Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की देशवासियों की हाैसलाअफजाई, बोले-आजादी का अमृत महोत्सव देता कुछ कर गुजरने की प्रेरणा

Mann Ki Baat धनबाद के भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं में मन की बात कार्यक्रम को लेकर खासा उत्साह था। सांसद पीएन सिंह विधायक राज सिन्हा अपर्णा सेनगुप्ता ढुलू महतो ने अपने-अपने घरों पर समर्थकों के साथ मन की बात सुनी।

MritunjayPublish:Sun, 28 Nov 2021 09:19 AM (IST) Updated:Sun, 28 Nov 2021 11:43 AM (IST)
Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की देशवासियों की हाैसलाअफजाई, बोले-आजादी का अमृत महोत्सव देता कुछ कर गुजरने की प्रेरणा
Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की देशवासियों की हाैसलाअफजाई, बोले-आजादी का अमृत महोत्सव देता कुछ कर गुजरने की प्रेरणा

जागरण संवाददाता, धनबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकप्रिय रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' कार्यक्रम के तहत रविवार को देश को संबोधित किया। 'मन की बात' कार्यक्रम का 83वं संस्‍करण था। उनका यह रेडियो कार्यक्रम सुबह 11 बजे से ऑल इंडिया रेडियो, दूरदर्शन, ऑल इंडिया रेडियो न्‍यूज और मोबाइल एप पर प्रसारित किया गया। इसे सुनने के लिए धनबाद समेत झारखंड के भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं में खासा उत्साह देखा गया। इस दौरान पीएम मोदी मन की बात के जरिये देश के पर्यावरण, इतिहास और कला संस्कृति को लेकर बात की। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि  कला, संस्कृति, गीतों और संगीत के रंगों से भरा होना चाहिए। कहा-आज़ादी का अमृत महोत्सव देश के लिए कुछ कर गुजरने की प्रेरणा देता है।

पीएम ने मांग रखे सुझाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के लिए आम लोगों से भी सुझाव मांगे हैं। उन्‍होंने लोगों से इसके लिए अपील की है। लोग अपने सुझाव उन्‍हें नमो एप और माई जीओवी पर भेज सकते हैं। वहीं टोल फ्री नंबर 1800 11 7800 पर भी कॉल करके अपना संदेश रिकॉर्ड कराया जा सकता है। 11 बजे प्रधानमंत्री का संबोधन शुरू होगा।

भाजपा नेताओं-कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम सुनने की कर रखी तैयारी

धनबाद के भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मन की बात कार्यक्रम सुनने की विशेष तैयारी कर रखी है। धनबाद के सांसद पीएन सिंह और विधायक राज सिन्हा अपने-अपने घर पर कार्यकर्ताओं के साथ प्रधानमंत्री के मन की बात सुनेंगे। धनबाद महानगर भाजपा के वरीय उपाध्यक्ष संजय झा ने बताया कि पार्टी के सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को मन की बात सुनने को कहा गया है। साथ ही यह निर्देश दिया गया है कि वह मन की बात कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री के संदेश को जनता के बीच पहुंचाएं।