CBSE, सीआइएससीइ व जैक बोर्ड ने दसवीं एवं 12वीं के परिणामों को लेकर किया खाका तैयार, जानिए कैसे तैयार हो रहा रिजल्ट

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) सीआइएससीइ व झारखंड अधिविद्य परिषद (जैक) बोर्ड ने अपने-अपने छात्रों के मूल्यांकन का तरीका ढूंढ निकाला है। इस संबंध में संबंधित बोर्डों ने अपने-अपने स्कूलों को निर्देश जारी कर दिए हैं। ये रही पूरी जानकारी।

Rakesh RanjanWed, 16 Jun 2021 04:26 PM (IST)
जानिए कैसे तैयार हो रहा बोर्ड परीक्षाआें का रिजल्ट।

जमशेदपुर, वेंकटेश्वर राव। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई), काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशनस (सीआइएससीइ) व झारखंड अधिविद्य परिषद (जैक) बोर्ड ने अपने-अपने छात्रों के मूल्यांकन का तरीका ढूंढ निकाला है। इस संबंध में संबंधित बोर्डों ने अपने-अपने स्कूलों को निर्देश जारी कर दिए हैं। स्कूलों ने इस तरह से अंक बनाकर बोर्डों को भेजन का कार्य प्रारंभ कर दिया है।

सभी बोर्डों का फार्मूला लगभग तैयार हो गया है। यह फार्मूला सरकार के स्तर से जारी होने हैं। सीबीएसई और सीआइएससीइ को यह फार्मूला सुप्रीम कोर्ट को सौंपना है। खासकर 12वीं के परीक्षा परिणाम को सुप्रीम कोर्ट ने फार्मूला बताने को कहा है क्योंकि 12वीं के परीक्षा परिणाम से छात्रों के आगे का भविष्य जुड़ा हुआ है। सीबीएसई स्कूलों को जहां स्कूलों को दसवीं एवं 12वीं के छात्रों का नंबर अपलोड करने के लिए 28 जून तक समय दिया है। वहीं सीआइएससीइ स्कूलों ने अपने काउंसिल को छात्रों के अंकों को भेज दिया है। सीबीएसई ने जहां प्रत्येक स्कूलों में रिजल्ट के लिए आठ सदस्यीय समिति का गठन किया है वहीं सीआइएससीइ स्कूलों ने भी कुछ ऐसा ही है। जैक बोर्ड के स्कूल उनके द्वारा ली गई तथा स्कूलों द्वारा ली गई परीक्षा को आधार मानकर छात्रो को नंबर देने की कवायद प्रारंभ कर दी है। इसके लिए झारखंड के सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों के समीक्षा बैठक भी हो चुकी है। सारे बोर्ड का फार्मूला अब अंतिम रूप से तैयार हो रहा है। उम्मीद की जा रही है कि दो-तीन यह फार्मूला बनकर पूरी तरह तैयार हो जाएगा।

ऐसे तैयार होगा सीबीएसई का रिजल्ट

10वीं का रिजल्ट : सभी स्कूलों को तीन साल का रिजल्ट मिल गया है। इसमें जिस साल का रिजल्ट सबसे अच्छा होगा। उसी आधार पर छात्रों की मार्किंग की जाएगी। कुल 100 नंबर के विषयों में 20 नंबर प्रैक्टिकल व इंटरनल एसेसमेंट से छात्रों का मिलेगा। उसके बाद बचे 80 नंबर में 10 माक्र्स यूनिट टेस्ट, 40 माक्र्स प्री बोर्ड व 30 माक्र्स हाफइयरली की परीक्षा को लेकर दिए जा रहे हैं। जिन स्कूलों में हाफयरिली, प्री बोर्ड नहीं हुआ है तो वैसे स्कूल के छात्रों के अंकों का सत्यापन स्कूल की कमेटी करेगी। कमेटी यह बताएगी कि छात्रों को किस आधार पर नंबर दिए जा रहे हैं। वैसे स्कूलों को ऑनलाइन परीक्षा लिए जाने का भी निर्देश है।

12वीं का रिजल्ट : कुल 100 नंबर में से 30 माक्र्स प्रैक्टिकल पहले ही दिए जा चुके हैं। बचे 70 माक्र्स में प्री बोर्ड से 30 व हाफयरिली 40 नंबर प्रदान किए जाएंगे। अन्य निर्देश दसवीं की तरह ही लागू होगा।

ऐसे तैयार होगा सीआइएससीई का रिजल्ट

10वी का रिजल्ट : कक्षा नवम एवं 10वीं में जो भी ऑनलाइन परीक्षाएं हुई है सभी के नंबर इसमें जुड़ेंगे। जमशेदपुर के अधिकांश स्कूलों में इस तरह की छह परीक्षाएं ऑनलाइन आयोजित हो चुकी हैं। कुल 80 नंबर के अंक इन परीक्षाओं के आधार पर तैयार किए गए हैं। काउंसिल को 20 नंबर का इंटरनल एसेसमेट की मार्किंग पहले ही भेज दी गई है। ऑनलाइन जो भी हुआ है। छह एग्जाम हुआ है।

12 में रिजल्ट : स्कूलों में 11वीं की परीक्षाएं ऑफलाइन हुई थी। 12वीं प्री बोर्ड की परीक्षाएं भी हुई। इन दोनों को मिलाकर छात्रों को सभी विषयों में अधिकतम 80 अंक प्रदान किए जाएंगे। इसके अलावा प्रैक्टिकल की परीक्षाएं पहले ही हो चुकी है। प्रैक्टिकल नंबर 20 अंक का है। इसके नंबर भी काउंसिल को भेज दिए गए हैं।

जैक बोर्ड

10वीं का रिजल्ट : कक्षा आठवीं एवं नौवीं दोनों परीक्षाएं जैक ने ली थी और अधिकांश स्कूलों में दसवीं का क्लास टेस्ट भी हुआ था। इस आधार पर छात्रों का मूल्यांकन होगा।

12वीं का रिजल्ट : वर्ष 2020 का मैट्रिक रिजल्ट, 2020 में ही 11वीं का रिजल्ट तथा प्रैक्टिकल परीक्षाओं को आधार मानकर बोर्ड ने छात्रों के मूल्यांकन के फार्मूलों को फाइनल किया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.