आज मिथिला नगरिया निहाल हे सखी, चारों दुल्हे में बड़का कमाल हे सखी..

संवाद सहयोगी बासुकीनाथ (दुमका) मिथिला नगरिया निहाल हे सखी चारों दुल्हा में बड़का कमाल

JagranThu, 09 Dec 2021 01:02 AM (IST)
आज मिथिला नगरिया निहाल हे सखी, चारों दुल्हे में बड़का कमाल हे सखी..

संवाद सहयोगी, बासुकीनाथ (दुमका): मिथिला नगरिया निहाल हे सखी, चारों दुल्हा में बड़का कमाल हे सखी गीत सुनकर बुधवार की देर रात तक श्रद्धालु झूमते रहे। मौका था राम-जानकी विवाहोत्सव का। राम जानकी विवाह में महिलाओं के कंठ से फूट रही इस मांगलिक गीत के बीच देर रात्रि पारंपरिक तरीके से कराए जा रहे राम-जानकी का विवाह अनुष्ठान में श्रद्धालुओं की आस्था देखते ही बन रही थी।

मध्यरात्रि तक मंदिर परिसर में राम जानकी विवाह धूमधाम से संपन्न कराया गया। बासुकीनाथ के दरबार में वर्षों से चली आ रही परंपरा के अनुसार बतौर यजमान पंडित विशाल भारद्वाज व उनकी पत्नी सुनैना झा ने कार्यक्रम में भाग लिया। पूरा मंदिर परिसर वैवाहिक गीतों से गूंजता रहा। मंदिर में राम जानकी के विवाह को देखने के लिए श्रद्धालु देर रात तक जमे रहे। विवाहोत्सव पर मंदिर परिसर को आकर्षक पुष्प-सज्जा से सजाया गया था। विवाहोपरांत भारद्वाज परिवार की अगुआई में सामूहिक भोज का भी आयोजन हुआ। बासुकीनाथ मंदिर के प्रधान तीर्थ पुरोहित के वंशज पंडित प्रेमशंकर झा व मनोज झा ने कहा कि बासुकीनाथ मंदिर परिसर स्थित राम-जानकी मंदिर में वर्षों से चली आ रही परंपरा के अनुसार यह राम जानकी विवाह उत्सव सम्पन्न कराया गया। अनुष्ठान के सफल आयोजन को लेकर पंडित मनोज कुमार झा, नरेश झा, संतोष झा, ताराकांत झा, चंदन झा, रामजी झा, सपन बाबा, मोनी बाबा, मिथिलेश झा, उज्जवल कुमार, रामजी झा, मोहित कुमार झा समेत कई ने अहम भूमिका निभाई। बिहार के विजयी प्रत्याशियों ने हाजिरी लगाई

संवाद सहयोगी, बासुकीनाथ (दुमका): विश्व प्रसिद्ध बाबा बासुकीनाथ के दरबार में मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि के पावन अवसर पर बुधवार को भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। इस विशिष्ट तिथि पर बिहार पंचायत चुनाव में विजयी प्रत्याशियों के अलावा हजारों भक्तों ने भोलेनाथ की विशेष पूजा अर्चना की। रुद्राभिषेक पाठ व विशेष पूजन भी किया। भक्तों ने पूर्व मनौती अनुरूप श्रृंगार पूजन, मुंडन, रुद्राभिषेक, सत्यनारायण कथा, गठबंधन, ध्वजारोहण, कालसर्प पूजन सहित दर्जनों अन्य धार्मिक अनुष्ठान कराए। भागलपुर, बांका, गोड्डा, पूर्णिया, कटिहार सहित अन्य जगहों से आए प्रत्याशियों ने बाबा बासुकीनाथ के दरबार में माथा टेका व जीत की कामना की। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा मंदिर के निकास द्वार पर श्रद्धालुओं की कोविड-19 जांच की गई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.