युवक की हत्या मामले में अज्ञात पर होगी प्राथमिकी

युवक की हत्या मामले में अज्ञात पर होगी प्राथमिकी

पीरटांड़ खरपोका के 22 वर्षीय हबीबुल्लाह की हत्या मामले में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ ही

JagranMon, 17 May 2021 07:46 PM (IST)

पीरटांड़ : खरपोका के 22 वर्षीय हबीबुल्लाह की हत्या मामले में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ ही मामला दर्ज होगा। मृतक के पिता ने खुखरा थाना को दिए आवेदन में किसी का भी नाम नहीं लिया है, इसलिए फिलहाल पुलिस अज्ञात के खिलाफ ही मामला दर्ज करने में जुट गई है। सोमवार सुबह खेत में शव मिलने के बाद तरह-तरह की हो रही सभी चर्चाओं पर शाम को विराम लग गया। हत्यारों के बचने की भी संभावना बढ़ गई है।

थाना प्रभारी शोमा उरांव ने देर शाम बताया कि मृतक के पिता अख्तर अंसारी ने आवेदन में किसी का नाम नहीं लिया है। उसने अपने बयान में कहा है कि रविवार रात घर से निकलने के बाद 11 बजे तक जब उसका बेटा हबीबुल्लाह घर नहीं लौटा तो घरवाले सो गए। सुबह उसे पता चला कि उसका शव खेत में पड़ा मिला है। बहरहाल, पुलिस फिलहाल किसी भी प्रकार के संदेह से भी इन्कार कर रही है।

बता दें कि जब खेत में शव मिला था तब वहां सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। लोग चर्चा में बता रहे थे कि वह फलां के घर रोज जाता था। उसका किसी से विवाद था। प्रेम प्रसंग की भी चर्चा थी, लेकिन जब थाना को आवेदन देने की बारी आई, तो अज्ञात के खिलाफ आवेदन दिया गया, जिससे मामले में बड़ी कार्रवाई पर विराम लगते दिख रहा है।

कई बिदुओं पर जांच की जरूरत :

हबीबुल्लाह की हत्या मामले में स्वजनों ने भले ही किसी पर शक जाहिर नहीं किया है या आरोप नहीं लगाया है, लेकिन शव देखने से जो प्रतीत हो रहा है उससे कई प्रकार के सवाल खड़े हो रहे हैं। हालांकि कोई खुलेआम इस तरह तो नहीं बता रहा है, लेकिन स्थानीय लोगों का मानना है कि प्राइवेट पार्ट काटने की घटना जहां-जहां हुई है, वहां प्रेम प्रसंग या अवैध संबंध का ही मामला सामने आया है। यहां भी अगर ठीक से मामले की जांच हुई तो मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हो सकता है। पुलिस को मृतक के मोबाइल के कॉल डिटेल, पत्नी के बयान आदि पर जांच करनी चाहिए। कार्रवाई करवाने से डरते हैं क्षेत्र के लोग :

खुखरा थाना में क्षेत्र से बहुत कम ही मामले आते हैं। जो बड़े मामले आते हैं वे थाना तक आते-आते सुलहनामा में बदल जाते हैं। थाना क्षेत्र के हरलाडीह, जमुआटांड़, तुईओ, बदगांवा, बरियारपुर, खरपोका आदि गांवों में घटी कई प्रकार की घटनाओं की सूचना पुलिस को नहीं दी जाती है। आवेदन नहीं मिलने पर पुलिस भी नहीं चाहती कि जनता के निर्णय पर अड़चन डाला जाए। खम्भरबाद में महिला की मौत, बरियारपुर में छेड़खानी उसके बाद युवती की हत्या, दो पक्षों के बीच मारपीट की घटना, बहादुरपुर गांव में रंगलेलिया मनाते पकड़ाने की घटना, लकड़ी लदे वाहन पकड़ाने की घटना, ट्रैक्टर से कुचलकर मौत की घटना इस तरह दर्जनों घटनाएं हुई पर कोई बड़ी पुलिसिया कार्रवाई नहीं हुई। थाना तक मामला आने के बाद सुलह हो जाता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.