Ayushman Bharat Yojana: आयुष्मान योजना से आयुष की बदलेगी जिंदगी, होगा ट्यूमर का आपरेशन

Ayushman Bharat Yojana ट्यूमर से पीडित आयुष सरदार के पिता कृष्णा सरदार की करें तो इनके पास आयुष्मान कार्ड नहीं था। पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जगन्नाथपुर के प्रभारी चिकित्सक के पास यह समस्या आयी तो उनका आयुष्मान कार्ड तत्काल बनवाया गया।

Rakesh RanjanSat, 27 Nov 2021 11:15 AM (IST)
ट्यूमर से पीडित पश्चिमी सिंहभूम के जगन्नाथपुर का आयुष सरदार।

बिशाल गोप, जगन्नाथपुर : आर्थिक रुप से कमजोर व गरीबी का दंश झेलते आ रहे कृष्णा सरदार अब अपने ट्यूमर से पीड़ित बेटे का आयुष्मान भारत योजना से उपचार कराएं। आयुष्मान भारत योजना केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। उनके पास आयुष्मान भारत बीमा कार्ड भी है लेकिन पता नहीं कि इस योजना से कौन -कौन सी बीमारी का उपचार होता है। वही कई लोगों के पास अभी भी आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना कार्ड नहीं होने की बात सामने आती है।

बात अगर ट्यूमर से पीडित आयुष सरदार के पिता कृष्णा सरदार की करें तो इनके पास आयुष्मान कार्ड नहीं था। पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जगन्नाथपुर के प्रभारी चिकित्सक के पास यह समस्या आयी तो उनका आयुष्मान कार्ड तत्काल बनवाया गया। आयुष सरदार एक 7 वर्ष का लड़का है जो जगन्नाथपुर प्रखंड मुख्यालय से लगभग 25 किलोमीटर दूर मुण्डुई गांव में रहता है। आयुष के पिता का नाम कृष्णा सरदार है जो पेशे से एक किसान हैं। आयुष के बारे में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी किरण सुण्डी से मिली जानकारी के अनुसार आयुष सरदार के सर के नीचे यानी गले के पीछे वाले हिस्सा में जन्म से ट्युमर नामक बीमारी है। उम्र के साथ धीरे -धीरे ट्युमर बढ़ता ही जा रहा है। आर्थिक रुप से कमजोर माता- पिता उसका उपचार कराने में असमर्थ हैं।

बता दें कि आयुष इतनी छोटी उम्र में ट्युमर हो जाने के कारण व स्कूली शिक्षा भी नहीं ले पा रहा है। किसी तरह घर पर ही पिता ने पढ़ाई की व्यवस्था कर रखी है। जैंतगढ़ के सामाजिक कार्यकर्त्ता आमीर रशीद को झामुमो सचिव शरीक रजा व अध्यक्ष संदेश सरदार ने आयुष की इस हालत के बारे जानकारी दी थी। जिसके बाद आमीर ने परिवहन मंत्री व जिला उपायुक्त को 20 नवम्बर को ट्वीटर के माध्यम से जानकारी दी। उसी शाम को ही जगन्नाथपुर सीएचसी का वाहन आयुष के घर आया। आयुष को अपने साथ जगन्नाथपुर सीएचसी स्वास्थ्य कर्मी ले आये। वही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. किरण सुण्डी ने बताया कि आयुष सरदार का प्राथमिक उपचार यहां शुरू किया गया। उसके बाद रिम्स हॉस्पीटल रांची भेजा गया। प्रारंमिक जांच, इजेक्शन व दवा के बाद 25 नवम्बर को आयुष सरदार अपने माता -पिता के साथ वापस जगन्नाथपुर आ गये हैं। आयुष को फिलहाल चिकित्सक की निगरानी में एमटीसी में रखा गया है। एक सप्ताह के बाद फिर आयुष सरदार को रिस्म आपरेशन हेतु चिकित्सा जांच के लिए भेजा जायेगा।

मिलने पहुंचे विधायक सोनाराम सिंकू

इधर, शुक्रवार को जगन्नाथपुर विधायक सोनाराम सिंकु ट्युमर बीमारी से पीड़ित आयुष सरदार से मिलने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। चिकित्सक व परिजन से हालचाल जाना। उन्होंने कहा कि रिस्म जाने के दौरान आयुष सरदार को सहयोग किया जायेगा। वही उन्होंने चिकित्सा पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे जो भी बच्चे क्षेत्र में हैं उन्हें चिन्हित करवायें। मुझे इसकी जानकारी दें। जहां तक होगा सहयोग किया जायेगा। वही चिकित्सा पदाधिकारी डा. किरण सुण्डी ने कहा कि आयुष को यहां चिकित्सक निगरानी में एक सप्ताह तक रखा गया है। लगातार उसके स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है। एक सप्ताह बाद उसे बेहतर उपचार के लिए यहां से रिस्म भेजा जायेगा। उसके शरीर में लगभग 300 ग्राम का ट्युमर है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.