Yes For Vaccine: दैनिक जागरण के वेबिनार में धनबाद डीसी की बड़ी घोषणा, पूर्ण टीकाकरण वाली पंचायतों को पांच करोड़ तक की योजनाएं

डीसी उमाशंकर सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में मानव संसाधन की कमी दूर करने के लिए 100 चिकित्सकों के साथ एएनएम व जीएनएम की बहाली की जा रही है। छह माह में जिले के सभी पीएचसी और सीएचसी का कायाकल्प होगा।

MritunjayMon, 07 Jun 2021 09:31 AM (IST)
धनबाद के उपायुक्त उमाशंकर सिंह ( फोटो दैनिक जागरण)।

धनबाद, जेएनएन। दैनिक जागरण के यस फॉर वैक्सीन अभियान कारवां रविवार को धनबाद पहुंचा। यहां वेबिनार के माध्यम से सांसद, विधायक, उपायुक्त, पंचायत प्रतिनिधि व अन्य गणमान्य लोग इस अभियान से जुड़े और अपने विचार रखे। सांसद पीएन सिंह ने कहा- कोरोना से जंग में वैक्सीन हमारा सबसे बड़ा हथियार है। इसलिए टीकाकरण से एक आदमी वंचित न रहे। विधायक राज सिन्हा, अपर्णा सेन गुप्ता व मथुरा प्रसाद महतो ने कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है, इसलिए किसी को भी टीका लेने में कोई डर या झिझक नहीं होनी चाहिए। वहीं उपायुक्त उमाशंकर सिंह ने टीकाकरण में बेहतर प्रदर्शन करने वाली पंचायतों को पांच-पांच करोड़ तक की योजनाएं देने की घोषणा की। मथुरा ने कहा- जो व्यक्ति या जो पंचायत लोगों को वैक्सीन लगवाने की दिशा में अच्छा काम करेंगे, उन्हें जिला स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। जनप्रतिनिधियों ने भरोसा दिलाया कि वे लोगों को वैक्सीन लेने के लिए जागरूक करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

डीएमएफटी से उपलब्ध कराई जाएगी राशि

इस मौके पर उपायुक्त ने कहा कि दैनिक जागरण का यह अभियान सराहनीय है। सभी को टीकाकरण अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना है। हमारी कोशिश होनी चाहिए कि खुद वैक्सीन लगवाने के साथ अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करें। उन्होंने घोषणा की कि जिले में 100 फीसद टीकाकरण कराने वाली पंचायतों को प्रोत्साहित किया जाएगा और उन्हें विकास के लिए पांच करोड़ तक की योजनाएं दी जाएंगी। डीएमएफटी फंड से ऐसी पंचायतों को विकास कार्यों के लिए राशि उपलब्ध कराई जाएगी। टीका को पूर्णत: सुरक्षित बताते हुए कहा कि इसको लेकर कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं। उनकी सूचना पंचायत प्रतिनिधि या प्रशासन को दें, तत्काल कार्रवाई की जाएगी। वेबिनार में ग्रामीण क्षेत्रों के पंचायत प्रतिनिधियों के साथ जिला परिषद के सदस्य भी शामिल हुए।

100 चिकित्सकों की होगी बहाली

डीसी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में मानव संसाधन की कमी दूर करने के लिए 100 चिकित्सकों के साथ एएनएम व जीएनएम की बहाली की जा रही है। छह माह में जिले के सभी पीएचसी और सीएचसी का कायाकल्प होगा। प्रखंड अधिकारियों से रोज पंचायत भ्रमण करने और जनप्रतिनिधियों से मिलकर जागरूकता फैलाने का आदेश दिया गया है। पंचायत प्रतिनिधियों ने अफवाह तथा लोगों के बीच डर की बात कही, लेकिन यह भी कहा कि ग्रामीणों में धीरे-धीरे जागरूकता बढ़ रही है। यह भी कहा कि ग्रामीण इलाकों में वैक्सीन की कमी को जल्द दूर किया जाना चाहिए। ग्रामीणों के लिए ऑन द स्पॉट रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था करने की मांग की गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.