डीडीसी ने की बैंकों के सीडी रेशियों की समीक्षा

संवाद सहयोगी गढ़वा उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय की अध्यक्षता में बुधवार को बैठक हुई।

JagranWed, 23 Jun 2021 06:03 PM (IST)
डीडीसी ने की बैंकों के सीडी रेशियों की समीक्षा

संवाद सहयोगी, गढ़वा : उप विकास आयुक्त, सत्येंद्र नारायण उपाध्याय की अध्यक्षता में बुधवार को समाहरणालय के सभागार में डीएलसीसी की चतुर्थ त्रैमासिक समीक्षा बैठक हुई। समीक्षा के क्रम उप विकास आयुक्त ने मुख्य रूप से विभिन्न बैंकों के सीडी रेशियों, डिपॉजिट तथा एडवांसेज, वार्षिक साख योजना, केसीसी सेच्युरेशन ड्राइव, एमएसएमई, स्वयं सहायता समूह, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, प्रधानमंत्री जन- धन योजना, ग्राम स्वराज अभियान समेत अन्य विषयों के कार्य प्रगति पर विस्तृत रूप से चर्चा की तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इसमें सीडी रेशियों की समीक्षा के क्रम में डीडीएम नाबार्ड लक्ष्मण कुमार ने कहा कि जिले का सीडी रेशियों वित्तीय वर्ष 2020-21 की तृतीय तिमाही की समाप्ति पर 38.67 प्रतिशत था जो अब घटकर चतुर्थ तिमाही तक 34.89 प्रतिशत हो गया है। इस क्षेत्र में उन्होंने बैंकों को बेहतर प्रदर्शन करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि उक्त संदर्भ में एक्सीस बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक, इंडियन बैंक तथा बैंक ऑफ इंडिया को खासकर अपने प्रदर्शन में सुधार करने की आवश्यकता है। वह बैंक जिनका सीडी रेशियों 40 प्रतिशत से कम है उन्हें इस दिशा में योजनाबद्ध तरीके से प्रयास करते हुए इसमें बढ़ोतरी करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ओवरऑल जिले का सीडी रेशियों 40 प्रतिशत से भी कम है ऐसे में सभी बैंक प्रयास करते हुए इसे कम से कम 60 प्रतिशत तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। वहीं वार्षिक साख योजना की समीक्षा के क्रम में बताया गया कि जिले के सभी बैंकों का कुल कृषि साख वित्तीय वर्ष 2020- 21 के चतुर्थ तिमाही में 91.41 प्रतिशत है। यह राष्ट्रीय मानक 18 प्रतिशत से अधिक है। एलडीएम इंदू भूषण लाल ने कहा कि इसी प्रकार बैंकों द्वारा कृषि के क्षेत्र में शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के लिए और अधिक प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि एमएसएमई में लक्ष्य की तुलना में उपलब्धि मात्र 80.72 प्रतिशत है। जिस पर सार्थक प्रयास करने की आवश्यकता है। आशा की जाती है कि वित्तीय वर्ष 2020- 21 के अंतिम चतुर्थ तिमाही में एसीपी का शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाएगा। मौके पर केसीसी सैच्युरेशन ड्राइव के संदर्भ में बताया गया कि गढ़वा जिला को वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए भौतिक लक्ष्य 44,136 एवं वित्तीय लक्ष्य 22062.44 लाख निर्धारित किया गया था। जिसमें वित्तीय लक्ष्य के विरुद्ध बैंकों ने 122.73 प्रतिशत की उपलब्धि हासिल की है जो प्रशंसनीय है। बैठक में केसीसी डेयरी, फिशरीज जेएमएफ अनकवर पीएम किसान के लाभुकों के अतिरिक्त केसीसी डेयरी एनिमल हसबेंडरी, केसीसी फिशरीज एवं झारखंड मिल्क फेडरेशन द्वारा जमा किए गए आवेदनों पर बैंक शाखाओं द्वारा त्वरित निर्णय नहीं लिए जाने पर चिता जताई गई। बैठक में आरबीआई के एजीएम आलोक एक्का, डीडीएम नाबार्ड लक्ष्मण कुमार, सांसद एवं विधायक के प्रतिनिधि, जिला मत्स्य पदाधिकारी दिव्या गुलाब बा, डीपीएम जेएसएलपीएस पंकज कुमार सहित कई विभागों के लोग उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.