महुआ चुनने के लिए जंगलों में लगाई जा रही है आग

पेड़-पौधों को भारी नुकसान जंगली जानवरों की जान पर आई आफत आसपास के गांवों में पहुंच

JagranThu, 01 Apr 2021 08:50 PM (IST)
महुआ चुनने के लिए जंगलों में लगाई जा रही है आग

पेड़-पौधों को भारी नुकसान, जंगली जानवरों की जान पर आई आफत

आसपास के गांवों में पहुंच रही हैं आग की लपटें दहशत संवाद सूत्र

टाटीझरिया(हजारीबाग) जहां एक ओर इंसान कोरोना के संक्रमण से जूझ रहा है, वहीं दूसरी ओर जंगली जानवरों के जान पर भी आफत बन आयी है। यह समस्या महुआ चुनने वाले लोगों के जंगल मे आग लगा देने के बाद से उत्पन्न हुई है। अब जंगल में आग तेजी से फैलता जा रहा है। आग लगने से जहां एक ओर जंगल में लगी बेशकीमती लकड़ियां जल रही हैं। वहीं इससे बचने के लिए हिरण व खरगोश सहित अन्य जंगली जानवर जंगल छोड़कर गांव की ओर भाग रहे हैं। जहां इनके बचने की सम्भावना कम और इनके शिकार होने की सम्भावना बढ़ जाती है। अगर समय रहते आग पर काबू नही पाया गया तो न सिर्फ पर्यावरण को नुकसान होगा बल्कि हरे भरे पेड़ों के साथ पशु पक्षी भी काल के गाल में समा जाएंगे। टाटीझरिया के बांडीह में 20 एकड़ वन क्षेत्र आग दहक रहा है। इसके अलावा कोल्हू, बेडम, टाटी, मूरकी, हटवे, खैरा, नारायणपुर, बेडमक्का, डुमर, धरमपुर, मुरूमातु, गोधिया, झरपो के साथ-साथ वन पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रख्यात दूधमटिया वन भी आग के आगोश में समाया हुआ है। टाटीझरिया प्रखंड के इन गांवों में स्थित जंगल में लगी आग ने हरे भरे पेड़ों को अपनी चपेट में ले लिया है। बताया जा रहा है कि लोग महुआ चुनने को लेकर सूखे पत्तों में आग लगा दे रहे हैं। जिससे आग जंगल पेड़ों को अपनी चपेट में ले रहा है। आग पर अगर प्रशासन व वन विभाग ने तत्काल काबू नही पाया तो पूरा जंगल क्षेत्र आग की चपेट में आ जाएगा। ग्रामीण प्रकाश प्रजापति, परमेश्वर प्रसाद यादव, अजय सिंह, शैलेश सिंह, कैलाशपति सिंह कह रहे हैं कि ग्रामीण महुआ चुनने को लेकर सूखे पत्ते में आग लगा दे रहे हैं इससे आग पूरे जंगल में फैल रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.