साइबर अपराधियों का होगा सामाजिक बहिष्कार

साइबर अपराधियों का होगा सामाजिक बहिष्कार
Publish Date:Sat, 19 Sep 2020 08:44 PM (IST) Author: Jagran

गांडेय(गिरिडीह) : साइबर अपराध से हो रही परेशानी व बदनामी को देखते हुए शनिवार को गांडेय थाना क्षेत्र के रकसकुटो गांव में ग्रामीणों ने सामाजिक बैठक की। बैठक में ग्रामीण के साथ-साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों व पुलिस पदाधिकारी भी शामिल हुए। बैठक में आपसी चर्चा के बाद संयुक्त रूप से साइबर अपराधियों पर आर्थिक दंड लगाते हुए सामाजिक बहिष्कार का निर्णय लिया गया। साथ ही उसकी सूचना थाना को भी देने पर सहमति बनी। वहीं साइबर अपराधियों पर निगरानी के लिए पांच व्यक्तियों की एक कमेटी का गठन किया गया। कमेटी में साइबर एक्सपर्ट को भी रखा गया है। साइबर अपराध करते पकड़ने वालों को पांच हजार रुपया पुरस्कार के रूप में देने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में ग्रामीणों ने साइबर अपराध नहीं करने की शपथ भी ली।

बैठक में उपस्थित भाजपा नेता यदुनंदन पाठक ने कहा कि यह केवल अपराध नहीं वरन एक बड़ी सामाजिक बुराई है। इससे संबंधित अपराधी के साथ-साथ उसके परिवार गांव की भी बदनामी होती है। साथ ही आनेवाली पीढ़ी भी इसके चपेट में आ रही है। उन्होंने सभी लोगों से इसे छोड़कर मुख्य धारा से जुड़कर रोजगार व मेहनत मजदूरी कर जीविकोपार्जन करने की अपील की। मुखिया प्रतिनिधि मो शाकिर ने कहा कि पूर्व में भी गांव में साइबर अपराध को रोकने के लिए बैठक हुई थी। उसके बाद से इसमें कुछ कमी आई है। परंतु कुछ लोग अभी भी इस अपराध से जुड़े हुए हैं जिससे गांव के साथ-साथ पंचायत की भी बदनामी हो रही है। उन्होंने ग्रामीणों से इसपर हर हाल में रोकथाम करने की अपील की। एएसआई यूसुफ मलिक ने कहा कि ग्रामीण जागरूक होकर साइबर अपराध करनेवालों पर लगाम कसें अन्यथा प्रशासन उनसे सख्ती से निपटेगी। बैठक में उप प्रमुख मो. अकबर अंसारी, जयनारायण मंडल, बबलू कुमार, राजेश मंडल, पंकज मंडल, बैजनाथ मंडल, भूषण मंडल, पप्पू कुमार, भोला मंडल, रंजीत मंडल, सिकंदर मंडल, राजकुमार मंडल समेत दर्जनों ग्रामीण उपस्थित थे।

- रकसकुटो के ग्रामीणों ने बैठक कर साइबर अपराध नहीं करने का निर्णय लिया है। वहीं दुबारा साइबर अपराध करनेवाले को आर्थिक व सामाजिक दंड लगाते हुए प्रशासन को सूचित करने का निर्णय लिया है। साइबर अपराध से गांव समाज की बदनामी हो रही है। ग्रामीणों में जागरूकता होने से साइबर अपराध में लगाम लगेगी।

- प्रदीप कुमार दास, थाना प्रभारी गांडेय।

-------------

साइबर आरोपित की तलाश में गांडेय पहुंची महाराष्ट्र पुलिस बैरंग लौटी

संवाद सहयोगी, गांडेय (गिरिडीह) : महाराष्ट्र में एक व्यक्ति के खाते से राशि टपाने के मामले में गुरुवार को महाराष्ट्र के पुणे सिटी स्थित चंदननगर थाने की पुलिस गांडेय पहुंची। यहां गांडेय पुलिस की सहायता से टीम ने थाना क्षेत्र के मरगोडीह और चंपापुर में छापेमारी की। इस दौरान सभी आरोपित घर से फरार मिले। इस कारण महाराष्ट्र पुलिस बैरंग वापस लौट गई। महाराष्ट्र के पुणे सिटी स्थित चंदननगर थाना क्षेत्र के एक व्यक्ति के अंजान फोन रिसीव करने पर उसके खाते से पांच लाख रुपये की अवैध निकासी हो गई। यह घटना तब हुई जब भुक्तभोगी अपनी पत्नी के हार्ट सर्जरी के लिए खाते में जमा राशि के भुगतान को लेकर अस्पताल जा रहा था। इसी बीच रास्ते में ही उनके पैसे को साइबर आरोपितों ने टपा लिया। इसे लेकर भुक्तभोगी ने चंदननगर थाने में मामला दर्ज कराया था। मामले को लेकर चंदननगर थाने के पुलिस इंस्पेक्टर प्रकाश पासलकर ने गांडेय पहुंचकर छापेमारी की। इस मामले में मरगोडीह का एक एवं चंपापुर का दो आरोपित शामिल है। फिलहाल सभी आरोपित घर से फरार हैं। छापेमारी में गांडेय थाना के एसआई अभिषेक कुमार और एएसआई यूसुफ मलिक समेत पुलिस शामिल थी। उक्त तीनों आरोपितों ने लॉकडाउन में लगभग 40 लाख का फर्जी ट्रांजेक्शन किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.