बनियाडीह में 22 दिनों से जलापूर्ति बंद, 10 हजार की आबादी परेशान

बनियाडीह (गिरिडीह) सीसीएल क्षेत्र के जोगटियाबाद चानक का मोटर जल जाने से बनियाडीह कोलिय

JagranFri, 23 Jul 2021 06:32 PM (IST)
बनियाडीह में 22 दिनों से जलापूर्ति बंद, 10 हजार की आबादी परेशान

बनियाडीह (गिरिडीह) : सीसीएल क्षेत्र के जोगटियाबाद चानक का मोटर जल जाने से बनियाडीह कोलियरी क्षेत्र में पिछले 22 दिनों से जलापूर्ति बंद है। इससे जहां क्षेत्र के लगभग दस हजार की आबादी के समक्ष पेयजल संकट उत्पन्न हो गया है तो वहीं लोग बरसात के दिनों में नदी नाले का पानी पीने को विवश हैं। इससे क्षेत्र में डायरिया फैलने का खतरा मंडराने लगा है। यहां के अधिकारियों की लापरवाही से इतने दिन बीत जाने के बाद भी उक्त चानक से जलापूर्ति शुरू नहीं हो पाई है। इधर यूनियन नेताओं एवं राजनीतिक दल के नेताओं की चुप्पी भी रहस्यमय बनी हुई है। जोगटियाबाद चानक के अलावा क्षेत्र में पेयजल के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं रहने से लोगों को बरसात में भारी परेशानी हो रही है।

इन इलाकों में बंद है जलापूर्ति: जलापूर्ति बंद रहने से बनियाडीह, गांधीनगर, प्रेमनगर, कोपा, अस्पताल, वर्कशाप, अपर बनियाडीह, सीसीएल आवसीय कालोनी ए एवं बी टाइप, सीसीएल महाप्रबंधक कार्यालय, मध्य विद्यालय बनियाडीह, हाई स्कूल आदि क्षेत्र में पेयजल के लिए हाहाकार मचा हुआ है।

-------------

जलापूर्ति बंद रहने से बनियाडीह के लोग इधर उधर से गंदा पानी लाकर पीने को विवश हैं। इससे बरसात के दिनों में क्षेत्र में डायरिया फैलने का भय बना हुआ है। पानी के लिए ज्यादा हल्ला गुल्ला करने पर केस दर्ज होने के भय से लोग आंदोलन भी नहीं कर पा रहे है। यहां अफसरशाही हावी है। इससे जनता डरी हुई है।

-मुन्ना सिंह, ग्रामीण, बनियाडीह

------------------------

-पानी के लिए आंदोलन करनेवाले लोगों ने ही अपने अपने घरों में डीप बोरिग लगवा ली है। गरीबों के लिए पानी की व्यवस्था करने के लिए आंदोलन कौन करेगा। सबसे ज्यादा परेशानी गरीबों को हो रही है। वे लोग इधर उधर का प्रदूषित जल पीने को विवश हैं। इससे लोग बीमार पड़ रहे हैं। संबंधित विभाग के अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।

-बबलू सरकार, समाजसेवी, बनियाडीह

------------------------

-उक्त चानक से जलापूर्ति बंद रहने से क्षेत्र में बीते तीन सप्ताह से जलापूर्ति बंद है। कोयला खदान रहने के कारण अधिकांश चापाकल भी खराब पड़े हैं। यहां कुओं की संख्या नगण्य है। अधिकांश लोग शिव मंदिर के पास स्थित झरना से पीने के पानी का जुगाड़ कर रहे हैं। लोगों को पेयजल की व्यवस्था करने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।

-सचिन लाहा, ग्रामीण, बनियाडीह

------------------------

-बनियाडीह में बरसात के दिनों में भी पानी का जुगाड़ करने में लोग पसीना बहा रहे हैं। सुखी संपन्न परिवार के लोग खरीदकर स्वच्छ पानी पी रहे हैं। गरीब परिवार के लोग इधर उधर से लाकर गंदा पानी पीने को विवश हैं। इतने दिन बीत जाने के बाद भी जलापूर्ति करवाने में स्थानीय विधायक, सांसद एवं मुखिया की चुप्पी भी रहस्यमय बनी हुई है।

-नरेश यादव, ग्रामीण, बनियाडीह

------------------------

कोट

सीसीएल के जोगटियाबाद चानक का केबल पंक्चर रहने से मोटर शाट कर गया है। इसकी मरम्मत बनियाडीह वर्कशाप में चल रही है। मोटर को मरम्मत होने के बाद जल्द ही उक्त चानक में लगाकर जलापूर्ति शुरू कराई जाएगी।

एनके सिंह, प्रोजेक्ट इंजीनियर, गिरिडीह कोलियरी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.