IRCTC: एक थाली में खाना नहीं, एक साबून से नहाना नहीं और अपने साथ कोरोना बूस्टर डोज लाना भूलना नहीं...

एक थाली में खाना नहीं एक साबून से नहाना नहीं और अपने साथ कोरोना का बूस्टर डोज भी ले आना है...। ये एडवाइजरी रेलवे की है जो मालगाड़ी के बाद अब यात्री ट्रेन चलाने की तैयारी कर रहे रेलवे के गार्डों के लिए जारी की गई है।

Atul SinghFri, 26 Nov 2021 05:04 PM (IST)
एक थाली में खाना नहीं और अपने साथ कोरोना का बूस्टर डोज भी ले आना है। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

जागरण संवाददाता, धनबाद : एक थाली में खाना नहीं, एक साबून से नहाना नहीं और अपने साथ कोरोना का बूस्टर डोज भी ले आना है...। ये एडवाइजरी रेलवे की है जो मालगाड़ी के बाद अब यात्री ट्रेन चलाने की तैयारी कर रहे रेलवे के गार्डों के लिए जारी की गई है। धनबाद रेल मंडल में अरसे से यात्री ट्रेनों के सीनियर पैसेंजर गार्ड के कई पद खाली पड़े थे। अब रेलवे ने जोन से मिले ग्रीन सिग्नल के बाद ऐसे गार्डों का पैनल जारी कर दिया है। धनबाद, गाेमो, पतरातु, बरवाडीह, कतरास, खलारी, कृष्णशीला, पाथरडीह समेत कई स्टेशनों के 28 गार्ड इस पैनल में शामिल हैं जो मालगाड़ी छोड़ कर अब यात्री ट्रेन चलाएंगे। इनकी प्रमोशनल ट्रेनिंग भूली के जोनल ट्रेनिंग स्कूल में होगी। ट्रेनिंग में हिस्सा लेनेवाले गार्डाें के लिए ही रेलवे ने एडवाइजरी किया है।

जोनल ट्रेनिंग स्कूल ने साफ कर दिया है कि कोविड टेस्ट करा चुके ट्रेनी को ही इसकी अनुमति दी जाएगी। उन्हें अपने साथ मेडिकल किट लाना होगा जिसमें थर्मामीटर, ऑक्सीमीटर, हैंड सैनिटाइजर और लिक्विड हैंड वाश और पर्याप्त संख्या में मास्क ले जाना होगा। उन्हें अपने साथ बूस्टर डोज रखने की भी सलाह दी गई है। ट्रेनिंग के दौरान हास्टल में रहेंगे और एक दूसरे का वहां खाने-पीने का बर्तन या नहाने के साबून का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। किताबें, नोटबुक या वाटर बोतल शेयर करने करने पर भी पाबंदी रहेगी। स्टेशनरी और हल्के जलपान की सामग्री उन्हें साथ ले जाना होगा। मोबाइल में सेतु एप भी डाउनलोड करना होगा जिसे प्रवेश के दौरान हर रोज ट्रेनिंग सेंटर के कर्मचारी देखेंगे। ट्रेनिंग के दौरान कैंपस से बाहर जाने की अनुमति मिलेगी। अगर किसी का घर नजदीक है और वो जाना चाहता है तो इसके लिए पहले से अनुमति लेनी होगी।

एक दिसंबर से शुरू होगी ट्रेनिंग रेलवे गार्डों की प्रमोशनल ट्रेनिंग एक दिसंबर से शुरू होगी। 14 दिनों की ट्रेनिंग के बाद जोनल ट्रेनिंग से जारी रिजल्ट के आधार पर उन्हें अलग-अलग जगहों पर यात्री ट्रेन चलाने के लिए बहाल किया जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.