top menutop menutop menu

Ram Mandir Bhumi Pujan: अयोध्या में ऐतिहासिक घड़ी का धनबाद के रामभक्त भी बनेंगे गवाह, प्रसाद तैयार करने में बंटा रहे हाथ

Ram Mandir Bhumi Pujan: अयोध्या में ऐतिहासिक घड़ी का धनबाद के रामभक्त भी बनेंगे गवाह, प्रसाद तैयार करने में बंटा रहे हाथ
Publish Date:Tue, 04 Aug 2020 11:02 AM (IST) Author: Mritunjay

धनबाद, जेएनएन। श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने 5 अगस्त पर देशवासियों से अयोध्या न आने की अपील की है। वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए लोगों से अपने-अपने घरों में ही रहकर दीप जलाने और पाठ करने को कहा गया है। इसके बावजूद रामभक्तों का उत्साह ऐसा है कि अयोध्या पहुंच रहे हैं। धनबाद से भी रामभक्त अयोध्या पहुंच चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा श्रीराम मंदिर भूमि पूजन की ऐतिहासिक घड़ी का गवाह बनने के लिए तैयार हैं। श्रीराम जन्मभूमि पर राम मंदिर की नींव पूजन समारोह की तैयारी में धनबाद के कार्यकर्ता भी जुटे हुए हैं। भाजपा नेता अरुण राय, मदन मोहन पाठक व पवन अग्रवाल अयोध्या में हंस बाबा के आश्रम में लड्डू निर्माण व उसकी पैकिंग में लगे हुए हैं। ये तीनों देवराहा बाबा के उत्तराधिकारी ब्रह्म वेत्ता हंस बाबा के शिष्य हैं।

प्रसाद में चढ़ेगा एक लाख 51 हजार लड्डू

भाजपा नेता अरुण राय ने बताया कि नींव पूजन में प्रसाद निर्माण हंस बाबा की ओर से कराया जा रहा है। अयोध्या स्थित उनके आश्रम में 111 मन लड्डू का निर्माण चल रहा है। इसमें एक लाख 51 हजार लड्डू होगा। इसे 151 थाल में सजा कर रामजन्मभूमि, हनुमानगढ़ी व अन्य प्रमुख मंदिरों में भोग लगाया जाएगा। इसके तहत बड़ा टिफिन बॉक्स में 21, मध्यम टिफिन में 11 लड्डू तथा छोटा टिफिन बॉक्स में पांच लड्डू रख कर पैक किया जा रहा है।

भूमि पूजन में शामिल लोगों के बीच बंटेगा प्रसाद

लड्डू के पैकेट को एक थैला में श्री राम जन्मभूमि चुंदरी, जन्म भूमि से संबंधित बाबा की वाणी, अखंड भारत पुस्तक आदि प्रसाद के साथ पैक कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भूमि पूजन में शामिल लोगों को दिया जाएगा। इसके अलावा अयोध्या में जितने भी आश्रम एवं मठ मंदिर हैं उन्हें प्रसाद दिया जाएगा जिस की सूची तैयार कर ली गई है। अयोध्या वासियों को भी प्रसाद दिया जाएगा। हंस बाबा के माध्यम से यह प्रसाद देश के सभी प्रमुख तीर्थ स्थलों जैसे काशी, बनारस, चित्रकूट, प्रयाग, हरिद्वार, ऋषिकेश, केदारनाथ, बदरीनाथ, सहित दक्षिण भारत के भी प्रमुख तीर्थ स्थानों पर यह प्रसाद भेजा जाएगा। प्रसाद निर्माण का कार्यक्रम अयोध्या में राम मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास जी के मणिराम दास छावनी में किया जाएगा।

मंदिर आंदोलन में भी रहे हैं शामिल

अरुण राय मंदिर आंदोलन में भी शामिल रहे हैं। वे बताते हैं कि उन्हें बनारस स्टेशन पर उतरते ही गिरफ्तार कर लिया गया था। तब वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता थे। राय के साथ विद्यार्थी परिषद तब के नगर मंत्री शिश कुमार, विहिप नेता मृत्युंजय सिंह भी शामिल थे। सभी को बनारस जेल में आठ दिन रखा गया। विवादित ढांचा ध्वस्त होने के बाद इन सभी को रिहा किया गया। उनके साथ मौजूद मदन मोहन पाठक व पवन अग्रवाल इस बात से आह्लादित हैं कि रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के कार्य में उन्हें भी अपनी सेवा देने का अवसर मिला है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.