विधायक अपर्णा के घर से चोरी का प्रयास करते हत्यारोपी पकड़ाया

विधायक अपर्णा के घर से चोरी का प्रयास करते हत्यारोपी पकड़ाया

निरसा विधायक अपर्णा सेनगुप्ता के पोद्दारडीह स्थित घर से चोरी का प्रयास करते हुए गांव के ह

Publish Date:Sun, 29 Nov 2020 09:58 PM (IST) Author: Jagran

निरसा : विधायक अपर्णा सेनगुप्ता के पोद्दारडीह स्थित घर से चोरी का प्रयास करते हुए गांव के ही अजय स्वर्णकार को घर के कर्मियों ने पकड़कर निरसा थाना पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने अजय को जेल भेज दिया। अजय वर्ष 2005 में अपर्णा के घर में हुए दोहरे हत्याकांड का भी आरोपित है। अपर्णा के घर में रहने वाले कर्मी अनिल शिवधरशाही ने शिकायत में कहा है कि रविवार तड़के आवाज सुनकर उसकी नींद खुली तो देखा कि एक व्यक्ति घर की चारदीवारी की तरफ घुसने का प्रयास कर रहा है। उसने हो-हल्ला मचाया तो हाउस गार्ड व अन्य लोगों ने अजय को पकड़ा। इसके बाद निरसा थाना की पुलिस को सूचना दी गई। घटना की सूचना पाकर रविवार की सुबह एसडीपीओ विजय कुशवाहा विधायक के घर पहुंचे और पकड़े गए युवक से पूछताछ की। एसडीपीओ व अन्य पुलिसकर्मियों ने अजय के घर जाकर जांच पड़ताल की। हालांकि उसके घर से कोई भी आपत्तिजनक सामान नहीं मिला। वहीं अजय स्वर्णकार की मां बांधनी देवी का कहना है कि उसके बेटे की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह दुर्गा मंदिर के समीप चबूतरे के पास खड़ा होकर कुछ बड़बड़ा रहा था। इस दौरान विधायक के हाउस गार्ड उसे खींचकर घर के अंदर ले गए। उसकी बुरी तरह से पिटाई कर निरसा पुलिस के हवाले कर दिया। उसका बेटा पूरी तरह से निर्दोष है।

दोहरे हत्याकांड में आठ साल जेल में रह चुका है अजय स्वर्णकार

अजय स्वर्णकार जून 2005 में विधायक अपर्णा के घर में हुए दोहरे हत्याकांड का आरोपित रह चुका है। उस वक्त उसने अपर्णा के घर घुसकर चाचा ससुर सत्य सेनगुप्ता व नौकरानी शिवानी के सात वर्षीय पुत्र की हत्या पेचकस व चाकू से कर दी थी। उस वक्त वह नाबालिग था। उस मामले में वह लगभग आठ वर्ष तक जेल में रहा। वर्ष 2013 में वह जेल से बाहर आया है।

साजिशन मुझे व मेरे परिवार को परेशान किया जा रहा : अपर्णा

विधायक अपर्णा सेनगुप्ता ने एक साजिश के तहत लगातार मुझे व मेरे परिवार को परेशान किया जा रहा है। पूर्व में पति सुशांत सेनगुप्ता, देवर संजय सेनगुप्ता व सहयोगी डीडी पाल की खुलेआम गोपालगंज में हत्या कर दी गई थी। जनता के आशीर्वाद से वर्ष 2005 में जब विधायक बनी तो साजिश रच कर मेरे घर में एक नाबालिग लड़के को घुसा कर चाचा ससुर व नौकरानी के बेटे की हत्या करवा दी गई थी। वर्तमान में जब पुन: विधायक बनी हूं तो साजिश रच कर मुझे परेशान किया जा रहा है। इन सारे साजिश के पीछे कौन है इसका खुलासा पुलिस को करना चाहिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.