Dhanbad Politics: सारी अर्हता पूरी करने के बाद भी सांसद पीएन सिंह नहीं ले सकते कोरोना का टीका...आप भी जानें वजह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी अभियान का नेतृत्व करें और उसे रिस्पांस ना मिले यह हो नहीं सकता। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी अभियान का नेतृत्व करें और उसे रिस्पांस ना मिले यह हो नहीं सकता। लेकिन कोरोना वैक्सीन के मामले में ऐसा ही हो रहा है। पीएम मोदी ने स्वयं टीका लिया ताकि देशभर में लोग इसके प्रति जागरूक हो।

Atul SinghWed, 03 Mar 2021 05:49 PM (IST)

धनबाद, जेएनएन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी अभियान का नेतृत्व करें और उसे रिस्पांस ना मिले यह हो नहीं सकता।  लेकिन कोरोना वैक्सीन के मामले में ऐसा ही हो रहा है। 60 वर्ष से ऊपर के लोगों का टीकाकरण शुरू होने पर पीएम मोदी ने स्वयं टीका लिया ताकि देशभर में लोग इसके प्रति जागरूक हो। टीकाकरण का महत्व समझें और सरकारी अस्पतालों में जाकर मुफ्त के टीके लगवाएं। बावजूद इसके 2 दिन बाद भी अभी तक उनके इस अभियान का कोई खास रिस्पांस नहीं देखा गया है। यहां तक कि भाजपा के बुजुर्ग नेताओं के कदम भी सदर अस्पताल की ओर नहीं बढ़े हैं।

बुधवार को भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के पूर्व जिला अध्यक्ष दिलीप सिन्हा ने कोरोना का टीका लगवाया। सिन्हा ने दावा किया कि महानगर भाजपा से वे पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने यह टीका लगवाया है। अन्य बुजुर्ग भाजपा नेताओं को भी कोरोना का टीका लगवाने की अपील की है। 

इस बीच सांसद पीएन सिंह ने मंगलवार को ही सिविल सर्जन गोपाल दास से टीकाकरण के मद्देनजर बातचीत की थी। उन्होंने दास को अपनी बीमारी की जानकारी दी और उनसे पूछा कि वे टीका ले सकते हैं अथवा नहीं। सांसद के मुताबिक सिविल सर्जन डाॅॅ. गोपाल दास ने उन्हें टीका लेने से रोक दिया। कहा कि कोरोना से नेगेटिव होने के 8 सप्ताह बाद ही वह टीका ले सकते हैं। इस लिहाज से सांसद पीएन सिंह फिलहाल डेढ़ महीने तक टीका नहीं ले सकेंगे। फिलहाल वह दवा का भी सेवन कर रहे हैं। किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को कोरोनावायरस नहीं दिया जाता।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.