मतांतरण को लेकर सनातन धर्मालंबियों ने भरी हुंकार

संवाद सहयोगी हजारीबाग मतांतरण को लेकर वैदिक सनातन धर्म के अंतर्गत आने वाले विभिन्न जाति क

JagranSun, 26 Sep 2021 08:42 PM (IST)
मतांतरण को लेकर सनातन धर्मालंबियों ने भरी हुंकार

संवाद सहयोगी, हजारीबाग : मतांतरण को लेकर वैदिक सनातन धर्म के अंतर्गत आने वाले विभिन्न जाति के समूहों ने सशक्त प्रतिकार करने का फैसला लिया है। मुंद्रिका कुंज सभागार में रविवार को आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में यह संकल्प सनातन समाज के 42 विभिन्न जातियों के जिलाध्यक्ष, विभिन्न धार्मिक संगठनों के प्रमुखों ने लिया है। दीप प्रज्वलित कर संकल्प करने वाले सनातन धर्म को मानने वाले लोगों ने धर्मातरण से जुड़े मामलों में सक्रिय होकर सिर्फ विरोध हीं नहीं करने का संकल्प लिया बल्कि उसे फलीभूत कराने वाले लोगों के खिलाफ साम दाम दंड भेद की नीति अपनाई जाएगी। प्रारंभ भारत माता के तस्वीर पर पुष्पार्चन कर हुआ। बतौर मुख्य वक्ता आरएसएस के क्षेत्र संर्पक प्रमुख अनिल ठाकुर ने मतांतरण के स्वरुप पर विस्तार से जानकारी दी और धर्म की रक्षा करने को कहा। बताया कि धर्म की रक्षा करेंगे तभी धर्म हमारी रक्षा करेगा। कहा पूरे भारत एवं राज्य की स्थिति आज मतांतरण से अछूता नहीं है। मतांतरण पूरे देश की समस्या है। स्थिति आज यह है कि लोग सिर्फ राजनीति के दृष्टिकोण से अपने आप को पांच वर्षों के लिए सोचते हैं लेकिन जरूरत है पूरे पीढ़ी की। कार्यशाला को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम सब लोगों को हाथ से हाथ मिलाकर चलना होगा। हजार वर्षो की गुलामी के बाद अपने लोग आज पीछे छूट गए हैं इसके लिए हम सभी जिम्मेवार हैं। सभी अपने-अपने साधना की पद्धति अपनाकर जीवन जी रहे हैं जो कमियां रह गई है उसे दूर करना होगा। उन्होंने कहा कि एक समय था जब पढ़ाई बड़े लोगों के घर होकर रह गई थी आज समाज में बदलाव आया है और गरीब का भी बच्चा उच्च शिक्षा प्राप्त कर उचित स्थान पर जा सकता है। यूपीएससी में मजदूर का बेटा जिस प्रकार से सफलता हासिल की यह समाज के लिए प्रेरणादायक साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि मतांतरण से आज कोई भी जाति अछूता नहीं है। लव जिहाद उच्च वर्गों में प्रवेश कर चुका है इस पर रोक लगाने की जरूरत है। गुमला लोहरदगा और सिमडेगा क्षेत्र में मतांतरण के विरुद्ध अभियान चलाने वाले हिदू जागरण मंच के प्रांत परातर्वन प्रमुख संजय वर्मा ने कहा कि हिदू धर्म आज शून्य हो गया है । गुमला में धर्म के नाम पर अराजकता फैली हुई है। मतांतरण चरम पर है । उन्होंने कई उदाहरण और सत्य घटनाओं का जिक्र कर मतांतरण और अपने धर्म में बने रहने वालों लोगों की जानकारी दी। बताया कि उच्च वर्ग के लोग जमीन दान देकर चर्च बनवा रहे है। बताया कि चंगाई सम्मेलन के नाम पर लोगों को गुमराह किया जा रहा है। कार्यक्रम में तैलिक समाज की शीला साहू कुमार, केशव संतोष रविदास, ओम प्रकाश, अमित मिश्रा, विशाल बाल्मीकि, गुरुदेव कुमार गुप्ता, अमरदीप यादव, रोहित राम, पवन खंडेलवाल रंजन चौधरी, महिद्र बैक, रामप्रसाद शर्मा , राज सिंह चौहान , फलाहारी बाबा, भैया मुकेश, इस्कान के श्याम प्रभू, आर्य समाज के आचार्य कौटिल्य, मंजू मिश्रा, दशरथ राणा आदि ने अपने विचार प्रकट किए। कार्यक्रम का संचालन चंदन मेहता, अरबिद राणा व धन्यवाद ज्ञापन गौरव सहाय ने किया। आयोजन को सफल बनाने प्रेम प्रसाद राणा, मनमीत अकेला, महेश कुमार, बृजेश बबलू कुम, भोला राणा, रवि रंजन, शत्रुघ्न पांडे, अश्वनी कुमार, हिरा राम, महेश रविदास, ब्रजेश कुमार, विशाल कुमार, संतोष यादव, सुदामा राम, राकेश कुमार, विगो यादव सहित कई लोग शामिल थे। कार्यशाला में सार्वजनिक हुई मतांतरण सूची : सामाजिक समरसता के समारोह में जिले में चल रहे मतांतरण का खेल, उसमें शामिल लोग, प्रार्थना सभा का स्थल और संत्संग के नाम पर पदमा के अडार, चम्पाडीह, आराभुसाई, जिहू, बरही, चौपारण, बरकटठा, बरही, इचाक के रहिया, डुमरौन, बरियठ, चंदा, तिलरा, नावाडीह, इचाक मोड़, सदर प्रखंड के सिदूर, चुरचू, नगवां, सिलवार कलां, खूर्द, अम्बाडीह, दारु, कटकमसांडी, कटकमदाग के बारे में जानकारी दी गयी। तय किया गया कि इनके साथ कड़ाई से निपटा जाएगा। समारोह में सूची सार्वजनिक कर सर्वे रिपोर्ट बताया गया। रिपोर्ट के अनुसार कुशवाहा, तेली समाज, मेहता, यादव, रविदास, भुईयां समाज में सबसे अधिक मतांतरण के सबसे अधिक जद में है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.