World IVF Day 2021: इन दिनों महिला और पुरुषों में बढ़ रहा बांझपन, आइवीएफ विशेषज्ञ डॉ. जयदीप मल्होत्रा ने बताई वजह

World IVF Day 2021 डॉक्टर जयदीप मल्होत्रा ने कहा कि फास्ट फूड महिला और पुरुष दोनों के लिए काफी हानिकारक है। यह न केवल शरीर के हार्मोन के बैलेंस को बिगड़ता है बल्कि बांझपन का एक बड़ा कारण बनता जा रहा है।

MritunjaySun, 25 Jul 2021 01:57 PM (IST)
सात्विक आइवीएफ सेंटर में केक काटकर मनाया गया विश्व आइवीएफ दिवस। केक काटतीं डॉ. जयदीप मल्होत्रा और डॉ. नेहा प्रियदर्शिनी।

जागरण संवाददाता, धनबाद।  लॉकडाउन के बाद कारपोरेट कंपनियों और शहरों में काम करने वाले महिला और पुरुष काफी तनाव में है। यही वजह है कि ऐसे लोगों में बांझपन की आशंका सबसे ज्यादा हो रही है। इस तरह के मामले इन दिनों आ रहे हैं। इसके साथ ही प्लास्टिक के बोतल में पानी पीना, माइक्रोवेव में प्लास्टिक के बर्तन में खाना पकाना, मोबाइल, लैपटॉप का ज्यादा प्रयोग करना, अधिक आवाज वाले क्षेत्र में रहने से भी बांझपन का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। महिला और पुरुष दोनों में यह खामियां आ रही हैं। यह कहना है कि बांझपन रोग विशेषज्ञ डॉ. जयदीप मल्होत्रा का। वह रविवार को धनबाद के सिटी सेंटर स्थित सात्विक आइवीएफ सेंटर में विश्व आइवीएफ दिवस ( In Vitro Fertilization) पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पहुंची थीं। उन्होंने बताया कि ज्यादा मोबाइल, लैपटॉप आदि के प्रयोग से पुरुषों के शुक्राणु में कमी आ रही है। शुक्राणु की सक्रियता ज्यादा नहीं हो पाती है जिसकी वजह से वह पिता नहीं बन पाते हैं। इस माैके पर बांझपन रोग विशेषज्ञ डॉ. नेहा प्रियदर्शनी भी माैजूद थीं।

फास्ट फूड से दूर रहे महिलाएं

डॉक्टर मल्होत्रा ने कहा कि फास्ट फूड महिला और पुरुष दोनों के लिए काफी हानिकारक है। यह न केवल शरीर के हार्मोन के बैलेंस को बिगड़ता है बल्कि बांझपन का एक बड़ा कारण बनता जा रहा है। दरअसल, फास्ट फूड में डाले जाने वाले कई ऐसे केमिकल होते हैं जो शरीर के लिए बेहद खतरनाक होते हैं। शहरों में रहने वाले ज्यादातर लोग समय कम रहने और विभिन्न कारणों से फास्ट फूड का ज्यादा प्रयोग करते हैं। यही वजह है कि वह विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं।

प्रदूषण और मोटापा भी बड़ा कारण

डॉक्टर मल्होत्रा ने बताया कि भारत दुनिया में सबसे ज्यादा मोटे लोगों का देश बनता जा रहा है। मोटापा सभी बीमारियों का मुख्य कारण है। यह बांझपन का भी एक बड़ा कारण माना जाता है। कोयलांचल में प्रदूषण की काफी समस्या है। प्रदूषण की विभिन्न प्रकारों से मानव शरीर पर अपना प्रभाव छोड़ते हैं। हम तो हवा ले रहे हैं, जो खाना खा रहे हैं, जो फल सब्जियां ले रहे हैं, कहीं ना कहीं सभी प्रदूषित होती हैं। इसका शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है।

    इन बातों का रखें ध्यान

प्लास्टिक के बोतल में पानी नहीं पीये अपने नीचे पॉकेट में मोबाइल या लैपटॉप रखकर काम नहीं करें खानपान में संतुलित आहार इससे पहले शादी और परिवार के बारे में सोचें ज्यादा गर्म पानी से नहीं नहाए रंग वाली मिठाइयों से परहेज करें नियमित योग और एक्सरसाइज करें प्रदूषण से बचें ज्यादा आवाज वाले क्षेत्रों में नहीं रहे

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.