गोड्डा में ऑक्सीजन की कमी से तीन कोरोना संक्रमितों की मौत

गोड्डा में ऑक्सीजन की कमी से तीन कोरोना संक्रमितों की मौत

जासं गोड्डा जिला में कोरोना की दूसरी लहर में हर दिन संक्रमित मरीजों की संख्या में इज

JagranMon, 19 Apr 2021 12:38 AM (IST)

जागरण संवाददाता, गोड्डा : कोरोना की दूसरी लहर कहर बरपा रही है। शनिवार की रात शहर के संजीवनी नर्सिग होम में ऑक्सीजन नहीं मिलने से दो बुजुर्ग व एक अधेड़ महिला ने दम तोड़ दिया। तीनों सदर प्रखंड के निवासी थे।

सदर अंचलाधिकारी प्रदीप शुक्ला ने बताया कि संजीवनी अस्पताल में शनिवार को ऑक्सीजन की किल्लत हो गई थी। सिविल सर्जन डॉ. एसपी मिश्रा ने बताया कि संक्रमित की रिकवरी ऑक्सीजन प्रेशर से ही संभव है। ऐसे में ऑक्सीजन के छोटे सिलेंडर से जान नहीं बच पाती। गंभीर मरीजों को बड़े सिलेंडर से अधिक दबाव के साथ ऑक्सीजन देने की आवश्यकता होती है। निजी अस्पतालों को अपनी व्यवस्था के अनुसार ही मरीजों को एडमिट करना चाहिए। शनिवार को दिन में सनराइज अस्पताल में भी एक युवक की मौत ऑक्सीजन की कमी से हो गई थी। जिले में अप्रैल में ही दस लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार को जांच में 55 नए संक्रमितों की पहचान हुई। जिले में सक्रिय मामले 302 हो गए हैं।

जिला में कोरोना की दूसरी लहर में हर दिन संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। रविवार को कोरोना से सदर प्रखंड के तीन संक्रमितों की मौत हो गई। वहीं 55 नए संक्रमितों की पहचान हुई इसमें कई सरकारी विभागों के कर्मी भी शामिल हैं। देर शाम सिविल सर्जन डॉ एसपी मिश्रा ने कहा कि जांच में कोरोना के 55 नए पॉजिटिव केस मिले हैं। बता दें कि जिले में अब तक कोरोना से दस लोगों ने अपनी जान गंवाई है। वहीं गत वर्ष यहां दस लोगों की मौत हुई थी। रविवार को यहां 40 लोगों ने कोरोना को मात भी दी है। बताया कि जिले में सक्रिय मामलों की संख्या 302 हो गई है।

उपायुक्त भोर सिंह यादव ने कहा है कि कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को लेकर राज्य सरकार की ओर से जो नई गाइडलाइन जारी की गई है, उसका कड़ाई से अनुपालन हर नागरिक को करना होगा। आम लोगों से अपील की कि राज्य सरकार की जारी गाइडलाइन का अक्षरश: अनुपालन करें। यह जनता की सुरक्षा के मद्देनजर जरूरी भी है। घर से बाहर निकलते समय मास्क, समय-समय पर सैनिटाइजर का इस्तेमाल एवं सबसे जरूरी दो गज की दूरी (पारस्परिक दूरी) का पालन करना है।

------------------

शादी समारोह में 50 लोगों को ही अनुमति

कहा कि सभी स्कूल-कॉलेज, कोचिग संस्थान, आंगनबाड़ी केंद्र, आइटीआइ, ट्रेनिग सेंटर को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। शादी विवाह के आयोजनों में 200 की जगह 50 लोग ही उपस्थित हो सकेंगे। राज्य के अंदर होने वाली सभी परीक्षाएं अगले आदेश तक रद कर दी गई है। सरकार की पहली प्राथमिकता इस महामारी से जानमाल की रक्षा करना है। जिला प्रशासन की ओर से कोरोना मरीजों के इलाज के लिए लगातार पैनी नजर रखी जा रही है। निजी अस्पतालों पर प्रशासनिक टीम मॉनिटरिग कर रही है। हर परिस्थिति में कोविड मरीजों को बेहतर चिकित्सीय सुविधा दिलाना प्रशासन की प्राथमिकता है। उन्होंने आम लोगों से अधिक से अधिक कोविड टेस्ट कराने और 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोविड रोधी टीका पर जोर दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.