top menutop menutop menu

संजय हत्याकांड : अपने ही बयान से बदली पुष्पा सिंह, कहा- नहीं जानती मेरे पति को किसने गोली मारी Dhanbad News

धनबाद, जेएनएन। मेरे पति को किसने गोली मारी मैं नहीं जानती। घटना मई 1996 की है। मेरे पति सुबह घर से निकले थे। थोड़ी देर के बाद ही किसी ने सूचना दी कि उनके पति की एसपी आवास के सामने गोली मार दी गई है। मैं घर में अकेली थी। उस समय मैं गर्भवती थी। मुझे याद नहीं है कि घटना के बाद पुलिस अथवा सीआइडी ने मेरा बयान लिया था कि नहीं। मैं पप्पू सिंह को नहीं पहचानती हूं। उक्त बातें मंगलवार को संजय सिंह हत्याकांड के अहम गवाह मृतक संजय सिंह की पत्नी तथा हर्ष की मां पुष्पा सिंह कही।

पुष्पा सिंह मंगलवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरविंद कुमार पांडे की अदालत में पेश हुई थी। जहां उन्होंने अपने ही पूर्व के बयान से यूटर्न ले लिया। सुनवाइ के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर सिंह के नाती एवं बलिया के तत्कालीन एमएलसी रविशंकर सिंह उर्फ पप्पू सिंह हाजिर नहीं थे। अदालत ने अगली तारीख निर्धारित कर दी है। बचाव पक्ष की ओर से वरीय अधिवक्ता जया कुमार ने प्रतिपरीक्षण की।

पुलिस ने किया था दावा

अदालत को सौंपे आरोप पत्र में अनुसंधानकर्ता ने दावा किया था कि पुष्पा सिंह ने उन्हें बयान दिया था कि सुरेश सिंह हमारे पति को घर से बुलाकर ले गए थे। सुरेश सिंह, पप्पू सिंह व एक अन्य व्यक्ति ने मेरे पति की गोली मारकर हत्या कर दी है। उस दिन सुरेश सिंह गाड़ी चला रहे थे और मेरे पति को बगल में बैठने को कहा था। उल्लेखनीय है कि 26 मई 1996 को संजय सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.