Gangs of Wasseypur: लाला का बदला है नन्हे खान की हत्या, वासेपुर के डान के बागी भांजे ने बताई वजह

Gangs of Wasseypur धनबाद के वासेपुर में गैंगवार शुरू हो गया है। यह गैंगवार डान के नाम से मशहूर फहीम खान के परिवार के बीच ही हो रहा है। छह महीने पहले लाला खान की हत्या हुई थी। इसके बदले में अब नन्हे खान को गोलियों से भून दिया है।

MritunjayThu, 25 Nov 2021 06:56 AM (IST)
नन्हे खान और प्रिंस खान ( फाइल फोटो)।

जागरण टीम, धनबाद। शहर के बीच स्थित बहुचर्चित मुस्लिम बहुल वासेपुर में वर्चस्व को लेकर नए सिरे से गैंग्स आमने-सामने हैं। 12 मई, 2021 को जमीन कारोबारी लाला खान को वासेपुर में दिनदहाड़े गोलियों से उड़ा दिया गया था। इसके छह महीने बाद बुधवार, 24 नवंबर को वासेपुर में ही दिनदहाड़े जमीन कारोबारी महताब आलम उर्फ नन्हे भून दिया गया। जिस स्थान पर 37 वर्षीय नन्हे की हत्या हुई उससे कुछ ही दूरी पर लाला खान की हत्या हुई थी। इस हत्या को लाला खान की हत्या का बदला कहा जा रहा है। यह कोई और नहीं कर रहा बल्कि वासेपुर के डान के नाम से मशहूर फहीम खान के भांजे प्रिंस का दावा है। प्रिंस ने अपने मामा अदावत कर वासेपुर में एक नया गैंग खड़ा किया है। अब इस गैंग और फहीम गैंग के बीच गैंगवार शुरू हो गई है। इसमें न सिर्फ गैंग्स के पुरुष सदस्य बल्कि महिला सदस्य भी मरने-मारने को तैयार हैं। नन्हे की हत्या के बाद वासेपुर के कमर मखदुमी रोड में महिलाओं के बीच झड़प हुई। हालांकि पुलिस की तत्परता से स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं हुई। 

एसएनएमएमसीएच में नन्हे की जांच करते चिकित्सक।

बुुलेट सवार नन्हे पर हुई गोलियों की बौछार

घटना दोपहर 3:20 बजे के करीब हुई। दो बाइक पर सवार चार शूटरों ने बुलेट से जा रहे 37 वर्षीय नन्हे पर गोलियां की बौछार कर दी। घटना को अंजाम देकर अपराधी आराम से भाग निकले। शूटरों के भागने के बाद स्थानीय लोगों ने खून से लथपथ नन्हे को उठाकर एसएनएमएमसीएच पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। लाला की हत्या 12 मई को दिनदहाड़े गोली मारकर कर दी गई थी। जिस सड़क पर नन्हे की हत्या की गई, उससे कुछ आगे ही लाला की भी हत्या हुई थी। इधर, नन्हे की मौत की जानकारी मिलते ही उसके समर्थकों ने एसएनएमएमसीएच में जमकर हंगामा किया। बैंकमोड़, सरायढेला समेत कई थानों की पुलिस ने हंगामा शांत करवाया। वासेपुर में भारी तनाव है। इलाके में भारी संख्या में पुलिस को तैनात कर दिया गया है।

वासेपुर का डान फहीम खान।

ऐसे हुई घटना

नन्हे सवा तीन बजे के करीब नया बाजार स्थित घर से निकला था। वह वासेपुर होते हुए आरामोड़ की ओर बुलेट से जा रहा था। आरामोड़ में वह रोजाना अपनी बसों के चालक और खलासी से हिसाब-किताब करता था। शूटरों को इसकी जानकारी थी और वे उसके पीछे लगे थे। नन्हे के शमशेर स्टोर के पास पहुंचते ही दो बाइक पर पीछा कर रहे शूटरों ने फायरिंग कर दी। गोली लगते ही नन्हे गिर गया। उसे छह गोली लगी। इसके बाद शूटर एक बाइक को मौके पर ही छोड़ भाग गए। नन्हे ने हाल ही में जमीन का कारोबार शुरू किया था। वह कई बसों का मालिक था। शहर के एक प्राइवेट स्कूल में उसकी बसें चलती हैं। 

नन्हे की हत्या के बाद वासेपुर में पुलिस का जमावड़ा।

फहीम परिवार का करीबी था

नन्हे फहीम के दामाद सानू के साथ रहता था। उसे लेकर एसएनएमएमसीएच पहुंचे फहीम के पुत्र इकबाल ने आरोप लगाया कि उसके ममेरे भाई प्रिंस खान के कहने पर नन्हे को गोली मारी गई है। दोनों में जानी दुश्मनी है। इकबाल के अनुसार गोली मारने में हैदर खान, हीरा, अनवर, डोमा और इरफान शामिल हैं। सभी वासेपुर के हैं। फहीम खान इन दिनों जमशेदपुर के घाघीडीह जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। 

जमीन कारोबारी लाला खान। 

प्रिंस ने ली हत्या की जिम्मेदारी, बताई वजह

देर शाम फहीम के भांजे प्रिंस ने नन्हे की हत्या की जिम्मेदारी ले ली। पत्र और वीडियो जारी कर उसने कहा कि लाला की हत्या के बदले में नन्हे की हत्या उसने ही करवाई। वह फहीम के पूरे खानदान को खत्म कर देगा। उसने बताया कि लाला खान के पीछे उसका पैसा लगा हुआ था। उसे कमजोर करने के लिए लाला खान की हत्या कराई गई थी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.