बिजली संकट पर सरिया-बगोदर में भड़का जनाक्रोश

जागरण टीम, सरिया/बगोदर (गिरिडीह) : बिजली संकट से त्रस्त सरिया एवं बगोदर के लोगों का आक्र

JagranFri, 31 Aug 2018 08:10 PM (IST)
बिजली संकट पर सरिया-बगोदर में भड़का जनाक्रोश

जागरण टीम, सरिया/बगोदर (गिरिडीह) : बिजली संकट से त्रस्त सरिया एवं बगोदर के लोगों का आक्रोश फूटने लगा है। सरिया के आक्रोशित लोगों ने जहां बिजली पावर हाउस पर जमकर हंगामा किया वहीं बगोदर के व्यवसायियों ने शनिवार को बगोदर बंद की अपील की है। बंद को सफल बनाने के लिए बगोदर में व्यवसायियों ने शुक्रवार को जुलूस निकाला।

सरिया : बिजली की लचर व्यवस्था के खिलाफ सरिया की जनता एक मंच पर आई। इसे लेकर शुक्रवार को दोपहर तीन बजे से छह बजे तक विद्युत पावर हाउस में जमकर हंगामा किया गया। भाकपा माले के प्रखंड सचिव भोला मंडल के नेतृत्व में लोगों ने जमकर नारेबाजी की। वहीं वर्तमान में 24 घंटे में 10 घंटे बिजली की आपूर्ति किए जाने को लेकर कार्यालय स्थित विद्युतकर्मियों से बातचीत की गई। वहां विद्युत विभाग के कर्मचारियों ने कहा कि डीवीसी से विद्युत की सप्लाई कम की जा रही है जिस कारण इसकी आपूर्ति में बाधा हो रही है। भोला मंडल ने कार्यपालक अभियंता बिजली विभाग से दूरभाष पर बातचीत भी की जहां उन्होंने आश्वासन दिया कि 10 सितंबर तक 10 घंटे बिजली की आपूर्ति की जाएगी। वहीं 11 सितंबर से 18 से 20 घंटे तक बिजली दी जाएगी। उपस्थित लोगों ने कहा कि अधिकारियों के आश्वासन पर ही जनता आज तक जीवित हैं। यदि विभागीय अधिकारी अपने दिए गए आश्वासन पर खरे नहीं उतरते हैं तो हम विद्युत उपभोक्ता तालाबंदी को बाध्य होंगे जिसकी सारी जवाबदेही संबंधित अधिकारियों की होगी। मौके पर विजय ¨सह, महेंद्र मंडल, विशाल गंभीर, संजय मोदी, लक्ष्मण मंडल, हारून रसीद, कुश कुमार, रामदेव यादव, शाकिर अंसारी, जिम्मी चौरसिया समेत दर्जनों लोग मौजूद थे।

बगोदर : बगोदर में लचर बिजली व्यवस्था के खिलाफ व्यावसायिक संघ ने शनिवार को संपूर्ण बगोदर बंद की अपील की है। शुक्रवार की शाम संघ ने जुलूस निकाला। जुलूस में शामिल लोग अपने हाथों में तख्तियां लिये हुए नारा लगा रहे थे। इसमें बगोदर में लचर बिजली व्यवस्था में अविलंब सुधार करे, बिजली विभाग के भ्रष्ट अधिकारी होश में आएं, सड़े गले तार व पोल को अविलंब बदलने संबंधी नारे लगा रहे थे। जुलूस में व्यवसायिक संघ के अध्यक्ष दिलीप साव, सचिव सुनील स्वर्णकार, मनु साव, भारत गुप्ता, संगु कुमार, गुडू रहमान, संदीप गुप्ता, दुर्गा राणा समेत दर्जनों लोग शामिल थे।

-------

भाजयुमो जिलाध्यक्ष ने एमडी को बिजली संकट से कराया अवगत

गिरिडीह : बगोदर सहित पूरे गिरिडीह जिले में व्याप्त बिजली समस्या को लेकर भाजयुमो जिलाध्यक्ष आशीष कुमार बोर्डर के नेतृत्व में बिजली बोर्ड के एमडी राहुल पुरवार से एक प्रतिनिधिमंडल ने मिलकर व्याप्त बिजली समस्या से उन्हें अवगत कराया। उन्होंने कहा कि कुछ टेक्निकल कारणों से डीवीसी का उत्पादन अभी आधा हो गया है। एक-दो दिनों में वह ठीक हो जाएगा। यह समस्या परमानेंट नहीं है। कहा कि गिरिडीह जिले में 3 पावर सब स्टेशन का निर्माण होना है जो जमुआ, राजधनवार और सरिया में होगा। उसके बाद बिजली की सभी समस्या का समाधान हो जाएगा। सरिया पावर स्टेशन के शिलान्यास के संबंध में उन्होंने कहा कि बोर्ड ने फोरेस्ट विभाग को एक साल पहले ही पेमेंट कर दिया था लेकिन वह पैसा गलती से दूसरे अकाउंट में चला गया। अभी पैसा वापस आ गया है। बहुत जल्द ही सरिया पावर स्टेशन का शिलान्यास होगा। बिरनी में 24 घंटे में से मात्र 4 घंटे बिजली मिलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह समस्या भी जल्द ही ठीक हो जाएगी।

------

डीवीसी की कटौती से बिजली संकट : अभियंता

डुमरी : विद्युत विभाग के सहायक अभियंता स्वरूप बक्शी ने शुक्रवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बाधित हो रही बिजली समस्या के कारणों को उल्लेखित किया है। लिखा है कि झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड विद्युत आपूर्ति के लिए पूरी तरह डीवीसी पर निर्भर है। डीवीसी के अधिकारियों से वार्ता करने से पता चला है कि वर्तमान में कोयले की कमी के कारण डीवीसी का विद्युत उत्पादन सामान्य से कम हो गया है जिससे डीवीसी को बिजली आपूर्ति में कटौती करनी पड़ रही है। कटौती दिन भर में औसतन सात से आठ घंटे की जा रही है। डीवीसी की कटौती के बाद विभाग को जो बिजली मिलती है उससे एक बार में सभी फीडरों में विद्युत आपूर्ति एक साथ चालू करना सभंव नहीं हो पाता है जिस कारण कुछ फीडरों में लोड शे¨डग करनी पड़ती है। लिखा है कि फीडर चालू होते ही सभी उपभोक्ता बिजली का उपयोग एक साथ करते हैं जिस कारण कभी ग्यारह केवीए व तैंतीस केवीए का जंफर कट जाता है तो कभी तार गिर जाता है। इससे भी विद्युत आपूर्ति बाधित हो जाती है। लिखा है इस समस्या को दूर करने के लिए जेएसबीएवाइ योजना के तहत लंबी दूरी के फीडरों को छोटा करने के लिए जगह जगह विद्युत आपूर्ति की जा सकेगी। योजना अक्टूबर माह से प्रारम्भ होने जा रही है। इसके अतिरिक्त जेएसबीएबीवाइ-टू अतिरिक्त योजना के तहत जर्जर तार एवं इंसुलेटर को बदला जाना है। यह योजना जनवरी 2019 से प्रारंभ हो जाएगी। लिखा है कि डीवीसी की बिजली कटौती की समस्या समाप्त होते ही क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था पूर्व की भांति सामान्य हो जाएगी।

---------

बिजली संकट से पूरा जिला

कर रहा त्राहिमाम : विनोद

बगोदर : बगोदर के पूर्व विधायक विनोद कुमार ¨सह ने कहा कि एक ओर रघुवर सरकार लोगों को 24 घंटे बिजली देने की बात कह रही है तो वहीं बगोदर विधानसभा को पहले की तुलना में कम बिजली मिल रही है। कहा बिजली संकट से बगोदर विधानसभा ही नहीं बल्कि पूरा •िाला त्राहिमाम कर रहा है। उन्होंने कहा कि डीवीसी से चार वर्ष पूर्व जो करार हुआ था उसके मुताबिक प्रतापपुर फीडर को 40 मेगावाट बिजली की आपूर्ति डीवीसी करता है जबकि इन चार वर्षों में इस फीडर की क्षमता काफी बढ़ी है और नियमित बिजली के लिए 60 मेगावाट से भी ज्यादा बिजली की आवश्यकता है। उस पर अभी डीवीसी की कटौती की जा रही है। सांसद-विधायक बिजली विभाग के कनीय कर्मचारियों की ¨खचाई करने के बजाय विद्युत विभाग के वरीय अधिकारी और डीवीसी को नियंत्रित करे और उससे करार बढ़ाएं ताकि प्रतापपुर फीडर को डीवीसी को 60 मेगावाट से ज्यादा बिजली मिल सके। इससे बगोदर विधानसभा सहित अन्य जगहों पर नियमित बिजली की आपूर्ति हो सकेगी।

------

व्यवसायिक संघ के बंद

का समर्थन करेगी माले

बिजली की लचर व्यवस्था के खिलाफ व्यवसायिक संघ के शानिवार की आहुत बगोदर बाजार बंद का भाकपा माले, आइसा, इंकलाबी नौजवान सभा और एपवा समर्थन करती है। उक्त जानकारी भाकपा माले राज्य कमेटी सदस्य परमेश्वर महतो व इंकलाबी नौजवान सभा के राष्ट्रीय परिषद सदस्य संदीप जायसवाल ने दी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.