Job Alert: आइआइटी-आइएसएम धनबाद में चलेगा विशेष अभियान, सहायक शिक्षकों की होगी भर्ती

IIT धनबाद के जानकारों का कहना है कि पीएचडी योग्यता धारी युवाओं को अनुबंध के आधार पर तीन साल सेवा देनी होगी। इसके बाद नियमित किया जाएगा। वहीं जिन आवेदकों के पास तीन साल से अधिक का अध्यापन अनुसंधान तथा औद्योगिक अनुभव है। उनकी नियमित नियुक्ति होगी।

MritunjayThu, 09 Sep 2021 09:59 AM (IST)
आइआइटी आइएसएम में सहायक शिक्षकों की भर्ती।

जागरण संवाददाता धनबाद। आईआईटी आईएसएम रिक्त पदों पर नियुक्ति के लिए स्पेशल ड्राइव चलाएगा। एससी, एसटी, ओबीसी, ईडब्ल्यूएस और पीडब्ल्यूडी कैटेगरी में असिस्टेंट प्रोफेसर की बहाली करेगा। आईआईटी धनबाद स्पेशल ड्राइव के तहत 18 विभागों में रिक्त सहायक प्राध्यापकों की बहाली करेगा। इस संबंध में आईटी धनबाद में अधिसूचना भी जारी कर दी है। आवेदकों को ऑनलाइन आवेदन संस्थान की वेबसाइट पर जारी किए गए रिक्रूटमेंट पोर्टल के माध्यम से करना होगा। सहायक प्राध्यापकों के कुल रिक्त पद कितने हैं, इसकी घोषणा संस्थान की ओर से नहीं की गई है।

आवेदकों को आवेदन करने के लिए एक महीने का समय दिया गया है। आईआईटी धनबाद के जानकारों का कहना है कि, पीएचडी योग्यता धारी युवाओं को अनुबंध के आधार पर तीन साल सेवा देनी होगी। इसके बाद नियमित किया जाएगा। वहीं जिन आवेदकों के पास तीन साल से अधिक का अध्यापन, अनुसंधान तथा औद्योगिक अनुभव है। उनकी नियमित नियुक्ति होगी। चयनित सहायक प्राध्यापकों को सातवां वेतनमान के तहत वेतन का भुगतान और अतिरिक्त सुविधाएं दी जाएंगी। संस्थान की ओर से जारी विज्ञापन में कहा गया है, की योग्य महिला उम्मीदवारों के आवेदन को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य विशेष तवज्जो दी जाएगी। वहीं उत्कृष्ट उम्मीदवारों को अनुभव में छूट देने की बात भी संस्थान की ओर से कही गई है। एक से अधिक विभागों के लिए उम्मीदवार अलग-अलग आवेदन कर सकते हैं।

बताते चलें कि आईआईटी धनबाद में करीब 100 से भी अधिक सीट विभिन्न संकाय में सहायक प्राध्यापकों के लिए रिक्त है। संस्थान का मानना है कि स्पेशल ड्राइव चलाकर इन पदों पर नियुक्तियों में बेहतर उम्मीदवार सामने आएंगे। स्पेशल ड्राइव के तहत होने वाली नियुक्तियों में आवेदकों को कई तरह की दस्तावेजों से छुटकारा भी मिलेगा। इसके तहत नियुक्ति प्रक्रिया में होने वाले एक लंबी प्रक्रिया से होकर नहीं गुजरना होगा। उनकी योग्यता, अनुभव और छात्रों को पढ़ाने की कला को ही आधार बनाकर स्पेशल ड्राइव में नियुक्त करने की प्रक्रिया की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.