Judge Uttam Anand Murder Case: धनबाद के सिटी एसपी के नेतृत्व में एसआइटी करेगी जांच, सहयोग के लिए सीआइडी-एफएसएल की टीम तैनात

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता आईजी अभियान अमोल वीनुकांत होमकर ने कहा है कि धनबाद के एडीजी-8 उत्तम आनंद की माैत के मामले में हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है। धनबाद के सिटी एसपी के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई है।

MritunjayThu, 29 Jul 2021 03:06 PM (IST)
न्यूज एजेंसी एएनआइ से बात करते आइजी अभियान अमोल वीनुकांत होमकर और ऑटो की जांच करती एफएसएल टीम।

धनबाद, जेएनएन। जिला एवं सत्र न्यायाधीश-8 उत्तम आनंद की माैत को लेकर धनबाद से लेकर मुख्यालय रांची तक झारखंड पुलिस रेस है। इस मामले में हत्या का मामला दर्ज किया गया है। धनबाद के सिटी एसपी के नेतृत्व में एसआइटी गठित की गई है। एसआइटी ने जांच शुरू कर दी है। एफएसएल की टीम ने रांची से आकर उस ऑटो की जांच की जिससे जज को धक्का मारा गया। साथ ही क्राइम सीन भी दोहराया गया। बुधवार सुबह मार्निंग वाक पर निकले धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश-8 उत्तम आनंद को ऑटो से धक्का मारा गया था। अस्पताल ले जाने के बाद चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया था। 

धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद की बुधवार की सुबह हुई हत्या के मामले में डीजीपी नीरज सिन्हा ने पुलिस मुख्यालय स्तर पर जांच के लिए एक (विशेष जांच दल) एसआईटी का गठन किया है। एडीजी अभियान संजय आनंद लाटकर के नेतृत्व में गठित एसआईटी इस पूरे मामले से संबंधित प्रत्येक बिंदुओं की छानबीन करेगी। एसआईटी में बोकारो के डीआईजी मयूर पटेल कन्हैयालाल और धनबाद के एसएसपी संजीव कुमार भी शामिल किए गए हैं।

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता आईजी अभियान अमोल वीनुकांत होमकर ने एएनआइ से बात करते हुए कहा कि 28 जुलाई की सुबह पांच बजे जज की हत्या की बात सामने आई है। इस पूरे घटनाक्रम हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस घटना के तत्काल बाद धनबाद के एसएससी ने इस कांड की जांच के लिए सिटी एसपी धनबाद के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया है। एसएसपी धनबाद और और डीआईजी बोकारो के मॉनिटरिंग में इस घटना का अनुसंधान प्रारंभ कर दिया गया है,साथ ही साथ सीआइडी और फॉरेंसिक की टीम को भी एसआइटी के अनुसंधान में सहायता के लिए लगाया गया है। सभी बिंदुओं की गहराई से जांच की जा रही है। जांच में जो तकनीकी साक्ष्य उपलब्ध हुए उसके आलोक में अभी तक दो व्यक्तियों को गिरफ्तार गया है और घटना में प्रयुक्त ऑटो जब्त किया गया है। ऑटो चालक लखन कुमार वर्मा सुनार पट्टी धनबाद का रहने वाला है। दूसरा आरोपित राहुल वर्मा भी सुनार पट्टी धनबाद जोरापोखर का रहने वाला है। इनसे पूछताछ की जा रही है। लखन कुमार वर्मा ने स्वीकार किया है कि घटना के वक्त ऑटो वही चला रहा था। उसकी गिरफ्तारी गिरिडीह से हुई है। दूसरे आरोपित राहुल वर्मा की गिरफ्तारी धनबाद स्टेशन से हुई है। एसआइटी और विशेषज्ञों की टीम पूरे घटनाक्रम की जांच में लगाई गई है। अनुसंधान के क्रम में यह बात सामने आई है कि 27/ 28 जुलाई की रात पाथरडीह थाना क्षेत्र से ऑटो चोरी हुई थी। इसके मालिक ने वहां प्राथमिकी दर्ज करायी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.