BCCL: दहाबाड़ी परियोजना में वर्चस्व की लड़ाई में एमसीसी और झामुमो के बीच चले तीर और पत्थर, एक दर्जन घायल

BCCL झामुमो समर्थक ने प्रदर्शनकारियों को आगे आने से रोकने लगे।इसको लेकर दोनों और से धक्का मुक्की होने लगा। बाद में स्थिति यह हो गयी कि दोनों और से लाठी डंडा चलने लगा कुछ समर्थकों ने कुल्हाड़ी एवं तीर का भी इस्तेमाल किया।

MritunjaySat, 04 Dec 2021 04:59 PM (IST)
झामुमो और एमसीसी समर्थकों के बीच टकराव को रोकती पुलिस।

जागरण संवाददाता, पंचेत। बीसीसीएल की दहीबाड़ी परियोजना में रंगदारी और वर्चस्व की लड़ाई को लेकर शनिवार को युद्ध का मैदान बन गया। मार्क्सवादी समन्वय समिति ( MCC) और झामुमो ( JMM) समर्थकों के बीच जमकर पारपीट हुई। लाठी-डंडे से लेकर तीर और पत्थर तक चलाए गए। इससे एक दर्जन लोग जख्मी हो गए। इस लड़ाई में झामुमो समर्थक भारी पड़े। एमसीसी के लोगों को भागना पड़ा। इस घटना के परियोजना के आसपास तनाव है। सीआइएसएफ और पंचेत थाना की पुलिस कैंप कर रही है। इस घटना के बाद निरसा के पूर्व विधायक अरूप चटर्जी और झामुमो केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य अशोक मंडल ने एक-दूसरे पर हमला बोला है। 

बीसीसीएल के सीवी प्रक्षेत्र की दहीबाड़ी परियोजना के आउटसोर्सिंग पेंच बी में वर्चस्व को लेकर शनिवार को माक्र्सवादी समन्वय समिति (मासस) और झामुमो समर्थकों के बीच ङ्क्षहसक झड़प हुई। एक-दूसरे पर पथराव किया गया। कुल्हाड़ी से वार हुआ। गाली-गलौज से लेकर खूब हाथापाई हुई। कई बाइक क्षतिग्रस्त हो गई। उभयपक्ष के दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए जिनमें महिलाएं भी हैैं। पूरे इलाके में तनाव को देखते हुए सीआइएसएफ के जवानों को तैनात किया गया है। दोनों तरफ से पंचेत ओपी में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार देने की मांग पर पूर्व विधायक अरूप चटर्जी के नेतृत्व में सैकड़ों मासस समर्थकों ने जुलूस निकाला। दोपहर एक बजे दहीबाड़ी के बिजली सब स्टेशन से आउटसोर्सिंग पेंच बी की तरफ जुलूस जा रहा था। नारेबाजी करते हुए मासस समर्थक रामकृष्णा कांटा घर से आगे बढ़ रहे थे। आउटसोर्सिंग पेंच बी के भूमिपूजन स्थल के नजदीक झामुमो समर्थक धरना पर बैठे थे। धरना स्थल के पास झामुमो समर्थकों ने मासस के जुलूस को रोकने का प्रयास किया। इसके बाद धक्कामुक्की शुरू हो गई। देखते ही देखते दोनों ओर से लाठी-डंडा, तीर धनुष व कुल्हाड़ी चलने लगे। एक-दूसरे पर पथराव शुरू हो गया। इससे भगदड़ मच गया। पुलिस वालों ने दोनों पक्ष के लोगों को शांत करने का प्रयास किया, मगर नाकाम रहे। इसके बाद कालूबथान, गलफरबाड़ी और चिरकुंडा थाना पुलिस भी आई। इसके बाद स्थिति नियंत्रित हुई।

यह हुए घायल

मासस की नमिता महतो, सोनिया टुडू, मणी मुंडा, सोनामुनि टुडू, सुशीला देवी, पूर्णिमा सोरेन, लखीराम मुर्मू, कैलाश महतो, जय प्रकाश नोनिया, मुकेश कुमार, गुलाम अंसारी, शिवानी दास, अंजू चटर्जी, बापी मंडल। झामुमो के बाबूजान मरांडी, बाबू नाथ मुर्मू, कैलाश हेम्ब्रम, महादेव हांसदा, गोविंद हांसदा, वरुण सिंह, संजय लाया, आंनद दास, बाबू लाल मरांडी, घोलटू अंसारी, रूप लाल टुडू।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.