Jharkhand Politics: बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सरकार पर बोला हमला, कहा-विकास से कोई मतलब नहीं

भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी का स्वागत करते समर्थक ( फाइल फोटो)।

किसान आंदोलन से आम लोगों को परेशानी हो रही है। अलोकतांत्रिक तरीके से विरोध कर अराजकता फैलाना गलत है। उन्हें लगता है कि किसानों के साथ मोदी सरकार अन्याय कर रही है तो 2024 लोकसभा चुनाव का इंतजार करें।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 02:35 AM (IST) Author:

बरवाअड्डा, जेएनएन। झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार को राज्य के विकास से कोई वास्ता नहीं है। बैंक में हजारों करोड़ रुपये पड़े है लेकिन मुख्यमंत्री ने उन पैसों विकास के कार्य में लगाने पर रोक लगा रखी है। उक्त बातें भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने बरवाअड्डा के अपना ढाबा में पत्रकारों से बात करते हुए कही। मरांडी दुमका से रांची जाने के दौरान सोमवार की शाम यहां पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि जिलों में केवल मिनरल फंड का लगभग तीन सौ करोड़ रुपए बैंकों में पड़ा हुआ है। सरकार उन पैसों को खर्च करने पर रोक लगा रखी है। विकास कैसे होगा।

झारखंड को लूटने में लगे झामुमो और उसके सहयोगी दल

उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार के गठबंधन में शामिल दल राज्य को दोनों हाथों से लूटने में लगे हैं। खनिज संपदा की चोरी करवा रहे हैं। किसान कानून पर मरांडी ने कहा कि कुछ लोकतंत्र विरोधी ताकत लोकतंत्र को बंधक बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र में मोदी सरकार ने संविधान की संसदीय व्यवस्था से किसानों के हित में कृषि कानून लाया। कांग्रेस और लेफ्ट पार्टी किसानों को भड़का कर संसद में पारित कृषि बिल के खिलाफ आंदोलन करवा रही है। जगह-जगह धरना-प्रदर्शन, सड़क जाम किया जा रहा है।

अराजतका फैलाने के बजाय 2024 के चुनाव का इंतजार करना चाहिए

किसान आंदोलन से आम लोगों को परेशानी हो रही है। अलोकतांत्रिक तरीके से विरोध कर अराजकता फैलाना गलत है। उन्हें लगता है कि किसानों के साथ मोदी सरकार अन्याय कर रही है तो 2024 लोकसभा चुनाव का इंतजार करें। अगर केंद्र सरकार का कार्य जनता विरोधी है तो जनता जवाब देगी। विरोध करने वाली पार्टी सत्ता में आये कृषि कानून बदल दे। मौके पर पूर्व मंत्री सह विधायक रणधीर ¨सह, विधायक राज सिन्हा, विधायक इंद्रजीत महतो, महानगर अध्यक्ष चंद्रशेखर ¨सह, ग्रामीण जिलाध्यक्ष ज्ञान रंजन सिन्हा, सत्येंद्र कुमार, निताय रजवार, संतलाल प्रमाणिक, मिल्टन पार्थ सारथी, गुड्डू चौधरी, राजकिशोर महतो, सुनील चौधरी, योगेंद्र यादव, सुजीत रवानी, दिलीप महतो, हरेंद्र रजक मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.