बस्ताकोला में ट्रक में कोयला लोडिग को लेकर सिंह मेंशन व रघुकुल के समर्थक भिड़े

बस्ताकोला लोडिग प्वाइंट से ट्रांसपोर्टिंग को लेकर जनता मजदूर संघ और बच्चा गुट के समर्थकों के बीच रविवार को भिड़ंत हो गई। दोनों ओर से 10 मिनट तक धक्का-मुक्की व तनातनी हुई। बच्चा गुट के समर्थक ट्रांसपोर्टिंग रोकने का प्रयास कर रहे थे।

JagranPublish:Sun, 05 Dec 2021 08:36 PM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 08:36 PM (IST)
बस्ताकोला में ट्रक में कोयला लोडिग को लेकर सिंह मेंशन व रघुकुल के समर्थक भिड़े
बस्ताकोला में ट्रक में कोयला लोडिग को लेकर सिंह मेंशन व रघुकुल के समर्थक भिड़े

धनसार : बस्ताकोला लोडिग प्वाइंट से ट्रांसपोर्टिंग को लेकर जनता मजदूर संघ और बच्चा गुट के समर्थकों के बीच रविवार को भिड़ंत हो गई। दोनों ओर से 10 मिनट तक धक्का-मुक्की व तनातनी हुई। बच्चा गुट के समर्थक ट्रांसपोर्टिंग रोकने का प्रयास कर रहे थे। वहीं जमसं के समर्थक ट्रांसपोर्टिग शुरू कराने का आमादा थे। दोनों गुटों के बीच हुई झड़प में जमसं गुट भारी पड़ा। इन लोगों ने जबरन एक हाइवा को लोडिग प्वाइंट ले जाकर लोड करा दिया। इससे बाद मामला भड़क गया। दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए। तनाव और खूनी संघर्ष की संभावना को देखते हुए मौजूद सीआइएसएफ के जवानों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया। इसके बाद जमसं के समर्थक वापस लौट गए।

सूचना पाकर सिदरी के डीएसपी अभिषेक कुमार, डीएसपी मुख्यालय अरविद सिंह, झरिया थाना प्रभारी पंकज झा, धनसार थाना प्रभारी राज कपूर, बैंक मोड़ थाना, केंदुआडीह थाना, भूली, घनुडीह व बोर्रागढ़ ओपी की पुलिस के अलावा पुलिस लाइन से भी अतिरिक्त पुलिस बल पहुंचे। सीआइएसएफ भी काफी संख्या में आ गए। पुलिस अधिकारियों ने धरना पर बैठे लोगों से बातचीत की। झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह के प्रतिनिधि आरके पाठक से मामले की जानकारी ली। आरके पाठक ने कहा कि जब तक मांग पूरी नहीं होगी। आंदोलन जारी रहेगा। यह है मामला :

चांदमारी मांझी बस्ती के लोग अपनी जमीन के बदले यहां ट्रांसपोर्टिंग और आउटसोर्सिंग में नियोजन की मांग को लेकर बच्चा गुट के बैनर तले धरना दे रहे हैं। ट्रांसपोर्टिंग कार्य को 18 दिनों से ठप कर दिया है। शनिवार को भाजपा नेत्री रागिनी सिंह ने बस्ताकोला के जीएम से वार्ता की थी। रविवार को ट्रांसपोर्टिंग शुरू कराने पर सहमति बनी थी। परियोजना में खड़े दो खाली हाइवा और दो लोड हाइवा को बाहर निकाला गया था। दो खाली हाइवा को सिंहनगर में खड़ा किया गया था। यहां देर रात असामाजिक तत्वों ने दोनों हाइवा में आग लगा दी थी। इसके बाद सिंह मेंशन और रघुकुल समर्थकों के बीच तनाव बढ़ गया। रविवार को दोनों गुट के समर्थक बस्ताकोला में जुटने लगे। कोयला लोडिग व बीएनआर साइडिग जाने के लिए दो हाइवा व आरटीपीएस कंपनी के कई हाइवा लोडिग प्वाइंट पहुंचे। बच्चा गुट के लोगों ने हाइवा में कोयला लोड होने से रोक रोक दिया। जमसं के समर्थक मौके पर आकर जबरन एक हाइवा लोड करा दिया। दोपहर में झरिया के सीओ प्रमेश कुशवाहा लोडिग प्वाइंट पहुंचे। बस्ताकोला कोलियरी के पीओ एके शर्मा से मामले की जानकारी ली। क्या कहते हैं जीएम :

बस्ताकोला क्षेत्र के जीएम सोमेन चटर्जी ने कहा कि ट्रांसपोर्टिंग ठप रहने से प्रतिदिन करीब 11 हजार टन कोयला का डिस्पैच प्रभावित हो रहा है। बीसीसीएल को काफी नुकसान हो रहा है। प्रबंधन ने जिला प्रशासन से अनुरोध किया था कि मामले में हस्तक्षेप कर ट्रांसपोर्टिंग कार्य शुरू कराएं। प्रशासन ने ट्रांसपोर्टिंग शुरू कराने की पहल की। लेकिन वार्ता असफल रही। बच्चा गुट के लोगों की मांग अनुचित है। बच्चा गुट के लोगों ने मुंशी को मोबाइल से दी धमकी :

अगर गाड़ी अंदर घुसाया तो फूंक देंगे। यह धमकी जीटीएस के एक मुंशी को उसके मोबाइल पर 21 नवंबर को मिली थी। यह धमकी उस वक्त दी गई थी जब बच्चा गुट के लोग 21 नवंबर को राजापुर और बस्ताकोला में ट्रांसपोर्ट कार्य ठप कर दिया था। वहीं जीटीएस कंपनी के मुंशी शंकर ने लोडिग के लिए गाड़ी घुसाने की बात कह रहा था। हालांकि जीटीएस कंपनी के मुंशी ने इस संबंध में शिकायत नहीं की थी। वहीं चार नवंबर की रात सिंहनगर में कुछ नकाबपोश बदमाशों ने जीटीएस के अधीन चलने वाले दो हाइवा को जला दिया था। इसके बाद जीटीएस के कर्मियों ने धमकी भरे आडियो पुलिस अधिकारी को सौंपते हुए कार्रवाई की मांग की। यह आडियो इंटरनेट मीडिया पर भी खूब वायरल हो रहा है। सिंहनगर में दो हाइवा जलाने के मामले में वाहन मालिक की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ झरिया थाना में मामला दर्ज किया गया है। वाहन मालिक कपिलराज अग्रवाल व मनोज कुमार गुप्ता ने थाना में शिकायत की थी।