा में चाचा-चाची की हत्या भतीजे ने कर दी थी। 12 दिसंबर 2018 : आशुतोष झा ने साढ़े तीन वर्षीय भांजे की कर दी थी हत्या। 17 सितंबर 2018 : मानगो ग्रीन सिटी में 80 वर्षीय महिला ए. शकुंतला की हत्या उनके दो पोतों ने कर दी थी। 11 मई 2018 : टेल्को मनीफीट में महिला की उसके प्रेमी ने कर दी थी हत्या 19 फरवरी 2018 : बारीडीह विजया गार्डेन में इंजीनियर ने अपने पुत्र और पत्नी की हत्या के बाद खुद भी खुदकशी कर ली। 27 फरवरी 2018 : पिता ने 12 वर्षीय पुत्र राजू मुंडा की पत्थर से कूच कर हत्या कर दी। 16 नवंबर 2016 : मानगो डिमना रोड डी मधुसूदन चौधरी काम्पलेक्स में महिला मंजू और उसके पुत्र की हत्या पति ने करवा दी थी। 28 जून 2016 : कदमा में खेमलता साहू की हत्या रिश्तेदार ने कर दी। 6 जनवरी 2016 : टेल्को में शिवजी प्रसाद की हत्या उसके बेटे जितेंद्र कुमार ने सुपारी देकर करवा दी थी। 27 नवंबर 2012:  सिदगोड़ा में प्रलय दास ने अपने सास-ससुर और साली की हत्या संपत्ति विवाद में कर दी थी। 17 नवंबर 2016 : मानगो के उलीडीह मधुसूदन डी कांप्लेक्स में बैंक मैनेजर की पत्नी और पुत्र की हत्या कर दी गई थी। हत्या का आरोप मैनेजर पर लगा था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.