Lockdown AGAIN in Dhanbad: आंशिक लॉकडाउन के पहले दिन सड़कों पर दिखा असर, सब्जी बाजार में लगी रही भीड़

धनबाद में लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए सड़कों पर पुलिस मुस्तैद ( फाइल फोटो)।

Lockdown in Dhanbad राज्यव्यापी लॉकडाउन धनबाद में शुरू हो गया है। गुरुवार सुबह 6 बजे से धनबाद में लॉकडाउन शुरू हुआ। सुबह से ही सड़कों पर लोग नहीं दिख रहे हैं। झारखंड सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन का कदम उठाया है।

MritunjayThu, 22 Apr 2021 06:51 AM (IST)

धनबाद, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए धनबाद में एक सप्ताह का राज्यव्यापी लॉकडाउन शुरू हो गया है। लॉकडाउन गुरुवार सुबह 6 बजे शुरू हुआ। 22 से 29 अप्रैल की शाम 6 बजे तक लॉकडाउन जारी रहेगा। झारखंड सरकार ने लॉकडाउन का नाम न देकर इसके स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह कहा है। इसे आंशिक लॉकडाउन भी कह सकते हैं। क्योंकि 25 मार्च, 2020 को लागू पहली बार लॉकडाउन जैसी सख्ती इस बार देखने को नहीं मिलेगी। सरकार ने आमजन की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए लॉकडाउन की शर्तों में कुछ ढील दी है। लॉकडाउन के दाैरान बेवजह घरों से निकलने वालों को पुलिस पकड़ेगी। लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर चालान भी कट सकता है। लॉकडाउन के पहले दिन धनबाद की सड़कों पर आम दिनों की तरह चहल-पहल नहीं दिखी।

आंशिक लॉकडाउन पर चैंबर की अपील- कहा, जिंदगी बचाना जरुरी

जिंदगी रही तो फिर हो जाएगी दुकानदारी। पहले अपने आपको और फिर दूसरों को भी सुरक्षित रखने की जिम्मेवारी सभी की है। यह बातें जिला चैंबर ऑफ कॉमर्स के साथ बैंक मोड़ चैंबर ऑफ कॉमर्स ने वैसे दुकानदारों से कही है जो मनाही के बाद भी दुकान खोल रहे हैं। ऐसे दुकानदार पुलिस को आता देख अपनी दुकानें बंद कर भाग रहे हैं। जबकि सरकार ने संयम बरतने को कहा है। जिला चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष चेतन गोयनका ने कहा कि सरकार के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है। केवल सात दिनों की बात है। यदि सात दिनों में सभी के प्रयास से कारोना संक्रमण के चेन को तोड़ने में हम कामयाब होते हैं तो जीवन भर दुकानदारी और व्यवसाय करना है। उन्होंने कहा कि स्थिति की गंभीरता को सभी को समझना होगा। बैंक मोड़ चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष प्रभात सुरोलिया ने कहा कि स्वर्ग में रहते हुए नर्क में झांकने की आदत छोड़नी होगी। सरकार और प्रशासन की अपील का पालन करें। यह स्थिति गंभीर है। थोड़े से फायदे के लिए बड़ा नुकसान हो सकता है। जरुरी है कि घर में रहें और स्थिति सामान्य होने पर सारा कार्य करें।

यह भी पढ़ें- Lockdown AGAIN in Jharkhand: 22 से 29 तक झारखंड में आंशिक लॉकडाउन, गाइडलाइन का अनुपालन कराने में जुटा प्रशासन

सब्जी बाजार में आम दिनों की तरह भीड़-भाड़

गुरुवार को स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के रूप में आंशिक लॉक डाउन की शुरूआत हुई। सुबह छह बजे बाजार में आवश्यक सेवाओं की दुकानो को छोड़ अन्य कोई भी प्रतिष्ठान नही खुला। सड़कों पर सन्नाटा पसरा नज़र आया। जगह जगह और चौक चौराहों पर पुलिस जवान तैनात नज़र आये। वहीं शहर के सभी सब्जी बाजारों में लोगों की काफी भीड़ रही। यहां शरीरिक दूरी का पालन होता नहीं दिखा। सब्जी बाजार में भीड़ : कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए आंशिक लॉक डाउन लगया गया है। इसके बावजूद भी सब्जी बाजार में सुबह ही काफी भीड़ दिखी। बरटांड में सड़क किनारे गांव से आई महिलाएं सब्जी बेच रही थी। इनके पास खरीदारों की काफी भीड़ थी। हालांकि सभी मास्क पहने हुए थे। लेकिन शरीरिक दूरी के नियम का पालन होता नहीं दिखा। कुछ ऐसी ही स्थिति केंदुआडीह थाना के सामने लगने वाले सब्जी बाजार की भी रही। यहां भी लोग बिना एक दूसरे से दूरी बनाए ही खरीदारी करते देखे गए। इसी प्रकार से पुराना बाजार का तो और भी बुरा हाल रहा। कुछ ऐसा ही नजारा पुलिस लाइन का भी था। बेकारबांध में लोगों की भीड़ कम थी। सब्जी बाजारों में भीड़ का यह आलम सुबह नौ बजे तक रहा।

धनबाद स्टेशन रोड में पसरा रहा सन्नाटा

धनबाद स्टेशन रोड में सन्नाटा पसरा रहा। ज्यादातर दुकानें बंद थीं। वाहन भी नहीं चल रहे थे। रिक्शा चालक रिक्शे लगाकर आराम करते दिखे। रेलवे स्टेशन परिसर यात्रियों से खाली दिखा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.