Sahibganj महिला थाना प्रभारी आत्महत्या केस में एसआइ कनौजिया गिरफ्तार, ब्लैकमेल से आजिज आ गई थी रूपा

हिरासत में सब इंस्पेक्टर एसके कनाैजिया और रूपा तिर्की का फाइल फोटो।

Rupa Tiekey Sucide Case सब इंस्पेक्टर एसके कनाैजिया क्रूर अपराधी की तरह व्यवहार करता था। जबकि रूपा सच्चा प्यार करती थी। वह हमेशा ब्लैक मेल करता था। वीडियो कॉल पर रूपा को नंगा होकर सामने आने को कहता था। मां-बहन लगाकर गाली देता था।

MritunjaySun, 09 May 2021 11:15 AM (IST)

साहिबगंज, जेएनएन। बहुचर्चित साहिबगंज महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की आत्महत्या केस का साहिबगंज पुलिस ने करीब-करीब खुलासा कर दिया है। रूपा ने चाइबासा पुलिस बल में पदस्थापित सब इंस्पेक्टर एसके कनाैजिया की प्रताड़ना से परेशान होकर आत्महत्या की। इसके साक्ष्य मिलने के बाद पुलिस ने कनाैजिया को हिरासत में ले लिया है। हालांकि साहिबगंज पुलिस कनाैजिया के हिरासत के मुद्दे पर अभी चुप है। मामला पुलिस विभाग से जुड़ा है। इसलिए साहिबगंज पुलिस पूरी तैयारी के साथ एक-एक कदम आगे बढ़ा रही है। सोमवार को कनाैजिया की गिरफ्तारी की घोषणा पुलिस कर सकती है। उसे कोर्ट में पेश किया जा सकता है। इसके बाद रिमांड पर लेकर पुलिस कनाैजिया से पूछताछ करेगी।

3 मई को रूपा ने की थी आत्महत्या

साहिबगंज महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की ने 3 मई की शाम अपने सरकारी क्वार्टर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद रूपा की मां ने दो महिला दारोगा और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए जांच की मांग की थी। पुलिस ने जांच में दोनों दारोगा-मनीषा कुमारी और ज्योत्सना महतो तथा हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को क्लीन चिट दे दी है। इस बाबत एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने एक प्रेस बयान जारी किया है। इसमें पोस्टमार्टम में आत्महत्या की पुष्टि होने की बात है। साथ ही आत्महत्या के लिए निजी और व्यक्तिगत कारणों को जिम्मेदार माना गया है। आत्महत्या के लिए उकसाने वाले पर कार्रवाई की बात है। जांच में स्पष्ट हो गया है कि आत्महत्या के लिए सब इंस्पेक्टर एसके कनौजिया ने प्रेरित करने के लिए काम किया।

 

रूपा ने आत्महत्या से पहले कनाैजिया को किया था अंतिम कॉल

रूपा तिर्की के कॉल डिटेल से यह बात सामने आयी है कि उसने मरने से पहले चाईबासा में पदस्थापित सब इंस्पेक्टर एसके कनौजिया से बातचीत की थी। एसके कनौजिया देवघर जिले के मधुपुर का रहनेवाला है। मुख्यालय डीएसपी संजय कुमार ने बताया कि जांच टीम रूपा तिर्की के आत्महत्या मामले में तकनीकी सहायता के जरिए अपना काम कर रही है। उन्होंने बताया कि चाईबासा में पदस्थापित सब इंस्पेक्टर एसके कनौजिया की बात रूपा तिर्की से अक्सर मोबाइल पर होती थी। वे लोग ट्रेनिंग के समय से ही एक दूसरे से संपर्क में थे। अक्सर बात होने की बात एसके कनौजिया ने खुद स्वीकार भी किया है। रूपा और कनाैजिया दोनों 2018 बैच के सब इंस्पेक्टर हैं।

 

आत्महत्या से ठीक पहले का एसआइ कनाैजिया और रूपा तिर्की के बीच का वाट्सएप चैट

प्यार में कनाैजिया करता था ब्लैक मेल

जांच में पुलिस के हाथ कई ऑडियो और वोडियो मिले हैं। इसके साथ कुछ तस्वीरें भी हैं। इसमें रूपा और कनाैजिया साथ-साथ हैं। प्यार का नाटक कर कनौजिया ने रूपा के साथ निजी पलों का वीडियो बनाया और ब्लैक मेल करना शुरू कर दिया। वह रूपा से रांची से आदिवासीके नाम पर जमीन खरीदवाना चाहता है। रुपये भी मांगता था। जबकि रूपा चाहती थी कि वह उससे शादी कर ले। कनाैजिया ऑडियो में रूपा की मां और बाहन को गाली देते हुए भी सुना जा सकता था। कनाैजिया बेहद क्रूर अपराधी की तरह व्यवहार करता था। वीडियो कॉल पर रूपा को नंगा होकर सामने आने को कहता था। इससे परेशान होकर रूपा यह कहती हुई सुनी जा सकती है-मैं खुद को ही खत्म कर लेती हूं। तुमको कोई फायदा नहीं होगा। आत्महत्या से ठीक पहले का वाट्सएप चैट भी पुलिस को हाथ लगे हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.