बच्चो को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दे रहे सरकारी विद्यालयों के शिक्षक

गिरिडीह झारखंड स्टेट प्राइमरी टीचर्स एसोसिएशन की वर्चुअल बैठक मंगलवार को हुई जिसमे

JagranTue, 14 Sep 2021 05:08 PM (IST)
बच्चो को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दे रहे सरकारी विद्यालयों के शिक्षक

गिरिडीह : झारखंड स्टेट प्राइमरी टीचर्स एसोसिएशन की वर्चुअल बैठक मंगलवार को हुई, जिसमें संघ के महासचिव मंगलेश्वर उरांव ने कहा कि सरकारी विद्यालयों के शिक्षक निरंतर परिश्रम और लगन के बल पर शैक्षणिक कार्यों के अतिरिक्त गैर शैक्षणिक कार्य करते आ रहे हैं। विभाग व सरकार ने शिक्षकों को जनगणना, पशु गणना, निर्वाचन, राशन वितरण, कोरोना काल में चेक पोस्ट पर ड्यूटी, अस्पताल में ड्यूटी व अन्य क्षेत्रों में प्रतिनियुक्त किया गया, जहां उन्होंने पूरी तन्मयता और निष्ठा के साथ काम किया। इसके अलावा आनलाइन शिक्षा, घर-घर शिक्षा, मोहल्ला शिक्षा, घर-घर पुस्तक, चावल व किट वितरण जैसे महत्वपूर्ण कार्यों का निष्पादन करते आ रहे हैं। शैक्षणिक गतिविधियों के तहत गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में सरकारी विद्यालयों के शिक्षक पूरी लगन और निष्ठा के साथ बच्चों को शिक्षा देकर उन्हें एक अच्छे नागरिक बनाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। सरकारी विद्यालयों की पढ़ाई से प्रभावित होकर निजी विद्यालयों के बच्चे सरकारी स्कूलों में नामांकन करा रहे हैं।

बैठक में संघ का सांगठनिक चुनाव व सदस्यता अभियान पर जोर दिया गया। सभी जिलाध्यक्ष, प्रधान सचिव तथा प्रखंड अध्यक्ष व सचिव से सघन सदस्यता अभियान चलाकर कमेटी गठन करने व विभागीय पदाधिकारियों से मिलकर शिक्षकों की लंबित समस्याओं का निष्पादन कराने की बात कही गई। कहा गया कि एसोसिएशन की राज्य स्तरीय बैठक अक्टूबर माह में गुमला जिला में प्रस्तावित है, जिसमें शिक्षक हित में कई निर्णय लिए जाने हैं।

बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष अशोक कुमार मिश्रा व संचालन प्रदेश मीडिया प्रभारी परमानंद महतो ने किया। संयुक्त सचिव मदन कुमार रत्न, राज्य संयोजक राजेश कुमार मिश्र आदि ने विचार व्यक्त किए। मौके पर मुकेश कुमार, उप महासचिव जीवन तिवारी, जेरोम चेरमाको, गिरिडीह जिला अध्यक्ष दीपक कुमार, प्रधान सचिव मुनचुन अंसारी ,नदीम परवेज के अलावा बसंत ठाकुर, सुलेमान एक्टर, जीवन नाथ तिवारी, अनिल कुमार पांडेय, माया मरियम हांसदा, सुनीता गुप्ता आदि शामिल हुए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.