जाम से अस्त व्यस्त रहा शहर, परेशान रहे लोग

लीड----------- पुलिया बनाने के लिए कचहरी रोड काटने से बढ़ी लोगों की परेशानी संवाद सहयोग

JagranWed, 22 Sep 2021 08:40 PM (IST)
जाम से अस्त व्यस्त रहा शहर, परेशान रहे लोग

लीड-----------

पुलिया बनाने के लिए कचहरी रोड काटने से बढ़ी लोगों की परेशानी

संवाद सहयोगी, हजारीबाग : उतरी छोटानागपूर प्रमंडलीय मुख्यालय हजारीबाग में जिला प्रशासन और नगर निगम की अनदेखी के कारण शहर में जाम से लोग त्राहिमाम करने लगे हैं। इधर जाम से आम लोग त्रस्त रहे वहीं दूसरी ओर यातायात पुलिस जुर्माना काटने में व्यस्त रही। ऐसे तो हर दिन शहर के विभिन्न चौक चौराहों पर घंटो जाम लग रहा है। मगर बुधवार को जाम की समस्या ने उस समय भयावह रूप् ले लिया जब शहर के हृ़दय स्थल कचहरी रोड में बिना बोर्ड लगाए पुलिया निर्माण के लिए निगम द्वारा रास्ता काट दिया गया। इसके अलावा एलएंड टी कंपनी द्वारा भी शहर के कई रास्तों को पेयजलापूर्ति पाइप लाइन लगाने के लिए काट दिया गया है। शहर के लोगों को जिस स्थिति का सामना बुधवार को करना पडा, ऐसा लगता है यही स्थित सप्ताह भर और झेलनी पड़ेगी। इधर शहर के प्रमुख मार्गाों में नो इंट्री के बाद भी भारी वाहन धडल्ले से चला जा रहे हैं। जाम गोला रोड, गुरु गोविद सिंह रोड में बीच सड़क माल वाहक वाहनों को खडा कर सामान उतारने और लोड करने के कारण तो। कल्लू, कोर्रा चौक, झंडा चौक, पैगाडा चौक, बंशीलाल चौक पर जैसे तैसे वाहन खड़ी करने और अनियंत्रित वाहनों के कारण लगी रही। बुधवार को शहर में लगातार पांचवे दिन भी भयंकर जाम रहा। शनिवार, रविवार, सोमवार के बाद बुधवार को भी शहर के झंडा चौक, पैगोड़ा चौक, के अलावा कटकमसांडी रोड स्थित कल्लू चौक, कोर्रा चौक में घंटो जाम रहा। कल्लू चौक पर तो घंटो लोग जाम से त्राही त्राही करते रहे। कल्लू चौक पर आधा किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार लगी रही। जाम कुछ इस कदर था कि मंडई व लोहसिग्ना रोड में लोग पैदल भी सड़क पार नहीं कर सके।

----------------------------

जुर्माना काटने में व्यस्त रही यातायात पुलिस

जाम से निपटने के लिए केवल यातायात हीं नहीं उतना हीं दोषी जिला प्रशासन और नगर निगम भी है। आए दिन हो रहे जाम से निपटने के लिए एसपी ने तो प्रयास किया पर नगर निगम और जिला प्रशासन मुकदर्शक बनी हुई है। इस दिशा में कोई गंभीर प्रयास कर रहा है न ऑटो स्टैंड बन चुके चौक चौराहों पर खड़े वाहन को दूर करने कोशिश किया जा रहा है। मेन रोड में तो बीच सड़क दुकानें संचालित की जा रही है। थाना गेट से लेकर झंडा चौक तक दुकाने संचालित है। वहीं दूसरी ओर शहर में जाम को हटाने की जगह पूरे दिन यातायात पुलिस जुर्माना काटने में व्यस्त रही है। जिसे लेकर आम जन में आक्रोश व्याप्त है। जाम लाईलाज बीमारी बन गयी है। नगर निगम और जिला प्रशासन मुकदर्शक बनी है यातायात प्रभारी बदले या इंस्पेक्टर, इससे कोई फर्क नही पड़ता।

------------------------

गली मोहल्लों के काट डाले गए रास्ते, कहीं ट्रक तो कहीं फंस रही कार

संस, हजारीबाग : 600 करोड़ रुपए की लागत से कोनार डैम से हजारीबाग शहर की प्यास बुझाने की योजना को लेकर काम कर रहे एलएनटी कंपनी के पेटी ठेकेदारों ने शहर की सुरत बिगाड़ दी है। पिछले छह माह से गली मोहल्लों में सड़क काटते काटते अब मुख्य सड़कों तक आ पहुंची है। यहां भी इनके द्वारा बिना पूर्व सूचना के शहर कई प्रमुख सड़कों को काट दिया गया है। बेतरतीब सड़क काट देने और ढलाई न करने के कारण हर दिन शहर में कहीं ट्रक तो कहीं कार फंसते जा रहे है। सड़क की बदहाल हालत को लेकर सदर विधायक मनीष जायसवाल ने भी एलएनटी को फटकार लगायी है, पर इनके कानों में जु तक नहीं रेंगी है। शहर के आर्या नगर, हुरहुरु, काली बाड़ी, पतरातू, कोपरेटिव कालोनी, पंडित जी रोड, बाबा पथ, शिवपूरी, ओकनी, न्यू एरिया, ग्वालटोली, सहित बड़ा अखाड़ा क्षेत्र, मटवारी, कुम्हारटोली, बाबूगांव आदि क्षेत्रों में सड़क पर बड़े बडे़ गड्ढे बन गए है। इनमें ऐसी कई सड़के है जो पिछले छह माह से काट कर छोड़ दी गयी है, आर्या नगर में अगस्त में सड़के काटी तो शिवपूरी और न्यू एरिया में यह अवधि चार माह की हो गयी है। ----------------------

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.