हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए बाबूलाल ने मुख्य सचिव को लिखा पत्र

गिरिडीह तिसरी थाना क्षेत्र के व्यवसायी बंधुओं की अपहरण के बाद हत्या करने के मामले में श्

JagranSat, 24 Jul 2021 01:29 AM (IST)
हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए बाबूलाल ने मुख्य सचिव को लिखा पत्र

गिरिडीह : तिसरी थाना क्षेत्र के व्यवसायी बंधुओं की अपहरण के बाद हत्या करने के मामले में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। यह पत्र भाजपा विधायक दल के नेता सह सूबे के पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने लिखकर आवश्यक कार्रवाई करने व सहायता देने की मांग की है। पत्र के माध्यम से अपहरण व हत्या में शामिल अपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार करने, कड़ी से कड़ी सजा दिलाने, दोनों मृतकों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने, वृद्ध मां व पिता समेत पत्नी को पेंशन देने, मृतकों के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपये पारिवारिक सहायता देने व परिवार के सदस्यों को रहने के लिए प्रधानमंत्री आवास की सुविधा देने की मांग की गई है। पत्र में कहा है कि इस घटना से मृतकों के वृद्ध मां व पिता की हालत बिगड़ गई है जबकि पत्नी व बच्चों का भी हाल बुरा है। दोनों भाइयों की हत्या के बाद परिवार का कोई सहारा नहीं रह गया है। ऐसे में पीड़ित परिवार को उचित सहयोग देने की दिशा में कदम उठाने की जरूरत है।

व्यवसायी बंधुओं की हत्या दुभाग्यपूर्ण : भाजपा नेता सह पूर्व आइजी लक्ष्मण प्रसाद सिंह ने बरजो स्थित पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं से मिलकर उनका हालचाल जाना। कई लोगों ने अपनी अपनी समस्या उन्हें बताई। सिंह ने अंशु व चंदन की हत्या पर दु:ख व्यक्त किया तथा इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया। कहा कि अपहरण के बाद वे दोनों भाई के परिजनों से मिले थे तथा एसपी व अन्य पदाधिकारी से मिलकर बात भी की थी। मौके पर भाजपा नेता सह सांसद प्रतिनिधि उदय सिंह, नकुल राय, शिवनारायण राय, पवन सिंह, अशोक राय, निरंजन पंडा, श्रीकांत,अशोक पासवान, सुबोध चौधरी, गजानंद मिश्रा, मदन शर्मा आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.