top menutop menutop menu

धनबाद से देवघर नहीं शिफ्ट होगा SBI Zonal Office, विरोध के बाद प्रबंधन बैकफुट पर Dhanbad News

धनबाद, जेएनएन। धनबाद के लिए अच्छी खबर है। State Bank of India ने फिलहाल Dhanbad zonal office को देवघर शिफ्ट करने के फैसले को स्थगित कर दिया है। एसबीआइ ने 1 जून, 2020 से धनबाद जोनल ऑफिस को बंद कर देवघर शिफ्ट करने का निर्णय लिया था। इस निर्णय का यहां के व्यवसायी और जनप्रतिनिधि विरोध कर रहे थे। धनबाद के व्यवसायी SBI के फैसले के विरोध में खाता बंद करने का अभियान चला रहे थे। राजनीतिक स्तर पर SBI से फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग की जा रही थी। इसके बाद SBI ने अपना फैसला बदलने का निर्णय लिया है। 

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का जोनल कार्यालय धनबाद में ही रहेगा। इसका निर्णय पटना स्थित सीजीएम कार्यालय द्वारा ले लिया गया है। जोनल ऑफिस पहली जून से देवघर स्थानांतरित किया जाना था। जोनल ऑफिस स्थानांतरण के एसबीआइ के निर्णय का धनबाद व्यापक विरोध किया जा रहा था। व्यावसायिक संगठनों समेत जनप्रतिनिधियों ने भी इस पर कड़ा विरोध दर्ज कराया था। आखिरकार उनकी एकता रंग लाई।

पीएमओ तक हुई थी शिकायत

एसबीआइ जोनल ऑफिस का स्थानांतरण रद होने की जानकारी देते हुए विधायक राज सिन्हा ने बताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय तक बैंक के निर्णय का विरोध दर्ज कराया गया था। वित्त मंत्री, एसबीआइ चेयरमैन, सीएनबीसी को भी उन्होंने पत्र लिखा था। पीएमओ ने एसबीआइ मुख्यालय मुंबई से इस संबंध में जानकारी मांगी। इसके बाद चेयरमैन रजनीश कुमार ने सीजीएम पटना मुकुल गोयल से रिपोर्ट तलब की। अधिकारियों ने जांच के बाद धनबाद को ही जोनल कार्यालय के लिए सबसे माकूल बताया। इसके बाद सीजीएम कार्यालय ने बुधवार को इसके स्थानांतरण की योजना रद कर दी।

जयंत सिन्हा की भी रही भूमिका

विधायक राज सिन्हा के मुताबिक उन्होंने पूर्व वित्त राज्यमंत्री जयंत सिन्हा को भी पत्र लिखा। उन्हें बताया कि धनबाद बड़ा व्यावसायिक केंद्र है और जोनल कार्यालय के लिए सबसे मुफीद शहर है। पूर्व वित्त राज्य मंत्री ने भी एसबीआइ अधिकारियों से बात की व कार्यालय स्थानांतरित करने के निर्णय को गलत बताया।

व्यावसायिक संगठनों ने भी किया था विरोध 

जोनल कार्यालय स्थानांतरण के विरुद्ध व्यवसाई संगठनों ने भी विरोध दर्ज कराया था। क्रेडाई, जीटा, आइसीए ने इसके स्थानांतरण का प्रबल विरोध किया था। आइसीए ने दो दिन पूर्व ही स्टेट बैैंक चेयरमैन को पत्र लिखकर विरोध जताया था। क्रेडाई, जीटा, जिला चैैंबर ऑफ कॉमर्स ने भी पीएमओ, वित्त मंत्री, आरबीआइ गवर्नर, मुख्यमंत्री, सांसद, विधायक तक को पत्र लिखकर विरोध दर्ज कराया था।

JITA महासचिव ने कहा है कि धनबाद के SBI Zonal  कार्यालय का स्थानांतरण/विलय का रुकना एक सकारात्मक कदम है। इस कार्य में धनबाद का तमाम  जनमानस Lockdown में भी पत्राचार, सोशल मीडिया, प्रिंट मीडिया इत्यादि साधनों  से भारी विरोध प्रकट कर रहा था। धनबाद के तमाम जनप्रतिनिधियों, धनबाद के तमाम उद्योगपतियों, व्यवसायियों, आम जन सभी को इस विषय  पर बहुत-बहुत बधाई। यह साझा प्रयास था। यह साबित हुआ कि यदि गम्भीर प्रयास हों तो हल निकल सकता है।

फेडरेशन ऑफ धनबाद ज़िला चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष चेतन गोयनका ने कहा है कि SBI Zonal  कार्यालय का स्थानांतरण रुकना औद्योगिक दृष्टिकोण से धनबाद की जनता के लिए आंतरिक सुकून के समान है। इस कार्य को अंजाम देने में धनबाद की तमाम जनता, सभी 55 चेम्बरो ने अभूतपूर्व योगदान दिया है। इस वैश्विक महामारी को झेलने एवं लॉकडाउन के समय में भी सभी लोगो के द्वारा पत्राचार, सोशल मीडिया, प्रिंट मीडिया इत्यादि साधनों संघर्ष में साथ देने के लिए बधाई दी है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.