बगैर काम दीदी बाड़ी योजना से सात लाख रुपये की निकासी

जागरण संवाददाता दुमका जामा प्रखंड की सिमरा पंचायत में मनरेगा की राशि से जेएसएलपीएस के

JagranThu, 17 Jun 2021 12:45 AM (IST)
बगैर काम दीदी बाड़ी योजना से सात लाख रुपये की निकासी

जागरण संवाददाता दुमका : जामा प्रखंड की सिमरा पंचायत में मनरेगा की राशि से जेएसएलपीएस के माध्यम से संचालित दीदी बाड़ी योजना में बगैर काम तकरीबन सात लाख रुपये की निकासी कर ली गई है। मामला उजागर होने के बाद अब गड़बड़ियों को दबाने की पहल तेज हो गई है। अवैध तरीके से निकासी की गई राशि को अब बिचौलिया और इसमें संलिप्त लोग लाभुक से मिलकर लौटने की कोशिश में जुट गए हैं। बुधवार को बिचौलिया संजीत राणा के पिता मोहन राणा से 50 हजार रुपये की वसूली की गई है।

पंचायत सचिव अशोक कुमार गुप्ता ने कहा कि संबंधित लाभुकों को पैसे लौटा दिए गए। दूसरी ओर जामा के बीडीओ ने इस बाबत जांच टीम बनाई है। मामले की छानबीन भी कर रही है। हालांकि इस मामले में घालमेल का प्रयास तेज है। इसमें प्रशासन की भूमिका भी संदिग्ध हो गई है। जांच में कितनी पारदर्शिता होगी इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है कि टीम में जेएसएलपीसएस के कर्मी भी शामिल है। इधर, तीन दिनों से लापता संजीत राणा का कोई सुराग बुधवार को भी नहीं चल सका है। पुलिस संजीत को सरगर्मी से तलाश रही है।

मामला उजागर होने के बाद मंगलवार को धनाडीह गांव पहुंची जांच टीम के सदस्यों ने कई बिदुओं पर छानबीन शुरू की है। जांच दल को धनाडीह के अलावा पंचरुखी और सिमरा गांव में लगभग 34 दीदी बाड़ी योजनाओं में अनियमितता की आशंका है। जेएसएलपीएस के बीपीएम प्रकाश उरांव, मनरेगा बीपीओ गौरव कुमार एवं रोजगार सेवक डब्ल्यू साह अगुवाई में मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के अनुसार पंचायत में जेएसएलपीएस 62 समूहों का संचालन कर रही है। 35 दीदी बाड़ी योजनाओं में काम चल रहा है। इसमें 34 दीदी बाड़ी योजना में मनरेगा के तहत बिना काम पांच हजार रुपये से लेकर 17 हजार रुपये किस्त दर किस्त निकासी कर ली गई है। इसमें संजीत कुमार राणा का नाम सामने आया है। बताया जा रहा है कि संजीत राणा एवं अन्य कई लोगों की मिलीभगत से गबन किया गया है।

लाभुक मकु मरांडी के खाते से 9312 रुपये की अवैध निकासी की गई है। लाभुक सन्नी सोरेन के खाते से 14712, रीना किस्कू की योजना से 9312, मोनालिषा हांसदा की योजना से 11640, पुतुल देवी की योजना से 17040, सुरुजली हांसदा की योजना से 14712, चंपा देवी की योजना से 17040, शकुंतला हांसदा की योजना से 17040 सहित लगभग 34 दीदी बाड़ी योजनाओं व प्रधानमंत्री आवास योजना में मनरेगा योजना के तहत बिना काम कराए एक दर्जन लाभुकों के खाते से बड़ी राशि की निकासी कर ली गई है। प्रधानमंत्री आवास योजना में लक्ष्मी दर्बे के खाते से 2700 रुपये एवं विष्णु दर्बे के खाते से 5400 रुपये की अवैध निकासी का मामला सामने आया है।

कटकी दर्बे,मंटू दर्बे, रामजीवन दर्बे ,शंभूनाथ दर्वे ,लक्ष्मण मांझी समेत कई आवास के लाभुकों के खाते से निकासी करने की पुष्टि हुई है। लाभुक किरण किस्कू ने बताया कि बिना बताए 10 हजार रुपये की अवैध रूप से निकासी की गई है। ग्रामीणों का कहना है कि सुनियोजित तरीके से जेएसलपीएस कर्मियों ने बिचौलियों की मदद से पैसे निकाले हैं। संजीत कुमार राणा वर्तमान में जेएसलपीएस में एमबीके पद पर कार्यरत है।

इधर जांच दल के मनरेगा बीपीओ गौरव कुमार ने बताया कि दीदी बाड़ी योजनाओं में अनियमितता हुई है। जेएसलपीएस के बीपीएम प्रकाश उरांव ने कहा कि सोमवार को बैठक करने पर पता चला कि कई योजनाओं में गड़बड़ी हुई है। जामा के बीडीओ सिद्धार्थ शंकर यादव ने कहा कि जांच टीम का गठन मामल की जांच कर रही है। जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.